बालों को ब्लो ड्राइ कर के आप तुरत-फुरत एक ‘बैड हेयर डे’ को अच्छी तरह सेट बालों वाले आत्मविश्वास से भरे दिन में तब्दील कर सकती हैं. ब्लो ड्राइ करने से न सिर्फ़ आपको अपने बालों को मनचाहे ढंग से संवारने की आज़ादी मिलती है, बल्कि आपके बाल पूरे दिन मैनेजेबल भी बने रहते हैं.

लेकिन एक सच यह भी है कि चूंकि हममें से अधिकतर लोग रोज़ाना बालों को ब्लो ड्राइ करते हैं, हम इस बात को सोच ही नहीं कर पाते कि हम यह काम ग़लत तरीक़े से तो नहीं कर रहे हैं. क्योंकि यदि आप बालों को ग़लत तरीक़े से ब्लो ड्राइ करती हैं, तो आपके बालों को नुक़सान पहुंच सकता है... पर आप चिंता न करें, क्योंकि हम आपको यहां ब्लो-ड्राइंग से जुड़ी आपकी गलतियों पर ध्यान रखने के पॉइन्ट्स बता रहे हैं, ताकि आपके बालों को इससे किसी तरह का नुक़सान न पहुंचे.

हीट प्रोटेक्टैन्ट्स का इस्तेमाल न करना
 

हीट प्रोटेक्टैन्ट्स का इस्तेमाल न करना

ब्लो ड्राइ करने से पहले हमेशा बालों में हीट प्रोटेक्टैन्ट्स यानी बालों की ऊष्मा से सुरक्षा देने वाले प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करें. इससे आपके बालों को हेयर ड्रायर की हीट से नुक़सान नहीं पहुंचेगा. हीट प्रोटेक्टैन्ट आपके बालों में नमी बढ़ाता है और साथ ही बालों पर एक सुरक्षात्मक पर्त बनाता है, जिससे ब्लो ड्राइंग, कर्लिंग या हेयर स्ट्रेटनिंग के दौरान आपके बालों को क्षति नहीं पहुंचती है. पर हां, जब भी हेयर प्रोटेक्टैन्ट चुनें तो अपने बालों के प्रकार को ध्यान में रखते हुए ही चुनें.

गीले बालों पर ड्रायर का इस्तेमाल
 

गीले बालों पर ड्रायर का इस्तेमाल

जब आप पूरी तरह गीले बालों पर ड्रायर का इस्तेमाल करती हैं तो उनके जलने या क्षतिग्रस्त होने की संभावना बढ़ जाती है. अत: ब्लो ड्राइ करना तब शुरू करें, जब आपके बालों से कम से कम 30-40% नमी निकल चुकी हो. इसके बाद बालों को कई भागों में बांटें और फिर ब्लो ‌ड्राइ करना शुरू करें.

बालों के सेक्शन न बनाना
 

बालों के सेक्शन न बनाना

यदि आप चाहती हैं कि आपके बाल फ्रिज़ी न हों तो बहुत ज़रूरी है कि ब्लो ड्राइ करने से पहले अपने बालों को कई भागों यानी सेक्शन्स में बांट लें. हालांकि इस काम में आपको थोड़ा समय लगेगा, लेकिन इससे ब्लो ड्राइ करना आसान हो जाएगा और आपके बाल बहुत मैनेजेबल हो जाएंगे.

ग़लत हेयर ब्रश का इस्तेमाल
 

ग़लत हेयर ब्रश का इस्तेमाल

बालों को ब्लो ड्राइ करने के लिए केवल सरैमिक राउन्ड ब्रश का ही इस्तेमाल किया जाना चाहिए. वे आपके बालों को कर्ल करने और उन्हें स्ट्रेट ब्लो आउट करने के लिए उपयुक्त होते हैं. ड्रायर की हीट से इन ब्रशेस का बैरेल गर्म होता है और फिर यह कर्लिंग आइरन या फ़्लैट आइरन की तरह काम करता है. अपने बालों को स्ट्रेट या कर्ली आप जैसा भी दिखाना चाहती हैं वह इस बात पर निर्भर करता है कि ब्लो ड्राइंग के दौरान आप किस तकनीक का इस्तेमाल करती हैं. सरैमिक ब्रशेस हर तरह के हेयर टेक्स्चर और हर तरह की लंबाई के बालों के लिए उपयुक्त होते हैं.

ड्रायर को ग़लत तरीक़े से पकड़ना
 

ड्रायर को ग़लत तरीक़े से पकड़ना

हालांकि हम इस बात पर ज़्यादा ध्यान नहीं देते हैं कि हमने हेयर ड्राइर को किस तरह पकड़ा है, पर यह बात ब्लो ड्राइंग के लिए बहुत महत्वपूर्ण होती है. ड्रायर को पकड़ कर अपने बालों की ओर घुमाए रखने से आपको ख़ूबसूरत ब्लो ड्राइ का प्रभाव नहीं मिलेगा. अपने बालों को सुंदर दिखाने के लिए बहुत ज़रूरी है कि आपको यह मालूम हो कि आपको ड्रायर को बालों से कितनी दूर रखना है. यदि हेयर ड्रायर लगातार आपके बालों को स्पर्श कर रहा है तो यह धीरे-धीरे आपके बालों को क्षति पहुंचाना शुरू कर देगा.