हमारे ड्रॉर्स में ब्यूटी प्रोडक्ट्स की भरमार होती है और बाथरूम शेल्फ़ भी बॉटल्स और ट्यूब्स से अटा पड़ा होता है और वैनिटी किट की तो बात ही छोड़ दीजिए. यदि आप भी हमारी तरह स्किनकेयर की शौक़ीन हैं तो हमें पता है कि आप भी इस पसोपेश में रहती होंगी कि क्या क्या इस्तेमाल करूं?  हर नया प्रोडक्ट ख़रीदना जैसे आपके लिए ज़रूरी हो जाता है, आप हर तरह का नया ब्यूटी रूटीन आज़माने को उत्सुक रहती हैं और ये सब इतना ज़्यादा हो जाता है कि कई बार आप बिना दिमाग़ लगाए इन प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करती चली जाती हैं.

लेकिन इन प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने और बहुत ज़्यादा इस्तेमाल करने के बीच बड़ी झीनी सी दीवार है और ये बात जानकर शायद आपको अचरज हो कि हर ब्यूटी प्रोडक्ट हर रोज़ इस्तेमाल करने के लिए नहीं बना होता है. जहां सनस्क्रीन और मॉइस्चराइज़र जैसे प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल रोज़ाना किया जाना चाहिए, वहीं कुछ ऐसे ब्यूटी प्रोडक्ट्स भी हैं, जिनका इस्तेमाल सीमित मात्रा में ही किया जाना चाहिए.

 

1. हेयर क्लेंज़र

1. हेयर क्लेंज़र

आपके बाल चाहे कितने भी तैलीय (ऑइली) क्यों न हो जाते हों, अपने बालों को रोज़ शैम्पू ना करें. शैम्पू आपके बालों का अतिरिक्त तेल हटा देगा और आपकी स्कैल्प को रूखा यानी ड्राइ बना देगा. जिससे स्कैल्प में खुजली आने और इसके पपड़ीदार (फ़्लेकी) होने की समस्या शुरू हो जाएगी. ज़्यादा शैम्पू करने से स्कैल्प और अधिक सीबम का उत्पादन करने लगता है, ताकि शैम्पू की वजह से कम हुए मॉइस्चर की भरपाई हो सके और इससे ऑइली स्कैल्प और ज़्यादा ऑइली हो जाती है. अत: आपको अपने बाल सप्ताह में ज़्यादा से ज़्यादा दो-तीन बार ही धोने चाहिए.

 

2. मस्कारा

2. मस्कारा

हमें पता है कि मस्कारा का डबल कोट लगाने के बाद आपकी आंखों में वो जादू पैदा हो जाता है जो आपके आकर्षण को उसके अगले स्तर पर पहुंचा देता है. पर हम बताना चाहते हैं कि रोज़ाना मस्कारा लगाने से, ख़ासतौर पर वॉटरप्रूफ़ मस्कारा लगाने से आपकी पलकों को नुक़सान पहुंच सकता है और पलकें कमज़ोर हो सकती हैं, जिससे वो टूट भी सकती हैं. अत: मस्कारा एक दिन छोड़कर लगाएं और मस्कारा लगाने से पहले पलकों पर प्राइमर लगाएं, ताकि इसे लगाने से होने वाले नुकसान को कम किया जा सके.

 

3. स्क्रब

3. स्क्रब

हम इस बात से बिल्कुल इनकार नहीं कर रहे हैं कि त्वचा को एक्स्फ़ॉलिएट करना स्किनकेयर रूटीन का एक ज़रूरी हिस्सा है. लेकिन यह भी जान लें कि ज़रूरत से ज़्यादा एक्स्फ़ॉलिएट करने से आपकी त्वचा का कोई भला नहीं होने वाला. सच तो ये है कि इससे आपकी त्वचा रूखी, फ़्लेकी और दरारों से भरी बन सकती है. साथ ही, आपको अपनी त्वचा के प्रकार यानी स्किन टाइप के अनुसार ही स्क्रब का चुनाव करना चाहिए. यदि आपकी त्वचा संवेदनशील यानी सेंसिटिव है तो सप्ताह में एक बार ही एक्स्फ़ॉलिएट करें, ड्राइ स्किन है तो सप्ताह में दो बार और यदि आपकी स्किन ऑइली है तो त्वचा को सप्ताह में तीन बार भी एक्स्फ़ॉलिएट किया जा सकता है. लेकिन त्वचा को रोज़ाना एक्स्फ़ॉलिएट बिल्कुल नहीं करना चाहिए.

 

4. ड्राइ शैम्पू

4. ड्राइ शैम्पू

चिपचिपे और ऑइली बालों के लिए ड्राइ शैम्पू जैसे किसी वरदान की तरह है. ये हमें बैड हेयर डेज़ के ड्रामा और शर्मिंदगी से बचा ले जाता है. पर हमें उम्मीद है कि आप रोज़ाना इसका इस्तेमाल नहीं करती होंगी. यदि करती हैं तो आपको बता दें कि ड्राइ शैम्पू आपके बालों में मौजूद तेल को कम करने के साथ साथ उन्हें ब्रिटल (आसानी से टूट सकने वाला) भी बनाता है, क्योंकि ये स्कैल्प पर मौजूद नैचुरल ऑइल को अवशोषित कर लेता है. इसका रोज़ाना इस्तेमाल करने से आपके बालों को नुक़सान पहुंच सकता है इसलिए ड्राइ शैम्पू का इस्तेमाल केवल उसी दिन करें, जिस दिन ऐसा करना बहुत ज़रूरी हो.