क्या कभी आपके साथ ऐसा हुआ है कि आपने बड़े जतन से मेकअप किया हो और उसका नतीजा, बिल्कुल अच्छा न रहा हो? क्या यूं लग रहा था कि जैसे मेकअप में कहीं, किसी चीज़ की कमी रह गई है? या फिर मेकअप बहुत सधा हुआ नज़र नहीं आ रहा है. यदि ऐसा है तो इसका सीधा मतलब यह है कि अभी आप मेकअप करने की कला में माहिर नहीं हैं यानी इस मामले में नौसिखिया या बिगिनर हैं, क्योंकि मेकअप एक ऐसी कला है कि जब आप इसमें माहिर हो जाएंगी तो आपके नैन-नक़्श पूरी तरह निखरे हुए नज़र आएंगे. और बिल्कुल दूसरी कलाओं की तरह ही मेकअप की कला के भी कई नियम हैं.

यही वजह है कि यहां हम आपके लिए  पेश कर रहे हैं मेकअप अप्लाइ करने की स्टेप बाइ स्टेप गाइड. मेकअप करते समय ध्यान रखने की जो सबसे महत्वपूर्ण बात है, वो है-मेकअप प्रोडक्ट्स को लगाने के क्रम यानी ऑर्डर का पालन करना. ऐसा करने से यह सुनिश्चित हो जाएगा कि आपका मेकअप ख़ूबसूरत नज़र आए. हमें पता है कि मेकअप कई लोगों के लिए ख़ुद को व्यक्त करने का ज़रिया है और कई महिलाएं मेकअप करते समय अपनी रचनात्मक स्वतंत्रता का पूरा इस्तेमाल करती हैं और नए-नए प्रयोग करने से भी नहीं हिचकतीं. यदि आप महिलाओं के इस समुदाय में आती हैं तब भी मेकअप की इस स्टेप बाइ स्टेप गाइड में मौजूद स्टेप्स आपके मेकअप को ख़ूबसूरती देंगे ये हमारा वादा है.  क्योंकि मेकअप के ज़रिए ख़ुद को अभिव्यक्त करने का हम सब का अंदाज़ और तरीक़ा भले ही अलग-अलग हो, लेकिन मेकअप करने का बुनायदी तरीक़ा एक-सा ही होता है-फिर चाहे आप सादा मेकअप करना चाहती हों या फिर थोड़ा जटिल.

यह स्टेप बाइ स्टेप मेकअप गाइड उन लोगों की तो ख़ासतौर पर मदद करेगी, जो इस दुविधा में रहते हैं कि कंसीलर को फ़ाउंडेशन लगाने से पहले लगाएं या उसके बाद? आगे पढ़ती जाइए और मेकअप करने का सही तरीक़ा जानती जाइए...

स्टेप 1: क्लेंज़िंग, टोनिंग और मॉइस्चराइज़िंग के नियम का पालन करते हुए त्वचा को मेकअप के लिए तैयार करें
 

स्टेप 1: क्लेंज़िंग, टोनिंग और मॉइस्चराइज़िंग के नियम का पालन करते हुए त्वचा को मेकअप के लिए तैयार करें

याद रखें: स्वाभाविक रूप से साफ़-सुथरी त्वचा पर किया गया मेकअप ख़ूबसूरत भी नज़र आता है और केकी (पपड़ीदार) भी नहीं होता. अपने स्किनकेयर रूटीन का नियमित रूप से पालन करने से आपकी त्वचा प्राकृतिक रूप से चमकती हुई और ख़ामियों से रहित नज़र आएगी. इसका सबसे पहला क़दम यह है कि आप रोज़ाना सुबह व शाम को अपनी त्वचा के लिए उपयुक्त और प्रभावी क्लेंज़र से साफ़ करें, ताकि त्वचा पर मौजूद धूल-गंदगी, तेल, प्रदूषण और मेकअप के कण चेहरे पर से हट जाएं. क्लेंज़िंग के बाद त्वचा के पीएच स्तर को संतुलित करने के लिए यह भी बहुत ज़रूरी है कि आप पीएच बैलेंसिंग टोनर का इस्तेमाल करें. टोनर आपकी त्वचा के रोमछिद्रों यानी पोर्स में कसाव लाता है और आपकी त्वचा के टेक्स्चर को सुधारता है. इसके बाद त्वचा को नमी देने के लिए हाइड्रेटिंग मॉइस्चराइज़र का इस्तेमाल करें. इसे लगाने के बाद जब आप मेकअप लगाएंगी तो आपकी त्वचा रूखी नहीं होगी और मेकअप पूरे समय अच्छा दिखाई देगा. आप सिंपल काइंड टू स्किन हाइड्रेटिंग लाइट मॉइस्चर का इस्तेमाल कर के देखें. यह मेकअप के नीचे आपकी त्वचा को सेहतमंद बनाए रखता है, जिससे मेकअप केकी नहीं होने पाता. 

स्टेप 2: प्राइमर लगाएं और ज़रूर लगाएं
 

स्टेप 2: प्राइमर लगाएं और ज़रूर लगाएं

यदि आप चाहती हैं कि मेकअप दिनभर तरोताज़ा नज़र आए और फैले भी नहीं तो आप प्राइमर को स्किप कर ही नहीं सकतीं. ऐसा प्राइमर चुनें, जैसे- लैक्मे ऐब्सलूट ब्लर पर्फ़ेक्ट मेकअप प्राइमर, जो आपकी त्वचा के रोमछिद्रों यानी पोर्स को हल्का करता है और आपकी त्वचा को एक समान बना कर मेकअप के लिए तैयार करता है. यही नहीं, प्राइमर बारीक़ रेखाओं यानी फ़ाइन लाइन्स को भी चिकना बना देता है, जिससे मेकअप प्रोडक्ट्स चेहरे पर आसानी से भी लगते हैं और सुंदर भी नज़र आते हैं . यदि आपकी त्वचा ऑइली है तो हमेशा मैट फ़िनिश वाला प्राइमर इस्तेमाल करें और इसे अपने पूरे चेहरे पर लगाएं.

स्टेप 3: अब फ़ाउंडेशन की बारी
 

स्टेप 3: अब फ़ाउंडेशन की बारी

अपनी त्वचा को त्रुटि रहित और एक समान रंगत का दिखाने के लिए अब फ़ाउंडेशन लगाएं. यह बहुत ज़रूरी है कि आप ऐसा फ़ाउंडेशन चुनें, जो आपकी त्वचा की रंगत से मिलता-जुलता हो, क्योंकि फ़ाउंडेशन के ग़लत शेड के चुनाव से आप बहुत ही अजीब नज़र आने लगेंगी. यही नहीं, फ़ाउंडेशन का चुनाव करते समय आपको अपनी त्वचा के प्रकार का भी ख़्याल रखना होगा. ऑइली त्वचा वालों को मैट फ़िनिश फ़ाउंडेशन का चुनाव करना चाहिए, जैसे- लैक्मे ऐब्सलूट मैटरीयल स्किन नैचुरल मूस 16एचआर. वहीं यदि आपकी त्वचा रूखी यानी ड्राइ है तो आप लैक्मे ऐब्सलूट आर्गन ऑइल सीरम फ़ाउंडेशन विद एसपीएफ़ 45 का चुनाव कर सकती हैं. फ़ाउंडेशन लगाने केलिए स्पॉन्ज या ब्रश का इस्तेमाल करें, इससे आपको स्वाभाविक फ़िनिश मिलेगी.

स्टेप 4: समस्याग्रस्त हिस्सों को कंसीलर की सहायता से कवर करें
 

स्टेप 4: समस्याग्रस्त हिस्सों को कंसीलर की सहायता से कवर करें

इस स्टेप बाइ स्टेप मेकअप गाइड का अगला स्टेप है चेहरे के समस्याग्रस्त यानी दाग़-धब्बे, मुहांसों वाले हिस्से और आंखों के निचले हिस्से को कंसीलर की सहायता से छुपाना. आप अपनी त्वचा से मिलते-जुलते रंग के कंसीलर का इस्तेमाल कर सकती हैं या फिर इससे हल्के रंग का इस्तेमाल भी कर सकती हैं. लैक्मे ऐब्सलूट वाइट इन्टेन्स लिक्विड कंसीलर का इस्तेमाल करें, क्योंकि यह एक समान रंगत देते हुए त्वचा की ख़ामियों को छुपा देता है. त्वचा पर कंसीलर को ब्लेंड करने के लिए इसमें दिए गए ऐप्लिकेटर का इस्तेमाल करें. इसे और अच्छी तरह ब्लेंड करने के लिए स्पॉन्ज को यूज़ करें. इस बेस मेकअप को सेट करने के लिए कॉम्पैक्ट पाउडर लगाएं. इससे आपको मैट फ़िनिश मिलेगी और चेहरे पर पसीना भी कम आएगा.

स्टेप 5: आइशैडो से आंखों को बनाएं आकर्षक
 

स्टेप 5: आइशैडो से आंखों को बनाएं आकर्षक

अब आइशैडो के इस्तेमाल का सही समय आ गया है. सबसे पहले अपनी दोनों आइलिड्स पर न्यूट्रल कलर का आइशैडो लगाएं. अब आप एक डार्क शेड का चुनाव कर इसे आंखों की क्रीज़ पर लगा सकती हैं. यह आपकी आंखों की ओर ध्यान आकर्षित कराएगा और आंखों को सुंदर गहराई देगा. अब अपने आइशैडो पैलेट का सबसे हल्का रंग लें और इसे अपनी निचली ब्रो बोन पर लगाएं. और लीजिए, आइशैडो लग गया. यदि आपको ऐसा लगता है कि अलग-अलग रंग के आइशैडोज़ लगाना एक बड़ा काम है तो आप लैक्मे ऐब्सलूट इलूमिनेटिंग आइ शैडो पैलेट- फ्रेंच रोज़ से अपने पसंदीदा रंग का आइशैडो चुनें और इसे अपनी पूरी आइलिड पर लगाएं. इससे आपको तुरंत ही बेहद ख़ूबसूरत और आकर्षक आंखें मिलेंगी.

स्टेप 6: आइ लाइनर और काजल से आंखों को करें परिभाषित और मस्कारा से दें जादुई आकर्षण
 

स्टेप 6: आइ लाइनर और काजल से आंखों को करें परिभाषित और मस्कारा से दें जादुई आकर्षण

अब आप आइ मेकअप के आख़िरी चरण में हैं. आइ मेकअप को पूरा करने के लिए लिक्विड आइ लाइनर, जैसे- लैक्मे आइकॉनिक लाइनर पेन फ़ाइन टिप- ब्लैक/ का इस्तेमाल करें. आप चाहें तो सामान्य तरीक़े से लाइनर लगा सकती हैं या फिर विंग्स बना सकती हैं. इससे तुरंत ही आपकी आंखें बड़ी, चमकीली और परिभाषित नज़र आने लगेंगी. इसके बाद वॉटर लाइन पर लैक्मे आइकॉनिक काजल लगाएं. फिर पलकों पर मस्कारा लगा कर अपने लुक को फ़िनिश करें. इससे आपका आइ मेकअप जैसे एक सूत्र में बंध जाएगा.

स्टेप 7: ब्लश देगा गालों को सेहतभरी चमक
 

स्टेप 7: ब्लश देगा गालों को सेहतभरी चमक

ब्लश मेकअप का वह हिस्सा है, जो आपके गालों को बेहतरीन रंगत देता है, जिससे आपका चेहरा स्वस्थ और सुंदर नज़र आता है. आप नैचुरल पिंक शेड के ब्लश का इस्तेमाल कर सकती हैं या फिर यदि आपका मन हो तो इससे भी ज़्यादा चमकीले रंग का इस्तेमाल कर सकती हैं. लेकिन आपको ब्लश चुनते समय अपनी नैचुरल स्किन टोन और स्किन टाइप का ध्यान में रखते हुए ही इसके शेड का चुनाव करना चाहिए. इससे जब आप ब्लश का इस्तेमाल करेंगी तो वो बहुत स्वाभाविक नज़र आएगा, न कि बनावटी दिखाई देगा.

स्टेप 8: लिपस्टिक लगाकर होंठों को बनाएं मादक
 

स्टेप 8: लिपस्टिक लगाकर होंठों को बनाएं मादक

लिपस्टिक लगाने से पहले यह बहुत ज़रूरी है कि आप अपने होंठों को लिप लाइनर की सहायता से आउटलाइन करें. होंठों को लाइन करने से लिपस्टिक का रंग होंठों के बाहर फैलता नहीं है. आपका लिप लाइनर आपकी लिपस्टिक के शेड से मिलते-जुलते रंग का होना चाहिए. इससे आपके होंठ भरे-भरे नज़र आएंगे. लाइनर से होंठों को आउटलाइन करने के बाद लाइनर की ही सहायता से होंठों में रंग भरें और फिर लिपस्टिक लगाएं. ऐसा करने से होंठों को चिकना बेस मिलता है और जब बेस चिकना हो जाए, तब लिपस्टिक लगाने से वो आसानी से लगती है, एक समान रूप से लगती है और फैलती भी कम है.

तो लीजिए अब आपका मेकअप हो गया. हमें उम्मीद है कि मेकअप की यह स्टेप बाइ स्टेप गाइड आपको पसंद आई होगी और इससे आपके मेकअप करने के हुनर में ज़रूर इज़ाफ़ा होगा.