गर्मियों का मौसम तब तक बहुत अच्छा लगता है, जब तक कि आपको घमौरियां यानी हीट रैशेज़ न हो जाएं... यूं तो हर मौसम के अपने फ़ायदे और नुक़सान हैं और गर्मियां भी इससे अछूती नहीं हैं. गर्मियों में आप जहां बीच पर जाने वाली ख़ुशनुमा छुट्टियों और मॉकटेल्स का लुत्फ़ उठाती हैं, वहीं यह मौसम त्वचा से जुड़ी बहुत सारी ऐसी समस्याएं भी लाता है, जो आपको बिल्कुल पसंद नहीं आती होंगी.

खुजली वाले रैशेज़ और मुहांसों से लेकर त्वचा के रूखेपन और सनबर्न तक; गर्मी के मौसम और प्रदूषण (पलूशन) का ये ख़तरनाक कॉकटेल आपकी त्वचा के लिए बेहद नुक़सानदेह साबित हो सकता है, जिससे आपकी त्वचा फीकी, निस्तेज और डीहाइड्रेटेड नज़र आती है. यदि आप गर्मियों में होने वाली त्वचा से जुड़ी समस्याओं से निपटने का कोई तोड़ ढूंढ़ रही हैं तो आप सही आलेख पढ़ रही हैं! हमने यहां इन समस्याओं से निपटने के तरीक़ों को सहेज रखा है... आप बस, पढ़ती जाइए!

मुहांसों का होना
 

मुहांसों का होना

गर्मी, नमी, पसीना और चेहरे पर आने वाला अतिरिक्त तेल यानी ऑइल; ये सभी चीज़ें मुहांसों के लिए संवेदनशील त्वचा पर गंभीर असर डालती हैं. त्वचा पर मौजूद बैक्टीरिया और पसीने का मेल होता है तो त्वचा के रोमछिद्र यानी पोर्स बंद हो जाते हैं, जिसकी वजह से मुहांसे बनते हैं.

कैसे करें इसका इलाज: इस स्थिति से निपटने के लिए आपको बुनियादी बातों पर ध्यान देना होगा, जैसे- दिन में दो बार अपने चेहरे को अच्छी तरह साफ़ यानी क्लेंज़ करें. इसके लिए हम आपको पॉन्ड्स प्योर वाइट ऐंटी पलूशन विद ऐक्टिवेटेड चारकोल फ़ेस वॉश के इस्तेमाल की सलाह देंगे, जो आपके चेहरे से पलूशन, धूल-गंदगी के कणों और अशुद्धियों को हटा कर त्वचा को साफ़-सुथरा और चमकदार बना देता है. जब आप घर से बाहर हों तो चेहरे पर आए हुए पसीने को पोंछने की बजाए इसे ब्लॉट कर के सुखाएं. चेहरे को रगड़ कर पोंछने से आपकी त्वचा पर जलन हो सकती है या लालिमा आ सकती है.

खुजली वाली त्वचा
 

खुजली वाली त्वचा

हालांकि हम अक्सर रूखी त्वचा यानी ड्राइ स्किन को ठंड के मौसम से जोड़ कर देखते हैं, लेकिन यह गर्मियों में भी त्वचा से जुड़ी एक बड़ी और आम समस्या है. सूरज के प्रकाश में बहुत अधिक समय बिताना, स्विमिंग पूल में लंबा वक़्त बिताना या फिर लंबे समय तक एसी में रहने की वजह से भी आपकी त्वचा में रूखापन और खुजली की समस्या दोनों ही हो सकते हैं. जब क्लोरीन वाला स्विमिंग पूल का या नमक वाला समंदर का पानी आपकी त्वचा पर सूखता है तो आपकी त्वचा में नमी की कमी हो जाती है.

कैसे करें इसका इलाज: सबसे पहले तो यह ध्यान रखें कि यदि आप गर्मियों में रोज़ाना स्विमिंग के लिए जा रही हैं तो पूल से बाहर निकलते ही स्नान करना यानी शावर लेना न भूलें. स्नान के दौरान सौम्य बॉडी वॉश का इस्तेमाल करें, जैसे- डव गो फ्रेश नरिशिंग बॉडी वॉश, जो त्वचा के मॉइस्चर अवरोध को बनाए रखता है और आपको कोमल व चिकनी त्वचा प्रदान करता है. घर से बाहर निकलने के 15 मिनट पहले अधिक एसपीएफ़ वाला सनस्क्रीन लगाएं, जैसे- लैक्मे सन एक्स्पर्ट एसपीएफ़ 24 पीए +++ यूवी लोशन लाइट फ़ील जो सूर्य की हानिकारक यूवीबी किरणों को 97 प्रतिशत तक ब्लॉक कर देता है.  

घमौरियां या हीट रैशेज़
 

घमौरियां या हीट रैशेज़

त्वचा पर मौजूद पसीने की ग्रंथियों के बंद हो जाने से रैशेज़ और छोटे-छोटे खुजली वाले उभार हो सकते हैं. क्योंकि पसीना यहां से बाहर नहीं निकल पाता और यह आपकी त्वचा की सतह के नीचे जमा होने लगता है, इससे आपकी त्वचा की सेहत ख़राब हो जाती है.

कैसे करें इसका इलाज: घमौरियों को दूर करने के लिए बहुत ज़रूरी है कि आप गर्मियों में हल्के, ढीले-ढाले सूती यानी कॉटन के कपड़े पहनें. यदि आप घर से बाहर किसी पार्क या मैदान में एक्सरसाइज़ करती हैं तो हम आपको या तो बिल्कुल सुबह-सुबह या फिर शाम को सूरज डूबने के बाद, जब मौसम थोड़ा ठंडा हो जाए तभी बाहर जाने की सलाह देंगे.