जब आपका शरीर सेहतमंद होगा तो आपकी त्वचा पर स्वस्थ चमक अपने आप नज़र आएगी. त्वचा संबंधी समस्याओं के लिए तनाव, प्रदूषण (पलूशन) और ख़राब जीवनशैली ज़िम्मेदार हैं. यदि आप रोज़ाना, योग और ध्यान यानी मेडिटेशन का अभ्यास करती हैं तो न सिर्फ़ इससे आपके मन को शांति मिलती है, बल्कि पूरे शरीर का रक्त संचार भी सुधरता है. इससे आपकी त्वचा में लुनाई यानी सेहतभरी चमक आती है. कुछ योगासन तंत्रिका तंत्र यानी नर्वस सिस्टम को उत्तेजित करते हैं और मस्तिष्क तक अधिक ऑक्सिजन पहुंचाते हैं, ये चयापचय यानी मेटाबॉलिज़्म की दर को भी बढ़ाते हैं. इन सभी का मिलाजुला असर यह होता है कि आपकी त्वचा भीतर से स्वस्थ होती है.

यहां हम आपको पांच ऐसे योगासनों के बारे में बता रहे हैं, जो स्वस्थ शरीर और मन के साथ-साथ आपको दमकती हुई त्वचा भी प्रदान करेंगे...

उत्तानासन
 

उत्तानासन

उत्तानासन में सामने की ओर झुकना होता है, जिससे आपके चेहरे पर रक्त संचार बढ़ता है. इसकी वजह से यह आसन दमकती हुई त्वचा पाने के लिए बहुत कारगर है. इस आसान का अभ्यास करने से आपके चेहरे की कोशिकाओं यानी सेल्स में ऑक्सिजन और अन्य पोषक तत्वों का संचार होता है, जिसे त्वचा खिली-खिली और जवां नज़र आती है.

त्रिकोणासन
 

त्रिकोणासन

त्रिकोण यानी ट्राइऐंगल के आकार के इस आसान से आपके हृदय, छाती और फेफड़ों में ज़्यादा मात्रा में ऑक्सिजन पहुंचती है, जो आपकी त्वचा में भी वितरित होती है. इस आसन को करने से चेहरे और सिर का रक्त संचार बढ़ता है. साथ ही आपकी बांहें, जांघें और पैर सुडौल बनते हैं यानी टोन होते हैं.

शिशुआसन
 

शिशुआसन

शिशु यानी छोटा बच्चा. जिस तरह छोटे बच्चे सोते हैं यह आसान उसी तरह किया जाता है. शिशुआसन पीठ, कंधों और छाती के तनाव को कम करता है. यह सिर की ओर रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है, जिसकी वजह से हमारे चेहरे पर ताज़गी और चमक आती है.

भुजंगासन
 

भुजंगासन

भुजंग का अर्थ होता है-सांप. भुजंगासन उन कुछ आसनों में से है, जो हमारे पूरे शरीर को सेहत से जुड़े कई तरह के फ़ायदे पहुंचाते हैं. फन उठाए सांप (कोबरा) जैसी स्थिति वाले इस आसान को करने से तनाव और चिंता में कमी होती है. शरीर की यह स्थिति स्किन सेल्स को ऑक्सिजन वितरित करती है, जिससे इन सेल्स में जमा ज़हरीले पदार्थ शरीर के बाहर निकल जाते हैं.

ताड़ासन
 

ताड़ासन

सीधे खड़े रह कर किया जाने वाला इस आसन-ताड़ासन, में लयमय सांसों पर ध्यान केंद्रित किया जाता है, जो सेहतमंद त्वचा पाने के सबसे ज़रूरी तत्वों में से एक है. यह हमारे शरीर के निचले हिस्से को मज़बूत बनाने के साथ-साथ पेट और नितंबों को सुदृढ़ बनाने में भी सहायक है. वहीं पर्वतासन आपके शरीर के पॉस्चर को सुधार कर नुक़सानदेह ज़हरीले पदार्थों को शरीर के बाहर निकालता है, जिससे हमारी त्वचा हेल्दी और दमकती हुई नज़र आती है.