यदि आपको सीरम्स के बारे में ज़्यादा जानकारी नहीं है तो हम बताए देते हैं कि स्किन सीरम आपके रोज़मर्रा के स्किनकेयर रूटीन का हिस्सा होना ही चाहिए. सीरम्स आपकी त्वचा के भीतर ऐसी सक्रिय सामग्रियों की खेप पहुंचा देते हैं, जो आपकी त्वचा से जुड़ी किसी ख़ास समस्या का समाधान करने में पूरी तरह सक्षम होती हैं. यहां यह बात ध्यान देने वाली है कि सभी सीरम्स एक जैसे नहीं होते, वे किसी ख़ास समस्या के समाधान के लिए बनाए जाते हैं.

यदि आपको इस बारे में और जानकारी चाहिए कि आपकी त्वचा के लिए कौन-सा सीरम अच्छा रहेगा तो इस आलेख को पढ़ना बनता है, क्योंकि यहां हम आपकी त्वचा के प्रकार के लिए बेहतरीन सीरम चुनने के टिप्स दे रहे हैं...

उम्रदराज़ होती हुई त्वचा
 

उम्रदराज़ होती हुई त्वचा

आदर्श स्थिति की बात करें तो आपको अपनी उम्र के दूसरे दशक के मध्य यानी 25 वर्ष की उम्र से ही ऐंटी-एजिंग प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल शुरू कर देना चाहिए. आपको ऐसे सीरम्स का चुनाव करना चाहिए, जो कोशिकाओं को निर्माण बढ़ा कर आपकी त्वचा को पुनर्जीवित करें और कोलैजन के उत्पादन को बढ़ाएं. हमें लैक्मे यूथ इन्फ़िनिटी स्किन फ़र्मिंग सीरम ख़ासा पसंद आया, क्योंकि यह डार्क स्पॉट्स और दाग़-धब्बों को कम करते हुए चेहरे की बारीक़ रेखाओं को भी हल्का करता है. इसकी हल्की चमकदार फ़िनिश चेहरे को सेहतभरी चमक देती है.

रूखी यानी ड्राइ त्वचा
 

रूखी यानी ड्राइ त्वचा

यदि आपकी त्वचा ड्राइ है तो आपको गहराई से हाइड्रेट करने के गुणों से भरे इन्ग्रीडिएंट्स वाला सीरम चाहिए होगा, जैसे- ग्लिसरीन युक्त सीरम. हम आपको लैक्मे ऐब्सलूट स्किन ग्लॉस रिफ़्लेक्शन सीरम के इस्तेमाल की सलाह देंगे. इसे ऐक्वस वेल और ग्लेशियल वॉटर के साथ बनाया गया है. यह हल्का यानी लाइटवेट सीरम है, जो आपकी पपड़ीदार त्वचा में आसानी से अवशोषित हो जाता है और उसे आभावान व पोषण से भरा दिखाता है.

फीकी और निस्तेज त्वचा
 

फीकी और निस्तेज त्वचा

सही सीरम का इस्तेमाल फीकी और निस्तेज त्वचा को बहुत प्रभावी तरीक़े से सेहतमंद त्वचा में बदल देता है. सीरम्स काले धब्बों यानी डार्क स्पॉट्स को कम करते हैं और हाइपरपिग्मेन्टेशन की वजह से असमान हुई त्वचा की रंगत को एक समान बनाते हैं. ऐंटीऑक्स्डिेंट्स वाले सीरम्स फीकी त्वचा को शानदार दिखाने में बहुत कारगर होते हैं यही वजह है कि हमें लैक्मे ऐब्सलूट पर्फ़ेक्ट रेडिअन्स स्किन लाइटनिंग सीरम के नतीजे बहुत पसंद आए.

सामान्य से तैलीय यानी ऑइली त्वचा
 

सामान्य से तैलीय यानी ऑइली त्वचा

सीरम को चेहरे पर लगाने का सबसे उपयुक्त समय है, जब आप रात की नींद लेने जा रही हों ठीक उसके पहले. क्योंकि जब आप सो रही होंगी, तब यह आपकी त्वचा में रक्त के संचार को बढ़ा देगा. रात के समय जब आपकी त्वचा ख़ुद ही ख़ुद की मरम्मत भी कर रही होती है तब लैक्मे ऐब्सलूटआर्गन ऑइल रेडिअन्स ओवरनाइट ऑइल-इन-सीरम को भी अपना काम करने दें. यह आपकी त्वचा की रंगत और उसकी कसावट को सुधारने का काम करेगा. सीरम्स को मॉइस्चराइज़र की जगह इस्तेमाल करने की ग़लती न करें, क्योंकि इन्हें मॉइस्चराइज़र के अलावा इस्तेमाल करने से आपको ज़्यादा फ़ायदा पहुंचेगा.