यदि आप उन लोगों में से हैं जिन्हें पलभर के भीतर इन दोनों बातों का अंदाज़ा हो जाता है कि साफ़-सुथरा स्कैल्प कैसा होता है और तैलीय यानी ऑइली स्कैल्प कैसा होता है तो हम आपकी परेशानी को समझ सकते हैं. ऑइली स्कैल्प एक आम समस्या है और आप इसे पूरी तरह दुरुस्त कर सकती हैं. यक़ीन मानिए कि आपको ऐसे स्कैल्प के साथ पूरा जीवन नहीं गुज़ारना होगा. आपके स्कैल्प के तैलीय होने की वजह यह है कि आपके स्कैल्प पर मौजूद सेबैशियस ग्लैंड्स ज़रूरत से अधिक सीबम का उत्पादन कर रही हैं, जो आपके बालों में ट्रांस्फ़र होता जा रहा है. अपने बालों की देखभाल के रूटीन में थोड़ा-सा बदलाव ला कर आप इस स्थिति को बदल सकती हैं.

बार-बार शैम्पू न करें
 

बार-बार शैम्पू न करें

जब भी आपको अपना स्कैल्प तैलीय लगता है तो जो सबसे पहली चीज़ जो आपके दिमाग़ में आती है, वो है शैम्पू करना यानी बालों को धो लेना. ये बात आपको अचरजभरी लग सकती है या फिर अजीब लग सकती है कि तैलीय स्कैल्प से निजात पाने के लिए बालों को कम से कम बार शैम्पू करना चाहिए. आपको पता है कि आपकी सेबैशियस ग्लैंड्स बहुत अधिक सक्रिय हैं और ज़्यादा तेल बना रही हैं, ऐसे में बालों को धोने से वे और अधिक ऑइल का उत्पादन करने लगेंगी. रोज़-रोज़ शैम्पू करने की बजाय एक दिन छोड़ कर बालों को धोएं. बाल धोने के लिए डीप क्लेंज़िंग शैम्पू का इस्तेमाल करें, ताकि स्कैल्प कम तैलीय रहे.

ड्राइ शैम्पू का इस्तेमाल करें
 

ड्राइ शैम्पू का इस्तेमाल करें

अब, जबकि आप एक दिन छोड़ कर अपने बाल धो रही हैं और ऐसे में बाल धोने के अगले दिन यदि आपको अपना स्कैल्प और बाल ऑइली लग रहे हैं तो ड्राइ शैम्पू का इस्तेमाल करें. यह तैलीय स्कैल्प को छुपाने का कारगर समाधान है और इसके लिए पानी और क्लेंज़र का इस्तेमाल भी नहीं करना पड़ता है.

लीव-इन कंडिशनर्स का इस्तेमाल न करें
 

लीव-इन कंडिशनर्स का इस्तेमाल न करें

आपके लिए ध्यान रखने की बात यह है कि लीव-इन कंडिशनर्स आपके लिए नहीं बने हैं. हालांकि इसका यह मतलब क़तई नहीं है कि आपके बालों को नरिशिंग कंडिशनर की ज़रूरत नहीं है. अपने बालों के शाफ़्ट्स को कोमल और आख़िरी सिरों को फ्रिज़ रहित बनाने के लिए आप डव डेली शाइन कंडिशनर का इस्तेमाल कर सकती हैं. लेकिन ध्यान रखें कि कंडिशनर को स्कैल्प पर बिल्कुल भी न लगाएं, इसे केवल बालों पर ही लगाएं.

टी ट्री ऑइल है आपका दोस्त
 

टी ट्री ऑइल है आपका दोस्त

ऐंटीबैक्टीरिअल और ऐंटीफ़ंगल गुणों के अलावा टी ट्री ऑइल में अतिरिक्त सीबम के उत्पादन को नियंत्रित करने के गुण भी होते हैं. बाल धोने से घंटेभर पहले किसी कैरिअर ऑइल में टी ट्री ऑइल की कुछ बूंदे मिला कर स्कैल्प पर लगाएं. इससे स्कैल्प पर अतिरिक्त तेल भी नहीं आएगा और यह डैंड्रफ़ को हटाने के लिए कारगर भी रहेगा.