हम बांस से बने स्क्रब से अपनी स्किन को एक्सफोलिएट करने की अवधारणा से परिचित हैं, लेकिन हम बांस को एक्सफोलिएंट के रूप में कितना जानते हैं? इससे पहले कि आप अपनी स्किन की सतह से डेड सेल्स को हटाने की कोशिश करें, आपको उस एजेंट के बारे में जरूर जानना चाहिए जिसे आप एक्सफोलिएशन के लिए यूज़ कर रहे हैं। हम एक्सफोलिएटर के रूप में बांस के फायदों की जांच कर रहे हैं। क्या यह वाकई अच्छा है? आइए, जानते हैं ।

 

क्या बांस एक बहुत बढ़िया एक्सफोलिएन्ट है?

क्या बांस एक बहुत बढ़िया एक्सफोलिएन्ट है?

 

भले ही आप किसी प्रोडक्ट को कितना विश्वसनीय मानते हों, लेकिन इसके बारे में रिसर्च करना बहुत  जरूरी है। उदाहरण: अखरोट को स्क्रब के तौर पर यूज़ किया जाता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि वे स्किन की सेहत को खतरे में डालता है? विशेषज्ञों के अनुसार, स्क्रब स्किन को बहुत बारीक रूप में काट देता है, क्योंकि यह बहुत अपघर्षक (abrasive) है।

अन्य एक्सफोलिएन्ट की तुलना में बांस का स्ट्रक्चर बहुत सहज होता है, जो स्किन को बगैर नुकसान पहुंचाए उसकी पॉलिश कर देता है। यह स्किन की सतह पर स्मूद तरीके से चलता है और उस पर जमा ऑयल या अन्य गंदगी को घोल देता है, जिससे स्किनकेयर प्रोडक्ट्स स्किन के अंदर तक गहराई में जाकर उसे फायदा पहुंचाते हैं। यह आपके शरीर द्वारा प्रोड्यूस्ड नेचुरल ऑयल के संतुलन को बिगाड़ता नहीं है और आपकी त्वचा की कोमलता को बरकरार रखता है।

 

 

बांस को एक्सफोलिएन्ट के तौर पर यूज़ करने के फायदे

बांस को एक्सफोलिएन्ट के तौर पर यूज़ करने के फायदे

बांस में सिलिका नाम का एक कंपाउंड होता है, जो स्किन को मजबूत बनाता है, इसकी इलास्टिसिटी इंप्रूव करता है, एंटी एक्ने और एंटी रिंकल फायदे देता है और कॉलेजन के प्रोडक्शन को बढ़ावा देता है। यानी यह स्टार इनग्रेडिएंट है। यह हर तरह की स्किन के लिए उपयुक्त है। इसके सॉफ्ट फाइबर के कारण ये सेंसिटिव और एक्ने प्रोन स्किन के लिए भी फायदेमंद साबित होता है। ऐसा कहा गया है कि बांस में वो दम है जो महीन रेखाओं, झुर्रियों, एक्ने और एज के निशान को भी हटा दे। इससे बेहतर नेचुरल एक्सफोलिएन्ट भला और क्या हो सकता है!