स्वस्थ रहने के लिए हायजीन का खयाल रखना बहुत ज़रूरी है। शरीर के साथ ओरल हायजीन यानी मुंह की सफाई भी ज़रूरी है। ओरल हायजीन का मतलब सिर्फ दांतों को दिन में दो बार ब्रश करना और डेन्टिस्ट के पास जाकर चेक अप कराना ही नहीं है, बल्कि हर रोज़ का इसका खयाल रखना ज़रूरी है, ताकि आपके दांत हमेशा मज़बूत रहे और कैविटी न हो।

लेकिन यदि आप जानना चाहती हैं कि डेंटल केयर रूटीन में और क्या शामिल करना चाहिए, तो हम से पूछिए। हम आपको बता रहे हैं 4 ऐसे डेंटल केयर टिप्स, जिन्हें डेन्टिस्ट ने अप्रूव किया है और जिनसे आपके मोतियों जैसे सफ़ेद दांत हमेशा मज़बूत बने रहेंगे।

 

01. नियमित रूप से फ्लोस करें

01. नियमित रूप से फ्लोस करें

आप चाहे रोज़ाना दिन में दो बार ब्रश करते होंगे, लेकिन फिर भी ज़रूरी नहीं है कि आपके दांतों का कोना-कोना साफ़ हो सके। आपका ब्रश इतना पतला नहीं होता कि यह दांतों को पूरी तरह से साफ कर सके। इसलिए यह ज़रूरी है कि आप फ्लोस का इस्तेमाल दो दिन में एक बार ज़रूर करें, ताकि यह पूरी तरह से साफ हो सके।

 

02. माउथ वॉश यूज़ करें

02. माउथ वॉश यूज़ करें

बहुत से लोग माउथ वॉश यूज़ करना ज़रूरी नहीं समझते। डेन्टिस्ट का मानना है कि माउथ वॉश सांसों की दुर्गंध हटाने के साथ उन जर्म्स को भी मारता है, जो टूथपेस्ट नहीं कर पाता। हालांकि यह ब्रश की जगह नहीं ले सकता, लेकिन माउथ वॉश को फ्लोराइड के साथ यूज़ करने से यह दांतों की रक्षा करता है और ओरल हायजीन को मेंटेन करता है।

 

03. ज़्यादा नींबू न खाएं

03. ज़्यादा नींबू न खाएं

कई लोग दांतों को साफ करने और चमकाने के लिए नींबू का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन इससे दांतों की सेहत पर असर होता है। इसका कारण है कि नींबू एसिडिक होता है और यह नेल पोलिश खराब करने के साथ आपके दांतों को भी डैमेज करता है।

 

04. अपने खान-पान पर ध्यान दें

04. अपने खान-पान पर ध्यान दें

हम जो खाना खाते हैं, उनमें से कई ऐसे हैं, जो दांतों पर दाग छोड़ देते हैं। इससे धीरे-धीरे आगे जाकर दांतों का रंग पीला पड़ने लगता है। इसके लिए ज़्यादा चाय-कॉफी, शक्कर व हल्दी युक्त चीज़ें खाना-पीना अवॉइड करें। यदि आपने ऐसी चीज़ें खाई हैं, तो दांतों को तुरंत ब्रश करें, ताकि दाग न पड़े।