हम सभी को त्वचा से जुड़ी कोई न कोई परेशानी होती है. हममें से कुछ को मुहांसे होंगे, कुछ लोगों की त्वचा में जलन या खुजली की समस्या और कुछ और को त्वचा पर लालिमा या दाग़-धब्बे वगैरह. त्वचा से संबंधित इन समस्याओं के अलग-अलग कारण हो सकते हैं, पर इसके कई कारण बहुत छोटे-छोटे भी हो सकते हैं, जिन्हें आप थोड़े-से प्रयास से सुधार कर त्वचा की समस्या से निजात पा सकती हैं.

हम यहां कुछ चीज़ों की सूची दे रहे हैं, जो आपकी त्वचा को नुक़सान पहुंचा सकती हैं. साथ ही, हम इन समस्याओं से निजात पाने के कुछ टिप्स भी सुझा रहे हैं.

बाल धोने का तरीक़ा

ज़रूरत से अधिक मॉइस्चराइज़ करना

मॉइस्चराइज़र का इस्तेमाल न करना

तकिए का गंदा कवर

सनस्क्रीन की कमी

बाल धोने का तरीक़ा
 

बाल धोने का तरीक़ा

ये बात आपका थोड़ी आश्चर्यजनक लग सकती है, पर आपके हेयर प्रोडक्ट्स आपके मुहांसों का कारण हो सकते हैं. कंडिशनर गाढ़े होते हैं. इनमें अप्राकृतिक वैक्स (मोम) वाले प्रोडक्ट्स होते हैं, जो बड़ी आसानी से आपकी त्वचा के रोमछिद्रों को बंद कर देते हैं और यह तो आपको पता ही है कि मुहांसों के होने का कारण रोमछिद्रों का बंद हो जाना ही है.

बीब्यूटिफ़ुल टिप: सबसे पहले आप अपने बाल धोएं और सबसे आख़िरी में अपना चेहरा धो लें. बेहतर होगा कि जब भी आप अपने बाल धोएं, उसके बाद चेहरे को एक्स्फ़ॉलिएट करें और फिर धोएं.

ज़रूरत से अधिक मॉइस्चराइज़ करना
 

ज़रूरत से अधिक मॉइस्चराइज़ करना

नम और हाइड्रेटेड त्वचा हेल्दी और ख़ुशनुमा नज़र आती है. पर एक ऐसा भी समय आता है कि आपकी त्वचा को नमी और हाइड्रेशन की ज़रूरत नहीं होती. जब आप अपनी त्वचा को ज़रूरत से ज़्यादा मॉइस्चराइज़ करती हैं, तब भी आपकी त्वचा के रोमछिद्र बंद हो जाते हैं. जिसकी वजह से मुहांसे और ब्लैकहेड्स हो जाते हैं. इसीलिए यह बहुत ज़रूरी है कि आप अपनी त्वचा को मॉइस्चराइज़र के ओवरडोज़ से बचाएं और कभी-कभी कुछ न लगाएं, ताकि आपकी त्वचा सांस ले सके.

बीब्यूटिफ़ुल टिप: दिन के समय हल्के मॉइस्चराइज़र का इस्तेमाल करें. दिन में हैवी क्रीम या सीरम का उपयोग न करें.

मॉइस्चराइज़र का इस्तेमाल न करना
 

मॉइस्चराइज़र का इस्तेमाल न करना

जिनकी त्वचा तैलीय यानी ऑइली है वे हैवी मॉइस्चराइज़र लगाने से डरते हैं. उन्हें लगता है कि उन्हें मॉइस्चराइज़र लगाने की भी ज़रूरत नहीं है, क्योंकि उनकी त्वचा तो इसका उत्पादन कर ही रही है... पर यह सोच सही नहीं है! ऑइली स्किन को भी मॉइस्चर की उतनी ही ज़रूरत होती है, जितनी की दूसरे प्रकार की त्वचा को, पर यहां मॉइस्चर चुनने की कला थोड़ी अलग है.

बीब्यूटिफ़ुल टिप: ऑइली त्वचा के लिए जेल बेस्ड मॉइस्चराइज़र सही होते हैं.

तकिए का गंदा कवर
 

तकिए का गंदा कवर

ये त्वचा से जुड़ी समस्याओं का सबसे बड़ा कारण हैं. तकिए के गंदे कवर पर ढेर सारे बैक्टीरियाज़ और धूल होती है, जो सीधे आपकी त्वचा के संपर्क में आ जाती है. इसकी वजह से  मुहांसे, खुजली और रैशेज़ हो सकते हैं. यदि आपके बालों में लगा हेयर प्रोडक्ट भी इन पर लग जाए तो त्वचा की ये समस्याएं और भी गंभीर हो सकती हैं.

बीब्यूटिफ़ुल टिप: हर थोड़े दिनों के अंतराल पर अपने तकिए के कवर को बदलती रहें. सिल्क के पिलो कवर का इस्तेमाल करें. इन्हें लगाने से आपके बाल भी सुलझे हुए रहेंगे.

सनस्क्रीन की कमी

हम अक्सर त्वचा की देखभाल के इस सबसे ज़रूरी प्रोडक्ट को अनदेखा कर देते हैं. घर से बाहर निकलने के पहले सनस्क्रीन का इस्तेमाल बेहद ज़रूरी है, क्योंकि यह आपकी त्वचा को सूर्य की हानिकारक यूवी किरणों से बचाता है. यह आपकी त्वचा को टैन होने से भी बचाता है. अत: इस प्रोडक्ट को कम आंकने की ग़लती न करें और नियमित रूप से इसका इस्तेमाल करें.

 बीब्यूटिफ़ुल टिप: अपनी त्वचा के अनुसार सनस्क्रीन चुनें और इसका नियमित रूप से इस्तेमाल करें, भले ही मौसम धूप वाला हो या फिर आसमान में बदली छाई हो.