बारिश का मौसम भला किसे पसंद नहीं होता। रिमझिम की फुहार, लॉन्ग ड्राइव और म्यूज़िक का साथ, इन सब का मज़ा मॉनसून में ही तो है। लेकिन यही मौसम कुछ परेशानियां भी लेकर आता है, जैसे स्किन का बहुत ज़्यादा ऑयली होना, फ्रिज़्ज़ी हेयर और स्किन इन्फेक्शन। खैर, ऐसी कोई प्रॉबलम नहीं है, जो एसेंशियल ऑयल हैंडल न कर सके।

एसेंशियल ऑयल्स बहुत पावरफुल नैचुरल इंग्रेडिएंट्स हैं, जो हमें पेड़ों और फलों से प्राप्त होते हैं। इनमें रोग को ठीक करने और रेजुवेनेटिंग प्रोपर्टी होती है। यदि आपको स्किन पर पिम्पल हो गए हैं, स्किन इन्फेक्शन हो गया है या मॉनसून के कारण हेयर प्रॉबलम हो गया है, तो एसेंशियल ऑयल को अपने ब्यूटी केयर रूटीन में शामिल करें। हम आपको बता रहे हैं मानसून में होने वाली प्रॉब्लम्स और कैसे उनसे निपटा जाय।

 

ज़्यादा ओयलीनेस के लिए यलैंग-यलैंग ऑयल

ज़्यादा ओयलीनेस के लिए यलैंग-यलैंग ऑयल

मॉनसून में ऑयली स्किन और ज़्यादा ऑयली और डल हो जाती है। यलैंग – यलैंग एसेंशियल ऑयल में मुंहासों को दूर करने की क्षमता है। यह पोर्स को क्लोग नहीं करता यानि यह स्किन को चिपचिपा नहीं होने देता है। यह ऐक्ने से लड़ने में मदद करता है, स्किन की इलास्टिसिटी बढ़ाता है और साथ ही फाइन लाइंस और रिंकल्स को कम करता है। यलैंग – यलैंग की कुछ बूंदों को मॉइश्चराइज़र या जोजोबा ऑयल में मिलकर फ़ेस पर लगाएं। इससे आपकी स्किन का ऑयलीनेस कंट्रोल होगा।