क्या आप भी चेहरे पर नज़र आते बढ़ती उम्र के निशानों को थामने के महंगे उपचारों से परे ऐसे समाधान ढूंढ़ रही हैं जो स्वाभाविक भी हों और असरदार भी?

चेहरे की एक्सरसाइज़ का अभ्यास करने वालों का कहना है कि एक ऐसा तरीका है, जो यह काम कर सकता है और वो है- फेस योगा. ख़ासतौर पर चेहरे के लिए बनाए गए फेस योगा के ज़रिए अपने चेहरे की मांसपेशियों को नियमित रूप से स्ट्रेच करने से बढ़ती उम्र के निशान, जैसे- बारीक़ रेखाएं, झुर्रियां कम होती हैं; आंखों, गालों, गर्दन और ठोड़ी के आसपास की ढीली त्वचा में कसाव आता है. और आपको मिलता है लचीला, साफ़-सुथरा, सेहतमंद और जवां चेहरा.

फेस योगा एक्सरसाइज़ करने से पहले आपका ये जानना भी तो ज़रूरी है ना कि फेस योगा काम कैसे करता है? दरअस्ल, फेस योगा में चेहरे की ऐसी एक्सरसाइज़ेज़ की जाती हैं, जो चेहरे की मांसपेशियों को मज़बूत बनाती हैं, चेहरे की त्वचा में रक्त संचार बढ़ाती हैं और कसाव लाती हैं. इन चीज़ों का नतीजा होता है कि फेस योगा करने से आपकी त्वचा जवां नज़र आती है. 

अपने चेहरे की मांसपेशियों को टोन करने और उम्र के निशानों पर लगाम कसने के लिए रोज़ाना 10 मिनट का समय निकाल कर ये पांच फेस योगा ज़रूर करें.

 

फेस योगा 1: सिम्ह मुद्रा

फेस योगा 1: सिम्ह मुद्रा

फेस योगा के लिए सिम्ह मुद्रा कैसे करें ये जानने से पहले ज़रूरी है कि हम आपको ये बता दें कि आख़िर इसे करने से आपको क्या फ़ायदे होंगे. सिम्ह मुद्रा आपके चेहरे की सभी मांसपेशियों की एक्सरसाइज़ करवा देती है. यह चेहरे के लिए किए जाने वाले आसनों में से सबसे ज़्यादा प्रभावशाली है. इसे करने से चेहरे की मांसपेशियों में कसावट आती है.

सिम्हा मुद्रा कैसे बनाएं

  • एक मैट पर घुटनों को मोड़ कर बैठें. 
  • अपनी हथेलियों को ज़मीन पर इस तरह टिकाएं कि उंगलियां आपके घुटनों की ओर हों और आपकी कोहनियां बिल्कुल सीधी रहें.
  • अब मुंह को खोल कर अपनी जीभ को नीचे की ओर निकालें. जीभ निकालते हुए सिंह की तरह गर्जना करें. फिर जीभ को अंदर ले लें.
  • इस पूरी प्रक्रिया को तीन-चार बार दोहराएं.
 

फेस योगा 2: मत्स्य मुद्रा

फेस योगा 2: मत्स्य मुद्रा

फेस योग की यह एक्सरसाइज़ यानी मत्स्य मुद्रा आपके चेहरे को टोन करती है और चेहरे के रक्त संचार में सुधार लाती हैं. रक्त संचार सुधरने से आपके चेहरे पर स्वस्थ चमक आती है और आपका चेहरा आभावान व रिलेक्स्ड नज़र आता है.

मत्स्य मुद्रा कैसे बनाएं

  • एक मैट पर सुखासन में बैठ जाएं.
  • अब अपने गालों और होंठों को अंदर की ओर चूसें. इससे आपके गालों का अंदरूनी हिस्सा आपके दांतों के बीच आ जाएगा और आपके होंठ किसी मछली के मुंह की तरह का आकार बनाएंगे.
  • चार-पांच सेकेंड्स तक इसी स्थित में बनी रहें. फिर सामान्य अवस्था में आ जाएं.
  • इस प्रक्रिया को भी तीन से चार बार दोहराएं. 
 

फेस योगा 3: वायु तकनीक

फेस योगा 3: वायु तकनीक

इस फेस योगा को आप कहीं भी बैठे बैठे कर सकती हैं, यहां तक कि अपने ऑफ़िस डेस्क पर बैठे हुए भी. वायु तकनीक, जो हवा को मुंह के अंदर इस तरह घुमाने से जुड़ी है, जैसे आप माउथवॉश का इस्तेमाल कर रही हों, आपके गालों को टोन करती है, गालों पर मौजूद अतिरिक्त चर्बी को हटाती है और यह डबल चिन को भी दूर करने में सहायक होती है. 

वायु तकनीक कैसे करें

  • अपने मुंह में हवा भर कर इस तरह फुलाएं, जैसे कुल्ला करते वक़्त मुंह में पानी भर कर या माउथवॉश का इस्तेमाल करते समय फुलाती हैं.
  • अब इस हवा से चेहरे के हर उस हिस्से को हिलाएं, जिसे हिलाया जा सकता है, जैसे- गाल, होंठों के ऊपर का हिस्सा, होंठों के नीचे का हिस्सा. जब थकान हो तो सामान्य अवस्था में आ जाएं.
  • इस प्रक्रिया को तीन-चार बार दोहराएं. 
 

फेस योगा 4: चिन स्ट्रेचिंग

फेस योगा 4: चिन स्ट्रेचिंग

चिन स्ट्रेचिंग फेस योगा करने से आपको डबल चिन से छुटकारा मिलेगा, जबड़े और गर्दन की मांसपेशियों में खिंचाव लाने वाली इस एक्सरसाइज़ से गर्दन व जबड़े के पास की ढीली त्वचा में कसाव आएगा और आपकी बढ़ती उम्र जैसे थम सी जाएगी. 

चिन स्ट्रेचिंग कैसे करें

  • सुखासन में बैठें और अपने सिर को ऊपर की ओर उठाते हुए छत की ओर देखें.
  • अब अपने होंठों को कस कर ऊपर की ओर बढ़ाएं, जैसे कि चुंबन लिया जाता है.
  • कुछ सेकेंड्स तक इसी मुद्रा में रहें और फिर सामान्य अवस्था में आ जाएं.
  • इस प्रक्रिया को तीन-चार बार दोहराएं. 
 

फेस योगा 5: नेक मूवमेंट

फेस योगा 5: नेक मूवमेंट

नेक मूवमेंट फेस योगा से आपके गर्दन, ठोड़ी और जबड़े की मांसपेशियों में कसाव आता है, जिससे यहां की झुर्रियां भी कम होती हैं. इस फेस योगा को नियमित रूप से करने पर आपको डबल चिन से भी छुटकारा मिलता है.

नेक मूवमेंट कैसे करें

  • सुखासन में बैठें और अपनी रीढ़ की हड्डी को एकदम सीधा रखें.
  • अब अपने सिर को धीरे धीरे क्लॉकवाइज़ घुमाएं. ऐसा तीन-चार बार करें.
  • फिर इसी तरह धीरे धीरे सिर को ऐंटी-क्लॉकवाइज़ घुमाएं. ऐसा भी तीन से चार बार करें.
  • सिर को घुमाते हुए जल्दबाज़ी बिल्कुल न करें.
 

फेस योगा करते समय बरती जाने वाली सावधानियां

फेस योगा करते समय बरती जाने वाली सावधानियां

जिस तरह हर एक्सरसाइज़ को करते समय सावधानियां बरती जानी चाहिए, बिल्कुल वैसे ही यह बात फेस योगा के लिए भी सही है. अत: नीचे दी गई सूची को ध्यान से पढ़ें और फेस योगा एक्सरसाइज़ करने से पहले किसी योग एक्स्पर्ट की सलाह ज़रूर ले लें...

  • जल्दी नतीजे पाने के चक्कर में एक ही दिन में कई बार फेस योगा करने से बचें. इससे मांसपेशियों में खिंचाव आ सकता है.
  • यदि आपको गर्दन से जुड़ी कोई समस्या है तो फेस योगा न करें.
  • यदि आपकी कॉस्मेटिक सर्जरी हुई है तो फेस योगा करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह ज़रूर ले लें.
  • फेस योगा की एक्सरसाइज़ेज़ कभी भी चेहरे या गर्दन को झटका देते हुए न करें. फेस योगा जल्दबाज़ी में भी नहीं किया जाना चाहिए. इन योगासनों को धीरे धीरे ही किया जाना चाहिए.
  • यदि आप नियमित रूप से फेस योगा (रोज़ाना 10 से 15 मिनट) करेंगी तो दो सप्ताह के भीतर आपको इसके परिणाम दिखाई देना शुरू होने लगेगें. इसे करने से आपको मांसपेशियों में आराम महसूस होगा, चेहरे और गर्दन की त्वचा कसी हुई नज़र आएगी. चेहरे की रंगत में सुधार होगा और चेहरे पर सेहतभरी चमक भी नज़र आएगी.