चालीस बरस की उम्र तक आते आते आपकी त्वचा का सेल टर्नओवर आपकी उम्र के दूसरे दशक की तुलना में आधा रह जाता है. यही वजह है कि झुर्रियां दिखाई देने लगती हैं और आपकी त्वचा की आभा कम होने लगती है. लेकिन यदि आप त्वचा की सही देखभाल करें तो उम्र के ये निशां कहीं पीछे छूट जाते हैं. इस उम्र तक आते-आते त्वचा को अच्छी तरह हाइड्रेटेड और पोषित रखना ज़रूरी होता है, जो आप सही स्किन केयर रूटीन अपनाकर कर सकती हैं.

यहां हम आपको इस उम्र के लिए सही स्किन केयर टिप्स के बारे में बता रहे हैं. तो उम्र के चालीसवें पड़ाव पर आते हुए अपने तनाव को कम रखने और पर्याप्त नींद लेने के साथ-साथ आप अपनी त्वचा के लिए इन आदतों को अपने जीवन का हिस्सा बना लें...

सनस्क्रीन
 

सनस्क्रीन

जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती है सूरज की किरणों के प्रति आपकी त्वचा की संवेदनशीलता भी बढ़ती है. इस वजह से यह बहुत ज़रूरी हो जाता है कि आप हमेशा एसपीएफ़ की सुरक्षा में रहें. यही नहीं, यदि लंबे समय तक धूप में रहना है तो हैट या स्कार्फ़ भी ज़रूर पहनें. आप अपने लिए /लैक्मे सन एक्स्पर्ट अल्ट्रा मैट एसपीएफ़ 50 पीए+++ लोशन का चुनाव कर सकती हैं, जो सूरज की नुक़सानदेह यूवी किरणों को 97% तक ब्लॉक करता है और आपकी त्वचा को जवां बनाए रखता है.

डे क्रीम
 

डे क्रीम

दिन के समय यह भी ज़रूरी हो जाता है कि आप अपनी त्वचा को फ्री रैडिकल्स से होने वाले उस नुक़सान से बचाएं, जिससे आपका सनस्क्रीन आपको नहीं बचा सकता. इसके लिए ऐंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर क्रीम लगाएं, जैसे- /लैक्मे ऐब्सलूट पर्फ़ेक्ट रेडिअन्स स्किन लाइटनिंग डे क्रीम, जो आपकी त्वचा को नम बनाती है, उसकी रंगत निखारती है और तुरंत ही उसे दमकता हुआ बना देती है.  

नाइट क्रीम
 

नाइट क्रीम

त्वचा की सही देखभाल के लिए ऐसी नाइट क्रीम का चुनाव ज़रूरी है, जिसमें ऐंटी एजिंग गुण हों. ऐसी क्रीम्स आपकी त्वचा की कोशिकाओं यानी सेल्स को बढ़ाती हैं और त्वचा के उम्र के बढ़ने की गति को धीमा करती हैं. आप /पॉन्ड्स गोल्ड रेडिअन्स यूथफ़ुल नाइट क्रीम का इस्तेमाल कर के देखें, इसमें असली सोने के साथ-साथ विटामिन A और B3 हैं, जो आपकी त्वचा को ऐंटी-एजिंग गुणों का भरपूर फ़ायदा पहुंचाते हैं.

एक्स्फ़ॉलिएटर
 

एक्स्फ़ॉलिएटर

त्वचा को एक्स्फ़ॉलिएट करने से त्वचा की मृत कोशिकाएं यानी डेड स्किन सेल्स हट जाती हैं और नई कोशिकाएं सामने आती हैं, जिससे आपकी त्वचा जवां और आभावान नज़र आती है. डर्मैलॉजिका जेंटल क्रीम एक्स्फ़ॉलिएंट आपकी त्वचा को बिना नुक़सान पहुंचाए ऐसा एक्स्फ़ॉलिएशन ट्रीटमेंट देता है, जो आपकी त्वचा की सेल्स को नए जैसा बनने के लिए उकसाता है. इसमें मौजूद प्राकृतिक फ्रूट एन्ज़ाइम्स त्वचा पर मौजूद डेड सेल्स को हटाते हैं और त्वचा के टेक्स्चर में सुधार लाते हैं.

आइ क्रीम
 

आइ क्रीम

जब बात उम्र के चौथे दशक में आइ क्रीम लगाने की हो रही हो तो, अपना लक्ष्य साधने वाली क्रीम्स को चुनना बेहतर होता है यानी ऐसी क्रीम जो बारीक़ रेखाओं, झुर्रियों और आंखों के नीचे के काले घेरों यानी डार्क सर्कल्स को कम कर सकती हो. आप डर्मैलॉजिका ओवरनाइट रिपेयर सीरम का इस्तेमाल कर के देखें, यह रात के समय त्वचा की मरम्मत बड़ी तेज़ गति से करता है और बारीक़ रेखाओं को कम करते हुए चेहरे को दमकता हुआ बनाता है.