आपके बालों को पोषक तत्व चाहिए, लेकिन उसके साथ ही बाहरी देखभाल करनी भी बेहद ज़रूरी है और बालों को सेहतमंद रखने के लिए सबसे ज़रूरी है कि बालों की साफ़ सफाई को नज़रअंदाज न किया जाये। बालों की साफ़ सफाई के लिए आप पूरी तरह से पार्लर पर तो निर्भर नहीं रह सकते हैं, आपको इसके लिए सही तरीका तो चुनना ही होगा। बालों की अच्छी सेहत के लिए शैम्पू बहुत ज़रूरी है। हममें से ऐसा कोई भी नहीं होगा, जिसने कभी अपने बालों में शैम्पू नहीं किया हो। हालाँकि हम में से अधिकतर इस बात को लेकर अनजान रहती हैं कि हमें बालों में किस तरह के शैम्पू का इस्तेमाल करना चाहिए, बाज़ार में तो हज़ारों तरह के प्रोडक्ट मौजूद होते हैं, लेकिन सभी बेहतर नहीं होते हैं। इसलिए अगर आप शैम्पू की खरीदारी कर रही हैं तो कुछ बातों का ख्याल ज़रूर रखना चाहिए।

तो आइये आपको आज इसके बारे में विस्तार से बताते हैं कि बालों में किस तरह के शैम्पू और बालों के प्रकार को समझ कर किस तरह से शैम्पू किया जा सकता है।

 

बालों की समस्याओं से निजात

बालों की समस्याओं से निजात

स्कैल्प पर गंदगी, तेल व बैक्टीरिया के जमने से डैंड्रफ और बालों का झड़ना आदि समस्याएँ होती हैं। इसके अलावा सूर्य की तेज़ किरणों और प्रदूषण से भी बालों की क्वालिटी प्रभावित होती है। हर व्यक्ति के बालों का टेक्सचर अलग होता है और हेयर प्रॉबलम भी, इसलिए शैम्पू चुनते समय ध्यान रखें कि उसमें ऐसे इंग्रेडिएंट्स हों, जो आपके बालों की समस्या को कम करे। यदि आपके बाल ज़्यादा झड़ते हैं तो एंटी हेयर फॉल शैम्पू खरीदें। यदि आपके बालों में डैंड्रफ की समस्या है तो एंटी डैंड्रफ शैम्पू खरीदें, जो आपके बालों से डैंड्रफ दूर कर सके। इसी तरह बालों की ड्रायनेस और ऑयली बालों के लिए भी भी शैम्पू बाज़ार में उपलब्ध हैं। कुछ शैम्पू बालों को झड़ने से भले न बचाएं, लेकिन उन कारकों को दुरुस्त कर देते हैं, जिनकी वजह से बाल झड़ते हैं।

 

शैम्पू का चयन करते समय बालों के टेक्सचर का रखें खयाल

शैम्पू का चयन करते समय बालों के टेक्सचर का रखें खयाल

शैम्पू चुनते वक़्त अपने बालों के टेक्सचर का खास ख्याल रखें और अधिक जानकारी नहीं होने पर हमेशा हर्बल, माइल्ड जैसे शैम्पू इस्तेमाल करें या नेचुरल शैम्पू का इस्तेमाल करें। शैम्पू खरीदते वक़्त उसमें मौजूद कम्पोनेंट्स देख लें।  शैम्पू के साथ कंडीशनर भी उसी कम्पनी या ब्रांड का लें तो अच्छा रहेगा।

  • सेंसिटिव बाल वालों को सल्फेट फ्री शैम्पू का इस्तेमाल करना चाहिए
  • जिनके बाल बहुत गिरते हों, उन्हें कभी भी बियर शैम्पू नहीं लगना चाहिए
  • कलर्ड किये हुए हेयर में भी एक्सपर्ट से राय लेकर शैम्पू लगाना चाहिए।
  • घुंघराले बालों के लिए कोकोनट और हिबिक्स वाले शैम्पू लगाना चाहिए।
 

शैम्पू कैसे लगाएं बालों में

शैम्पू कैसे लगाएं बालों में

बालों में शैम्पू लगाते हुए यह बात ध्यान रखें कि आप ऐसे शैम्पू का चुनाव करें, जो आपके बालों के टेक्सचर और हेयर टाइप से मेल खाता हुआ हो, यह आपके बालों की लम्बाई पर निर्भर करता है कि आपको कितना शैम्पू लेना है।

सबसे पहले शैम्पू को अपनी हथेलियों में लें और अपने स्कैल्प पर लगाएं ( अपने बालों के सिरे पर नहीं ). इसके बाद झाग हो जाये तो उसे ही अपने बालों के अंत तक फैलाएं।  इसके बाद दो से तीन मिनट तक अपने बालों में हल्का मसाज करें।  कई लोग बालों को स्क्रब करने और रगड़ने भी लगते हैं, जिसकी वजह से बाल टूटने लगते हैं, इसकी वजह से फॉलिकल्स भी कमजोर हो जाते हैं, इसलिए ऐसा न करें। अगर आपके बाल अधिक ऑयली हैं, तो आपको दो बार शैम्पू करना चाहिए। अपने बालों में शैम्पू करने के बाद, उसे अच्छी तरह से गुनगुने पानी से धो लें, ताकि सारा शैम्पू निकल जाये।

इसके बाद थोड़ी-सी मात्रा में कंडीशनर लें और स्कैल्प को छोड़कर पूरे बालों में लगाएं। 2 मिनट रुककर ठंडे पानी से बाल धो लें।

 

शैम्पू कितनी बार करना चाहिए

शैम्पू कितनी बार करना चाहिए

एक्सपर्ट्स का कहना है कि स्वस्थ बालों में एक दिन के अंतराल में या हफ्ते में कम से कम तीन बार शैम्पू करना चाहिए। रोजाना बालों में शैम्पू करने से बालों की नमी कम हो जाती है, जिससे वो रूखे और बेजान हो जाते हैं व इनकी प्राकृतिक खूबसूरती खत्म हो जाती है। यदि आपके बाल ड्राय हैं तो हफ्ते में दो बार शैम्पू करें। यदि आपके बाल ऑयली हैं, तो हफ्ते में तीन बार बाल धो सकती हैं।

 

शैम्पू करते हुए पानी ठंडा हो या गर्म

शैम्पू करते हुए पानी ठंडा हो या गर्म

कई लोग इस बात का ध्यान नहीं रखती हैं। खासतौर से पार्लर में शैम्पू करवाते समय गर्म पानी से बाल धो देती हैं, जो बालों की सेहत के लिए ठीक नहीं है। शैम्पू करते हुए आप न तो बहुत ठंडा और न बेहद गर्म पानी से बाल धोएं। बालों धोने के लिए सही तापमान पर पानी का चयन करें। गुनगुने पानी से बाल धोएं, इससे शैम्पू और कंडीशनर स्कैल्प पर अच्छी तरह काम करता है व बालों की नमी कम नहीं होने देता। लेकिन ध्यान रखें कि सबसे अंत में बालों को ठंडे पानी से धोएं।

 

शैम्पू बार-बार नहीं बदलें

शैम्पू बार-बार नहीं बदलें

यह भी कई बार लोग गलती कर जाते हैं और जल्दी-जल्दी शैम्पू बदलने लगते हैं, ऐसा करना भी कहीं से भी सही नहीं है। जल्दी-जल्दी शैम्पू नहीं बदलना चाहिए। अधिक केमिकल वाले शैम्पू के इस्तेमाल से भी बचने की कोशिश करनी चाहिए।

 

घर पर कैसे बनाएं शैम्पू

घर पर कैसे बनाएं शैम्पू

बालों की समस्याओं से निजात पाने के लिए आप घर पर भी शैम्पू तैयार कर सकती हैं, जो आपके बालों को बेहतर बनाएगा।

सामग्री: 1 टेबल स्पून चम्मच शिकाकाई, 1 टेबल स्पून चम्मच रीठा पाउडर, 3/4 बड़ा चम्मच पिसा हुआ आंवला, आधा टेबल स्पून चम्मच नीम पाउडर

विधी: एक पैन में 3 कप पानी डालकर गैस पर गरम होने के लिए रखें। अब इस पानी में सभी सामग्री को एक-एक कर के डालें और 10 मिनट तक उबालें। गैस बंद कर दें और इस मिश्रण को ठंडा होने दें। इसके बाद इसे छान लीजिए। इसे किसी एयर टाइट बॉटल में डालकर रख लें। आप चाहें तो इसमें अपने मनपसंद का एसेंशियल ऑयल डाल सकती हैं। इससे शैंपू में अच्छी खुशबू आने लगेगी।​

 

शैम्पू के नुकसान

शैम्पू के नुकसान

  1. बालों की कुछ समस्याओं में सोच-समझ कर शैम्पू का इस्तेमाल करना चाहिए।  जैसे अगर स्कैल्प में दरारें हैं, या फिर स्कैल्प पर नमी की कमी है तो ऐसी परिस्थिति में शैम्पू का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए
  2. अगर बालों की झड़ने की परेशानी लगातार बढ़ रही है, तब भी यही कोशिश करनी चाहिए कि शैम्पू का इस्तेमाल सही तरीके से हो सके।
  3. अगर जरूरत से ज्यादा शैम्पू किया जाये तो इससे बाल ड्राई हो जाते हैं।
  4. सल्फेट फ्री शैम्पू आपके बालों की सेहत के लिए अच्छे होते हैं। इसलिए जरूरी है कि आप वैसे शैम्पू इस्तेमाल करें, जिसमें सल्फेट न हो। खासतौर से जिनका स्कैल्प सेंसिटिव है, उन्हें इस बात का अधिक ध्यान रखना चाहिए।
  5. जिन्हें बालों में खुजली, जलन या घाव वाली परेशानी है, उन्हें भी सल्फेट फ्री शैम्पू ही इस्तेमाल करना चाहिए।
  6. आजकल बाजार में पैराबन युक्त शैम्पू बहुत मिल रहे हैं, माना जा रहा है कि यह भी आपके बालों के लिए नुकसानदेह हैं, तो सोच समझ कर ही ऐसे शैम्पू खरीदें।
  7. सिलिकॉन युक्त शैम्पू के बारे में लोगों का कहना है कि यह बालों के ऊपर एक परत चढ़ा देते हैं, जिससे बालों में कंडीशनर नहीं पहुँच पाता है। पोषक तत्व नहीं पहुंचने से भी परेशानी होती है। इसलिए ऐसे  शैम्पू से दूर रहें।
  8. बहुत अधिक खुशबूदार वाले शैम्पू भी बालों के लिए अच्छे नहीं होते हैं, इससे बालों की सेहत खराब होती है तो इसका भी इस्तेमाल न करें।