काजल तो हर भारतीय युवती का पसंदीदा मेकअप प्रोडक्ट है. सच पूछिए तो यही वो प्रोडक्ट है, जिसे मेकअप करने की शुरुआत करने वाली हर युवती सबसे पहले चुनती है. आपकी आंखों को तरोताज़ा (भले ही आप रात में केवल दो घंटे ही क्यों न सोई हों) लुक देने वाला यह प्रोडक्ट आपके आइ मेकअप को निखारता है. काजल तो हमारी वैनिटी किट का जैसे सबसे ज़रूरी प्रोडक्ट है.

काजल पेंसिल्स, जिन पर हम आंखें मूंद कर भरोसा कर सकते हैं, वे तो बहुत लंबे समय से मेकअप की दुनिया में मौजूद हैं, लेकिन इनका इस्तेमाल करते समय हमें कुछ बुनियादी नियमों का ध्यान रखना होता है, ताकि हमारा लुक बेहतर दिखाई देने की जगह ख़राब न नज़र आने लगे. यदि आपको लगता है कि काजल के साथ तो कुछ ग़लत हो ही नहीं सकता तो हम आपको काजल लगाते समय की जाने वाल पांच गलतियों के बारे में बता रहे हैं, ताकि आप ख़ुद ही चेक कर लें कि कहीं आप भी तो नहीं कर रही हैं ये गलतियां?

पहली ग़लती: केवल एक ही स्ट्रोक का इस्तेमाल करते हुए काजल लगाना
 

पहली ग़लती: केवल एक ही स्ट्रोक का इस्तेमाल करते हुए काजल लगाना

आपको शायद यह पता न हो, लेकिन काजल लगाने का एक सही तरीका होता है. आंखों के अंदरूनी कोने से शुरू करते हुए, छोटे-छोटे स्ट्रोक्स लेकर आगे बढ़ें और आंखों के बाहरी कोने तक पहुंचें. छोटे स्ट्रोक्स लेने से काजल बिल्कुल एक समान ढंग से लगेगा. काजल अच्छी तरह लगे इसके लिए आंखों के नीचे की त्वचा को हल्का-सा खींचते हुए काजल लगाएं.

दूसरी ग़लती: छोटी आंखों पर बहुत सारा काजल लगाना
 

दूसरी ग़लती: छोटी आंखों पर बहुत सारा काजल लगाना

यदि आपकी आंखें छोटी हैं या हुडेड (जिन आंखों के खुले रहने पर भी ऐसा लगता है कि आइलिड्स थोड़ी बंद हैं) हैं तो इस तो अपनी वॉटरलाइन पर मोटा काजल लगाने से आपकी आंखें और भी छोटी नज़र आएंगी. क्योंकि आप आंखों का आधा हिस्सा काजल से ही भर लेंगी. अत: इसे हल्का रखें और बस, एक बारीक़ सी लाइन आपकी आंखों के लिए काफ़ी होगी.

तीसरी ग़लती: डार्क सर्कल्स होने के बावजूद काजल को स्मज करना
 

तीसरी ग़लती: डार्क सर्कल्स होने के बावजूद काजल को स्मज करना

काजल को स्मज करने से स्मोकी इफ़ेक्ट मिलता है, इसके बारे में तो कोई संदेह ही नहीं है. लेकिन यदि आपको आंखों के नीचे काले घेरों यानी डार्क सर्कल्स की समस्या है तो काजल को स्मज करना सही नहीं रहेगा. इससे न सिर्फ़ डार्क सर्कल्स और बैग्स उभर कर नज़र आएंगे, बल्कि आपकी आंखें किसी पांडा की तरह नज़र आएंगी. तो यदि करीना कपूर ख़ान आपको स्मोकी आइ लुक आज़माने को उकसा रही हैं तो सबसे पहले आपको अपने डार्क सर्कल्स को कंसीलर की सहायता से छुपाना पड़ेगा, ताकि आप स्मज्ड आइ लुक अपना सकें.

चौथी ग़लती: कम धार वाली यानी ब्लंट काजल पेंसिल का इस्तेमाल
 

चौथी ग़लती: कम धार वाली यानी ब्लंट काजल पेंसिल का इस्तेमाल

वे सभी आलसी युवतियां ध्यान दें, जिन्हें काजल लगाने का शौक भी है! काजल लगाने के लिए कभी भी कम धार वाली या भोथरी काजल पेंसिल का इस्तेमाल न करें. इससे काजल कहीं कम तो कहीं ज़्यादा यानी असमान मोटाई में लगेगा, जो बिल्कुल अच्छा नहीं दिखेगा. काजल लगाने से पहले अपनी काजल पेंसिल की तीखी नोक को जांच लें. समय-समय पर काजल पेंसिल की नोक को तराशती रहें.

पांचवी ग़लती: केवल अपनी वॉटरलाइन पर ही काजल लगाना
 

पांचवी ग़लती: केवल अपनी वॉटरलाइन पर ही काजल लगाना

यदि आपको लगता है कि वॉटरलाइन पर काजल लगाने से काजल लगाने की प्रक्रिया ख़त्म हो गई तो आप ग़लत हैं. यदि आप कजरारी आंखों वाला लुक सही तरीक़े से अपनाना चाहती हैं तो आप जब भी काजल लगाएं, टाइटलाइन करना न भूलें. टाइटलाइन का अर्थ है अपनी ऊपरी पलकों की लाइन पर भी काजल पेंसिल का इस्तेमाल करना. ऐसा करने से आपको बड़ी आंखों वाला संवरा हुआ लुक मिलेगा.

फ़ोटो: इन्स्टाग्राम व पिन्टरेस्ट