तो फ्रिज़ी बाल आपकी चिंता कारण हैं? और आपने ख़ूब सारी चीज़ें आज़मा कर देख लीं, पर कोई फ़ायदा नहीं हुआ? यूं तो बहुत सारे नैचुरल फ्रिज़ी हेयर ट्रीटमेंट्स उपलब्ध हैं, लेकिन इनके इलाज से पहले ये ज़रूरी है कि आपके बालों की फ्रिज़ीनेस का कारण पता किया जाए.

ज़्यादातर महिलाएं फ्रिज़ी हेयर्स से परेशान रहती हैं! कोई भी अपने घर से बाहर निकलते समय किसी फ्रिज़-बॉल की तरह नहीं नज़र आना चाहता. आपके बालों के फ्रिज़ी होने के एक नहीं कई कारण हैं. ज़रूरत से ज़्यादा नमी (ह्यूमिडटी) और बालों में मॉइस्चर की कमी की वजह से बाल फ्रिज़ी हो जाते हैं. इसके अलावा रूखे और क्षतिग्रस्त बाल भी फ्रिज़ी हो जाते हैं.

पर्यावरण से जुड़े कारक जैसे गर्मी और प्रदूषण आपके बालों के फ्रिज़ को और भी ख़राब बना देते हैं और उस पर से हीट-स्टाइलिंग टूल्स तो फ्रिज़ीनेस को इसके चरम पर पहुंचा सकते हैं.

यहां हम आपको हर वो हेयर केयर टिप देने जा रहे हैं, जिन्हें अमल में ला कर आप अपने फ्रिज़ी बालों को अच्छी तरह मैनेज कर सकती हैं:

 

#1: कंडिशनर के इस्तेमाल में कंजूसी न करें

#1: कंडिशनर के इस्तेमाल में कंजूसी न करें

बालों के फ्रिज़ी होने की बड़ी वजह यही है कि शैम्पू करने के बाद आप शायद कंडिशनर का इस्तेमाल नहीं कर रही हैं. और यदि यह बात सही है तो हम आपको हर बार शैम्पू करने के बाद हाइड्रेटिंग कंडिशनर के इस्तेमाल की सलाह देंगे. नियमित रूप से बालों को कंडिशन करना फ्रिज़ी बालों के इलाज का प्रभावी तरीका है. ऐसा कंडिशनर जिसमें ग्लिसरीन और अन्य प्राकृतिक इन्ग्रीडिएंट्स, जैसे शिया बटर के गुण हों, वो न सिर्फ़ बालों के क्यूटिकल्स को हाइड्रेट करता है, बल्कि पर्यावरण में मौजूद नमी को आपके बालों के भीतर जाने से भी रोकता है.

और जब आप बालों में कंडिशनर लगाएं तो ध्यान रखें कि इसे जड़ों से लगाना शुरू नहीं करना है. कंडिशनर को हमेशा बालों की लंबाई के बीच वाले हिस्से से बालों के सिरों तक लगाना होता है. सही तरीके से कंडिशनिंग करने से आपको अपने बालों में अंतर समझ में आएगा, क्योंकि बाल नर्म और चिकने हो जाएंगे.

 

#2: ज़रूरत से ज़्यादा बाल धोने से बचें और को-वॉशिंग अपनाएं

#2: ज़रूरत से ज़्यादा बाल धोने से बचें और को-वॉशिंग अपनाएं

क्या आप बालों को रोज़ाना धोती हैं? बालों को ज़रूरत से ज़्यादा धोने से बालों की सेहत का भला नहीं होगा, बल्कि फ्रिज़ी बाल तो इस बात का संकेत हैं कि आप बालों को आवश्यकता से ज़्यादा धो रही हैं. यदि आप बाल रोज़ धोती हैं तो आप बालों (और स्कैल्प से भी) से उसका प्राकृतिक तेल हटा देती हैं, जिससे बाल रूखे और फ्रिज़ी नज़र आते हैं. याद रखिए, स्कैल्प पर रूखापन होगा तो बाल भी रूखे ही होंगे.

फ्रिज़ी हेयर्स का एक और बेहतरीन इलाज है, जिसे को-वॉशिंग कहते हैं. इन दिनों को-वॉशिंग ने सौंदर्य की दुनिया में धूम मचा रखी है. इसमें सप्ताह के कुछ दिन आप शैम्पू को पूरी तरह छोड़ कर केवल कंडिशनर का इस्तेमाल करें, ताकि स्कैल्प पर जमा शैम्पू या अन्य दूसरी चीज़ें यानी प्रोडक्ट बिल्डअप हट जाए. हां, इसके लिए ऐसा कंडिशनर चुनें, जिसमें पैराबीन्स और सल्फ़ेट्स जैसे कठोर इन्ग्रीडिएंट्स न हों. सप्ताह में दो बार आप को-वॉशिंग अपनाएं. इससे बालों की फ्रिज़ीनेस नियंत्रित रहेगी.

 

#3: तेल लगाना बालों को बचा ले जाने का कारगर तरीका है

#3: तेल लगाना बालों को बचा ले जाने का कारगर तरीका है

हमारी मां और दादी व नानी मां किस तरह हर दूसरे दिन हमारे बालों में चम्पी करती थीं, याद है ना? उनकी इस बात में दम है! तेल गर्म कर के उसे गुनगुना करें और इससे अपने स्कैल्प व बालों की मालिश करें. इसे दो घंटे तक बालों में लगा रहने दें और फिर बाल धो लें. आप आर्गन ऑइल, नारियल का तेल, अरंडी का तेल (कैस्टर ऑइल) आदि का इस्तेमाल कर नर्म और पोषणभरे बाल पा सकती हैं.

और यही नहीं, यदि आप बाल धोने के बाद फ्रिज़ को कम करना चाहती हैं तो ज़रा सा कैस्टर ऑइल अपनी हथेलियों के बीच रगड़ कर गर्म करें और इसे अपने बालों पर लगा लें. इसे केवल बालों की ऊपरी पर्त पर लगाएं और हेयरलाइन पर बिल्कुल न लगाएं. नहीं तो आपके बाल चिपचिपे दिखने लगेंगे. बालों में तेल लगाना फ्रिज़ी बालों से बचने का सबसे सस्ता और सबसे कारगर इलाज है.

 

#4: हेयर मास्किंग से बहुत फ़र्क़ पड़ता है

#4: हेयर मास्किंग से बहुत फ़र्क़ पड़ता है

जहां बालों को नियमित रूप से शैम्पू और कंडिशन करना ज़रूरी है, वहीं क्या आपको पता है कि कौन सी चीज़ फ्रिज़ी बालों की स्थित में ज़्यादा बदलाव लाएगी? अपने बालों को थोड़ा अतिरिक्त प्यार-दुलार करना. सप्ताह में एक बार अपने बालों की डीप कंडिशनिंग के लिए उन पर घर पर बना हाइड्रेटिंग मास्क लगाएं. बालों को हाइड्रेट करने से बालों के क्यूटिकल्स बंद रहेंगे, जिसका मतलब है कि पर्यावरण में मौजूद प्रदूषक और धूल-गंदगी आपके बालों के भीतर नहीं जा सकेंगे, जिससे बाल फ्रिज़ी भी नहीं होंगे.

अपने किचन का रुख़ कीजिए और वहां मौजूद बालों से प्यार करने वाले और उन्हें मॉइस्चराइज़ करने वाले इन्ग्रीडिएंट्स ढूंढ़िए. हम आपको दो टेबलस्पून मायोनीज़, एक अंडा और एक टेबलस्पून शहद को मिला कर मास्क बनाने की सलाह देंगे. बालों को गीला करने के बाद इस मिश्रण को लगाइए और इससे बालों पर मालिश कीजए. इसे 15 मिनट तक लगा रहने दीजिए और फर ठंडे पानी से बाल धो लीजिए. फ्रिज़ी बालों के इलाज के लिए मायोनीज़ एक बढ़िया इन्ग्रीडिएंट है. वहीं अंडा और शहद बालों को मॉइस्चराइज़ करने और नम बनाने में कारगर हैं, जिससे फ्रिज़ी बालों पर क़ाबू पाया जा सकता है.

 

#5: हेयर-स्टाइलिंग टूल्स का इस्तेमाल सीमित कर दीजिए

#5: हेयर-स्टाइलिंग टूल्स का इस्तेमाल सीमित कर दीजिए

हेयर-स्टाइलिंग टूल्स बालों के सबसे बड़े दुश्मन हैं. ब्लो ड्रायर्स, स्ट्रेटनर्स और टॉन्ग्स का नियमित रूप से इस्तेमाल करना फ्रिज़ी बाल पाने की बेहतरीन रेसिपी है. यदि आपको लगता है कि आपके बाल रूखे हो रहे हैं, स्प्लिट एंड्स हो रहे हैं तो हम अपको तुरंत ही हीट-स्टाइलिंग टूल्स का इस्तेमाल बंद कर देने या फिर उसे बहुत सीमित करने की सलाह देंगे. रूखे और क्षतिग्रस्त बाल अंतत: फ्रिज़ी बालों का कारण होते हैं.

यदि आपके बाल आपका कहा नहीं मान रहे हैं तो आप बालों की ऊपरी पर्त पर फ़्लैट आयरन चला सकती हैं, पर इसे पूरे बालों पर न चलाएं. यह छोटी सी ट्रिक फ्रिज़ को कम करने में आपकी मदद करेगी. इसी तरह, यदि ब्लो ड्रायर्स का इस्तेमाल बहुत ज़रूरी है तो इसे लो हीट सेटिंग पर ही रखें. हीट डिफ़्यूज़र का इस्तेमाल करने से आपको बेहतर नतीजे मिलेंगे.