आप अच्छी तरह जानती होंगी कि जब दिन के समय आपके सिर या स्कैल्प पर खुजली होती है तो कैसा अनुभव होता है. इस खुजली का अर्थ यह है कि आपका स्कैल्प रूखा यानी ड्राइ हो गया है. ड्राइ स्कैल्प से निजात पाना थोड़ा धीरज रखने वाला काम तो है, पर बहुत मुश्क़िल नहीं है.

जब आपके स्कैल्प पर मौजूद तेल ग्रंथियां यानी ऑइल ग्लैंड्स कम सक्रिय हो जाती हैं या फिर वे आवश्यकता से कम प्राकृतिक तेल का उत्पादन करती हैं तो आपका स्कैल्प रूखा हो जाता है. कुछ कारक जैसे-फ़ंगल इन्फ़ेक्शन, हीट-स्टाइलिंग टूल्स का ज़रूरत से ज़्यादा इस्तेमाल, मौसम में अचानक आया बड़ा बदलाव या कठोर शैम्पू का लंबे समय तक इस्तेमाल या फिर बालों की ठीक तरह से देखभाल न करना आदि, स्कैल्प के रूखेपन के लिए ज़िम्मेदार होते हैं. अपने स्कैल्प के रूखेपन के कारण को समझने के साथ-साथ आप नीचे दिए गए घरेलू नुस्खों को आज़मा कर देखें, क्योंकि ये वो घरेलू उपाय हैं, जो आपको स्कैल्प के रूखेपन से निजात दिलाएंगे.

अपने नियमित शैम्पू में टी ट्री ऑइल मिलाएं
 

अपने नियमित शैम्पू में टी ट्री ऑइल मिलाएं

टी ट्री ऑइल बालों को इतने फ़ायदे पहुंचाता है, जितने कि आप सोच भी नहीं सकतीं! यह प्राकृतिक ऐंटी-फ़ंगल, ऐंटी-इन्फ़्लैमटॉरी और ऐंटी-बैक्टीरियल गुणों से भरपूर है. इसके इस्तेमाल से आपको अपने रूखे और खुजली वाले स्कैल्प में राहत मिलेगी. आपको टी ट्री ऑइल की कुछ बूंदें अपने शैम्पू की बॉटल में डाल कर अच्छी तरह मिलाना होगा. अब जब भी बाल धोएं तो शैम्पू और टी ट्री ऑइल के इस मिश्रण का इस्तेमाल करें. सप्ताह में दो बार इसका इस्तेमाल करने से आपको बेहतरीन नतीजे मिलेंगे.

ऐप्पल साइडर विनेगर से अपने स्कैल्प को क्लेंज़ करें
 

ऐप्पल साइडर विनेगर से अपने स्कैल्प को क्लेंज़ करें

इसके लिए आपको थोड़ा ऐप्पल साइडर विनेगर और कॉटन बॉल या फिर स्प्रे बॉटल की ज़रूरत होगी. कॉटन बॉल को ऐप्पल साइडर विनेगर में भिगो कर पूरे स्कैल्प पर लगाएं. या फिर स्प्रे बॉटल की सहायता से इसे अपने स्कैल्प पर छिड़कें. अब अपनी उंगलियों की सहायता से स्कैल्प की दो-तीन मिनट तक सौम्यता से मालिश करें. इसे बालों पर 10-15 मिनट तक लगा रहने दें और फिर बालों को ठंडे पानी से धो लें. बेहतरीन नतीजे पाने के लिए इसे सप्ताह में दो बार लगाएं. ऐप्पल साइडर विनेगर आपके बालों को फ़ंगस के इन्फ़ेक्शन्स से बचाता है, जो रूखी और खुजलीदार स्कैल्प का मुख्य कारण है.

हॉट ऑइल ट्रीटमेंट करेगा जादुई असर
 

हॉट ऑइल ट्रीटमेंट करेगा जादुई असर

गुनगुने तेल से स्कैल्प पर मालिश करना यानी हॉट ऑइल ट्रीटमेंट रूखी और पपड़ीदार स्कैल्प में तुरंत ही राहत पहुंचाता है. यह न सिर्फ़ आपके स्कैल्प को मॉइस्चराइज़ करता है, बल्कि इस मॉइस्चर कॉन्टेन्ट को आपके स्कैल्प में रोके रखने का काम भी करता है. आपको करना बस यह है कि अपना पसंदीदा ऑइल चुनें, जैसे- ऑलिव ऑइल यानी जैतून का तेल, कैस्टर ऑइल यानी अरंडी का तेल, नारियल का तेल या फिर आर्गन ऑइल, फिर इसे हल्का-सा गर्म करें. यदि चाहें तो इसमें कुछ बूंदें टी ट्री ऑइल की डालें. इस मिश्रण को अपने स्कैल्प पर लगाएं और कुछ देर मालिश करें. तेल को बालों में घंटेभर तक लगा रहने दें और फिर बाल धो लें. और अच्छे नतीजे पाने के लिए तेल को रातभर बालों में लगा रहने दें और अगली सुबह बाल धो लें.

नींबू का रस रूखी स्कैल्प से राहत पहुंचाता है
 

नींबू का रस रूखी स्कैल्प से राहत पहुंचाता है

नींबू का रस न सिर्फ़ ऐस्ट्रिन्जन्ट की तरह काम करता है, बल्कि स्कैल्प के पीएच स्तर को भी नियमित करता है. नींबू के एक टुकड़े से अपने स्कैल्प की सौम्यता से मालिश करें. सुनिश्चित करें कि आपने इसे पूरे स्कैल्प पर लगा लिया है. इसे पांच-सात मिनट तक बालों पर लगा रहने दें और फिर हमेशा की तरह बालों को शैम्पू व कंडिशनर का इस्तेमाल करते हुए धो लें. सप्ताह में दो बार ऐसा करने से आपके स्कैल्प पर डैंड्रफ़ संबंधी फ़ंगल इन्फ़ेक्शन पूरी तरह ख़त्म हो जाएगा.

प्याज़ का रस दुर्गंधयुक्त होने के बावजूद बहुत असरदार होगा
 

प्याज़ का रस दुर्गंधयुक्त होने के बावजूद बहुत असरदार होगा

प्याज़ के रस में मौजूद सल्फ़र की अधिक मात्रा आपको स्कैल्प पर मौजूद रूसी यानी डैंड्रफ़ की समस्या से तुरंत ही राहत दिलाएगी. यही नहीं, प्याज़ को बालों की ग्रोथ के लिए भी जाना जाता है. आपको करना बस यह है कि एक प्याज़ को कद्दूकस या फिर ब्लेंड कर के इसका रस निकालें. इसमें शहद मिलाएं और इस मिश्रण को अपने स्कैल्प पर लगाएं. इसे 30 मिनट तक स्कैल्प पर लगा रहने दें और फिर अपने शैम्पू से बाल धो लें.