ठहरिए… क्या आप ग्लॉसी और ग्रीसी बालों में कन्फ़्यूज़ हो गई हैं? ग्लॉसी हेयर हो तो क्या बात है, पर ग्रीसी हेयर से जल्द से जल्द छुटकारा पाना ज़रूरी होता है! आप सुबह सोकर उठें और आपका स्वागत बेहद ग्रीसी यानी ऑयली स्कैल्प करे तो ज़ाहिर है, आपका मूड ख़राब हो ही जाएगा. कल्पना करें, आपको देर हो रही हो और आपको स्कैल्प के एक्स्ट्रा ग्रीसीनेस को ख़त्म करने के तरीक़े ढूंढ़ने हों. बिल्कुल आप फ्रस्टेट हो जाएंगी! पर रुकिए…इसके पहले कि आप हार मान लें, हम आपको बता रहे हैं वो तरीक़े, जिनका इस्तेमाल करके आप अपने एक्स्ट्रा ऑयली स्कैल्प से छुटकारा पा सकती हैं. अगर आपका स्कैल्प कुछ ज़्यादा ही ऑयली हो तो आपको ये 5 काम ज़रूर करना चाहिए.

#01: शैम्पू करें, पर सावधानी के साथ

#02: हेयर-स्टाइलिंग टूल्स का इस्तेमाल सीमित करें

#03 अपने ब्रेश को नियमित रूप से साफ़ करें

#04: ऑयल कम करनेवाले प्राकृतिक इंग्रीडिएंट्स का इस्तेमाल करें

#05: बालों के साथ सौम्यता से पेश आएं

 

शैम्पू करें, पर सावधानी के साथ

शैम्पू करें, पर सावधानी के साथ

बालों को शैम्पू कैसे करें इस बारे में अलग से बताने की ज़रूरत नहीं है. हम सभी लंबे समय से यह करते आए हैं. पर इसका क्या मतलब हुआ, जब हम आपको यह बताएं कि बालों को शैम्पू करने का सही तरीक़ा क्या होता है? इसका यह मतलब हुआ कि अब तक आप ग़लत तरीक़े से शैम्पू करती आई हैं.

तो सबसे पहले यह बात समझ लें कि शैम्पू केवल आपके बालों की जड़ों और स्कैल्प के लिए होता है. अगर आप चाहती हैं कि आपका स्कैल्प ग्रीसी न लगे तो शैम्पू को ठीक तरह से धोना शुरू करें. दूसरी बात अगर आप अपने नाख़ूनों से स्कैल्प को खुरचती हैं या ज़ोर-ज़ोर से खुजलाती हैं तो ऐसा करना बंद करें. क्योंकि जब आप ऐसा करती हैं तो आपका स्कैल्प ऑयल का प्रोडक्शन बढ़ा देता है.

 

हेयर-स्टाइलिंग टूल्स का इस्तेमाल सीमित करें

हेयर-स्टाइलिंग टूल्स का इस्तेमाल सीमित करें

जहां स्ट्रेटिंग और कर्लिंग आयरन ऐसा आभास कराते हैं कि जैसे आप अभी-अभी सलून से निकलकर आ रही हों, पर यह बात भी उतनी ही सही है कि वे आपके बालों के बेस्ट फ्रेंड तो क़तई नहीं है. क्या आपको पता है हीट स्टाइलिंग प्रॉडक्ट्स स्कैल्प के ग्रीसी होने के दोषी होते हैं?

इसलिए यह बहुत ज़रूर हो जाता है कि अपने बालों को हवा में अपने आप सूखने दें. इससे बालों का नैचुरल टेक्सचर बना रहता है. जब आपको बहुत ज़रूरी लगे, केवल उन्हीं कंडीशन्स में बालों को स्टाइल करने के लिए ब्लो-ड्रायर और स्ट्रेटनर का इस्तेमाल करें.

 

अपने ब्रेश को नियमित रूप से साफ़ करें

अपने ब्रेश को नियमित रूप से साफ़ करें

क्या आपको पता है जैसे आपके मेकअप टूल्स की नियमित देखरेख की ज़रूरत होती है, उसी तरह की देखभाल आपके हेयर टूल्स भी मांगते हैं? तो जिस तरह आप अपने मेकअप ब्रेश को समय-समय पर साफ़ करती रहती हैं, अपने हेयर ब्रशेस को भी उसी तरह साफ़ करती रहें. ब्रश पर से टूटे बालों को साफ़ करें. हफ़्ते में एक बार सौम्य साबुन से ब्रश को साफ़ करें, इससे उनपर जर्म्स, बैक्टीरिया, ऑयल और प्रॉडक्ट बिल्ड का जमाव नहीं होने पाता.

जब आप अपने हेयर ब्रशेस को रेग्युलरली साफ़ नहीं करती हैं, तब ब्रश पर जमा ऑयल स्कैल्प पर ट्रान्सफ़र हो जाता है और उसके ग्रीसीनेस को बढ़ा देता है.

 

ऑयल कम करनेवाले प्राकृतिक इंग्रीडिएंट्स का इस्तेमाल करें

ऑयल कम करनेवाले प्राकृतिक इंग्रीडिएंट्स का इस्तेमाल करें

क्लेरिफ़ाइंग शैम्पू, जो स्कैल्प से तेल के जमाव को कम करते हैं और उसे ग्रीस फ्री बनाते हैं, समय-समय पर अपने बालों को ऑयल-फ़ाइटिंग प्राकृतिक इंग्रीडिएंट्स से पैम्पर करना बहुत ज़रूरी होता है.

ऐसा ही एक इंग्रीडिएंट है एलो वेरा. यह स्कैल्प के अतिरिक्त ऑयल को ख़तम करके बालों को पोषण देता है और उन्हें मुलायम बनाता है.

आपको करना यह होगा कि ताज़े एलो वेरा जेल को लेकर अपने स्कैल्प पर लगाना होगा. आप यह पोस्ट-वॉश ट्रीटमेंट के तौर पर कर सकती हैं. एलो वेरा ऑयलीनेस को कम करता है और प्रॉडक्ट बिल्ड अप को कम करके स्कैल्प को स्मूद करता है.

 

बालों के साथ सौम्यता से पेश आएं

बालों के साथ सौम्यता से पेश आएं

बालों को खींचने और तोड़ने से वे कमज़ोर हो जाते हैं और टूटने लगते हैं. इतना ही नहीं, आपका स्कैल्प बेहद ग्रीसी हो जाता है

. वॉशिंग, स्कैचिंग, कोम्बिंग और स्टाइलिंग आदि करते समय यह बहुत ज़रूरी है कि आप बालों के साथ सौम्यता से पेश आएं. बालों के साथ सख़्ती से पेश आने पर आपका स्कैल्प प्रभावित होता है, जो बदले में ऑयल यानी सीबम का प्रोडक्शन बढ़ा देता है. इसकी वजह से आपका स्कैल्प और आपके बाल बहुत ज़्यादा ग्रीसी हो जाते हैं.