बरसात का मौसम किसे सुहावना नहीं लगता। जहाँ ये मौसम गर्मी से सुकून देता है वहीँ, कई तरह की परेशानियां भी लाता है. बरसात के मौसम में अक्सर हवा में नमी बढ़ जाती है, जिससे बैक्टीरिया को बढ़ावा मिलता है. यही कारण है कि इस मौसम में बैक्टीरियल और वायरल इन्फेक्शन्स होना बहुत आम बात है. खासतौर पर जिनकी स्किन सेंसिटिव है, उन्हें इस मौसम में स्किन इन्फेक्शन के कारण काफी परेशानी उठानी पड़ती है.

अब चाहे आपको यह बरसाती मौसम पसंद हो या नहीं, इससे छुटकारा तो आप नहीं पा सकते, लेकिन कुछ बातें अपनाकर आप फंगल इन्फेक्शन से राहत ज़रूर पा सकती हैं.

 

01. बंद फुटवेअर न पहनें

01. बंद फुटवेअर न पहनें

ऐसे फुटवेअर न पहनें, इससे आप के पैर पूरी तरह ढँक जाएँ। इसकी जगह आप वही फुटवेअर पहनें, जो मानसून के लिए ही बने होते हैं. इससे बारिश का गन्दा पानी आपके जूतों में इकट्ठा नहीं होगा और आप फंगल इन्फेक्शन से बच सकते हैं. यदि गलती से आपका पाँव गंदे पानी या कीचड़ में धंस गया है तो तुरंत उसे धो लें या पोंछ लें, ताकि स्किन इन्फेक्शन का खतरा न हो.

 

02. भीगे कपड़ों को ज़्यादा देर तक पहने न रहें

02. भीगे कपड़ों को ज़्यादा देर तक पहने न रहें

अगर आप बारिश में भीग गई हैं तो बेहतर होगा कि आप जल्दी ही अपने भीगे हुए कपड़ों को बदल लें. साथ ही मोजे और अंडरगार्मेंट्स भी बदल लें. यदि आप ये सोच कर अपने भीगे हुए कपड़े नहीं उतार रही हैं कि ये खुद-ब-खुद ही सूख जाएंगे, तो आप गलती कर रही हैं, इससे फंगल इन्फेक्शन हो सकता है. अपने शरीर और चेहरे को पूरी तरह से साफ़ करें, सूखे कपड़े पहनें और इन्फेक्शन होने के खतरे को टालें।

 

03. एंटी-फंगल पाउडर लगाएं

03. एंटी-फंगल पाउडर लगाएं

नहाने के बाद रोज़ाना एंटी फंगल डस्टिंग पाउडर लगाएं। पैरों व उँगलियों में पाउडर लगाकर मोजे पहनें। इसी तरह रात को सोने के पहले भी एंटी-फंगल पाउडर लगाएं। इस तरह आप बैक्टीरिया इन्फेक्शन से बची रह सकती हैं.

 

04 खुजली करने से बचें

04 खुजली करने से बचें

यदि आपको शरीर के किसी भाग पर खुजली हो रही है तो खुजली न करें, बल्कि तुरंत उसे पानी या किसी एंटी बैक्टीरियल साबुन से धो लें. इसके बावजूद भी अगर खुजली लगातार बनी हुई है तो डॉक्टर को दिखाएं। ताकि आपको सही इलाज़ मिले और आप राहत पा सकें।