रूखी त्वचा यानी ड्राइ स्किन की देखभाल मुश्क़िल से भरी होती है. हमें पता है कि ड्राइ स्किन होने की वजह से अप अपने पसंदीदा मॉइस्चराइज़र पर पूरी तरह आश्रित रहती हैं. बेशक़ ये बात पूरी तरह सही है कि मॉइस्चराइज़र आपके चेहरे पर हाइड्रेशन बढ़ा कर त्वचा को नम बनाते हैं, वहीं तब क्या हो यदि आप ऐसी आदतें अपना लें, जो आपकी त्वचा को डीहाइड्रेट होने से बच लें? यह तो आपकी त्वचा के लिए यह कहीं ज़्यादा कारगर होगा... है ना? इसीलिए तो हम यहां उन पांच आदतों के बारे में बता रहे हैं, जिनकी वजह से त्वचा में रूखापन आता है. तो इनके बारे में जानिए और इन आदतों में सुधार ला कर त्वचा को ड्राइ होने से बचाइए.

1.	आप ज़रूरत से ज़्यादा क्लेंज़ कर रही हैं
 

1. आप ज़रूरत से ज़्यादा क्लेंज़ कर रही हैं

जहां त्वचा को क्लेंज़ करना इसकी देखभाल का अहम् हिस्सा है, वहीं ज़रूरत से ज़्यादा क्लेंज़ करने से आपकी त्वचा पर मौजूद प्राकृतिक नमी बनाए रखने वाली प्रक्रिया को नुक़सान पहुंचता है, जिससे आपकी त्वचा और रूखी हो जाती है. यदि आपकी त्वचा भी रूखी है तो हम आपको लैक्मे डीप क्लेंज़र क्लेंज़िंग मिल्क जैसे मॉइस्चराइज़िंग क्लेंज़र/  Lakmé Deep Cleanser Cleansing Milk के इस्तेमाल की सलाह देंगे. जो आपकी त्वचा को गहराई से साफ़ करने के साथ-साथ मॉइस्चराइज़ भी करती है. लेकिन साथ ही हम आपको इस बारे में आगाह भी करेंगे कि इसका इस्तेमाल दिन में एक बार से अधिक न करें.

2.	आप सही तरीक़े से मॉइस्चराइज़ नहीं कर रही हैं
 

2. आप सही तरीक़े से मॉइस्चराइज़ नहीं कर रही हैं

हमें पता है कि आप यही सोच रही हैं कि कोई भला ग़लत तरीक़े से मॉइस्चराइज़ कैसे कर सकता है? तो हम बताते हैं कि हम कहना क्या चाहते हैं... मॉइस्चराइज़ करने के लिए तब तक इंतज़ार न करें, जब तक कि त्वचा पूरी तरह से रूखी न महसूस होने लगे. इसकी जगह आपकी त्वचा की प्राकृतिक नमी को मॉइस्चराइज़र लगा कर सील करने की कोशिश करें. स्नान के तुरंत बाद, जब आपकी त्वचा हल्की गीली हो, तभी अपना पसंदीदा मॉइस्चराइज़र उठाएं और उसे त्वचा पर अप्लाइ करें, ताकि यह आपकी त्वचा में पूरी तरह समाहित हो जाए. हमारा पसंदीदा मॉइस्चराइज़र? लैक्मे ऐब्सलूट स्किन ग्लॉस जेल क्रीम/ Lakmé Absolute Skin Gloss Gel Crème जो रूखी त्वचा को मॉइस्चराइज़ कर उसे ग्लॉसी फ़िनिश देता है.

3.	दो एक्स्फ़ॉलिएशन सेशन्स के बीच सही गैप नहीं रखतीं
 

3. दो एक्स्फ़ॉलिएशन सेशन्स के बीच सही गैप नहीं रखतीं

जब आप एक्स्फ़ॉलिएट करती हैं आप सौम्यता से अपनी त्वचा पर मौजूद मृत कोशिकाओं यानी डेड सेल्स को हटाती हैं, जिससे आपकी त्वचा के रोमछिद्र खुलते हैं और आपको चमकदार त्वचा मिलती है. लेकिन जब आप ज़रूरत से ज़्यादा एक्स्फ़ॉलिएट करती हैं तो आपकी त्वचा की प्राकृतिक नमी इससे छिन जाती है, क्योंकि आप डेड सेल्स के साथ-साथ हेल्दी स्किन सेल्स को भी रगड़ कर नुक़सान पहुंचा देती हैं. इससे बचने का सामान्य नियम यह है कि दो एक्स्फ़ॉलिएशन सेशन्स के बीच कम से कम दो सप्ताह का अंतराल रखा जाए, ताकि आपकी त्वचा के नैसर्गिक मॉइस्चर को कोई नुक़सान न पहुंचे.

4.	ज़रूरत से ज़्यादा गर्म पानी का इस्तेमाल, वह भी जल्दी-जल्दी
 

4. ज़रूरत से ज़्यादा गर्म पानी का इस्तेमाल, वह भी जल्दी-जल्दी

एक थकानभरे दिन के बाद गर्म पानी से स्नान करना ललचाने वाला आइडिया लगता है. लेकिन यदि आपकी त्वचा रूखी है तो यह आपके लिए अच्छा नहीं है. आपकी त्वचा पर मौजूद धूल और गंदगी साफ़ करने के साथ-साथ गर्म पानी आपकी त्वचा का नैचुरल मॉइस्चर भी चुरा लेता है. नतीजा? रूखी और खुजली वाली त्वचा! आप गर्म पानी से स्नान करने से ख़ुद को नहीं रोक सकतीं तो पानी को गुनगुना रखें और स्नान के समय को 10 मिनट तक सीमित रखें.

5.	खानपान से जुड़ी आदतें
 

5. खानपान से जुड़ी आदतें

पानी न सिर्फ़ आपके शरीर को हाइड्रेटेड रखता है, बल्कि आपकी त्वचा को भी हाइड्रेटेड रखता है-ख़ासतौर पर जब मौसम ठंड का हो. अपनी रूखी त्वचा को नम बनाए रखने के लिए आपको समय-समय पर पानी पीने को अपनी आदत में शामिल करना होगा. आपको सुनिश्चित करना होगा कि आप दिन में आठ ग्लास पानी पिएं. इसके अलावा अपने खाने में सेहतमंद चीज़ों को चुनें, जैसे-सैमन मछली, अखरोट आदि, जो त्वचा की नमी बरक़रार रखने की क्षमता को बढ़ाते हैं.