अगर आपको लगता है कि ऐक्ने यानी मुंहासों की परेशानी, केवल टीनएजर्स को होती है और यह एक टीन एज प्रॉब्लम है, तो यह आपकी एक ग़लतफहमी होती है, क्योंकि सच्चाई यह है कि ऐक्ने किसी उम्र विशेष तक नहीं रहती है, बल्कि जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, आपकी यह परेशानी भी बढ़ती जाती है। यह परेशानी आपको आपकी 20वें, 30वें, 40वें और 50वें वर्ष की उम्र में भी हो सकती हैं।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि मुंहासों को जड़ से मिटाना आसान नहीं होता है, क्योंकि यह ज़िद्दी दाग छोड़ जाते हैं। लेकिन अगर आप इसे कंट्रोल करना चाहते हैं, तो पहले इसके होने के कारण को जानना और समझना जरूरी है। इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे ज़रूरी कारणों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनकी वजह से मुंहासों की परेशानी होती है और साथ ही इससे कैसे निबटा जाये, वह भी बताएंगे।

 

लेकिन सबसे पहले जानें कि वयस्कों में होने वाले ऐक्ने किस तरह अलग हैं?

लेकिन सबसे पहले जानें कि वयस्कों में होने वाले ऐक्ने किस तरह अलग हैं?

एडल्ट यानी वयस्कों में होने वाली ऐक्ने की प्रॉब्लम को दो अलग-अलग हिस्सों में बांट सकते हैं। एक परसिस्टेंट यानी लगातार होना या लेट -ऑनसेट यानी देर से होना. लगातार होने वाले ऐक्ने किशोरावस्था से लगातार जारी रह सकते हैं, जबकि देर से शुरू होने वाले ऐक्ने यानी लेट-ऑन सेट वाले ऐक्ने उन्हें होते हैं, जिनको ज़रूरी नहीं कि कभी ऐक्ने हुए हों। यह किसी को भी हो सकता है। वयस्कों में होने वाले एक्ने से जलन, स्किन पर दाग-धब्बे वाली परेशानी, स्किन डैमेज जैसी परेशानी बढ़ती है, क्योंकि आपकी बढ़ती उम्र के साथ आपकी स्किन सेल्स के रिपेयर होने की गति भी धीमी हो जाती है। ऐसे में एक्ने को हटाना कठिन होता जाता है और इससे प्रीमैच्योर एजिंग की परेशानी बढ़ जाती है, इसलिए एडल्ट ऐक्ने टीनेज ऐक्ने से अधिक परेशानी का सबब बनता है।

क्यों होते हैं एडल्ट ऐक्ने?

 

1. हार्मोन

1. हार्मोन

ऐक्ने होने का मुख्य कारण हार्मोन्स का असंतुलित होना भी है, यह वयस्कों में होने वाली ऐक्ने की समस्या के सबसे बड़े कारणों में से एक है, क्योंकि हार्मोनल इम्बैलेंस होने से स्किन में जलन होती है और इसका पीएच लेवल भी असंतुलित हो जाता है। इसके अलावा स्किन में सीबम प्रोडक्शन भी बढ़ जाता है , जिसकी वजह से ऐक्ने होने लगता है।

 

2 . इमोशनल और फिज़िकल स्ट्रेस

2 . इमोशनल और फिज़िकल स्ट्रेस

इमोशनल और फिज़िकल स्ट्रेस होने की वजह से भी ऐक्ने की समस्या काफी बढ़ जाती है। इसकी वजह यह है कि आपका एड्रेनल ग्लैंड एक कोर्टिसोल नामक हार्मोन रिलीज़ करता है, जिसकी वजह से कई सारी चीजें प्रभावित होती हैं, जिनमें आपकी पाचनतंत्र, न्यूरोलिजकल सिस्टम वगैरह प्रभावित होते हैं। कोर्टिसोल की वजह से आपकी स्किन पर बैक्टीरिया पैदा होने लगते हैं, जिससे स्किन पर सूजन आती है और जो वयस्क ऐक्ने को पैदा कर सकता है।

 

3 . अनहेल्दी खाना

3 . अनहेल्दी खाना

आपका अनहेल्दी खाना आपकी स्किन के लिए बहुत खराब होता है, इसके लिए बेहद जरूरी है कि आप अलहेल्दी खाने से दूर रहें, इससे भी चेहरे में ऐक्ने की समस्या होती ही है। बहुत ज़्यादा मसालेदार खाना, जंक फ़ूड खाना, जिसमें कोई पौष्टिकता न हो, वैसी चीज़ें खाना आपकी स्किन के लिए नुकसानदायक होता है। इससे चेहरे में कई तरह के ब्रेक आउट होते हैं और ऐक्ने की परेशानी बढ़ जाती है। इसलिए जरूरी है कि आप बैलेंस और हेल्दी डायट लें।

 

4 . पीसीओएस की समस्या

4 . पीसीओएस की समस्या

वयस्कों में होने वाली एक्ने की समस्या का एक बड़ा कारण, पीसीओएस की समस्या भी है। पीसीओएस यानी polycystic ovary syndrome भी एक बड़ा कारण है, जिससे ऐक्ने होते हैं। इसमें अनियमित पीरियड होते हैं, चेहरे पर बाल आने जैसी समस्या होती है और वज़न भी बढ़ता जाता है और ये सब कुछ हार्मोनल असंतुलन की वजह से होता है।

 

5 . गलत प्रोडक्ट्स का चुनाव

5 . गलत प्रोडक्ट्स का चुनाव

एडल्ट ऐक्ने की एक बड़ी वजह गलत स्किन केयर प्रोडक्ट और कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स का भी चुनाव है, ये प्रोडक्ट्स जब आपकी स्किन को सूट नहीं करते हैं, तब भी इससे परेशानी होती है। अगर आपकी स्किन ऑयली है, तो इस बात का आपको ध्यान रखना चाहिए कि आप जो प्रोडक्ट्स इस्तेमाल कर रहे हैं, उसमें क्रीमी टेक्सचर हो और वह आपकी पोर्स के लिए हानिकारक न हों, साथ ही आपकी स्किन में ब्रेक आउट्स न होने दें.

 

एडल्ट एक्ने से कैसे करें बचाव

एडल्ट एक्ने से कैसे करें बचाव

एडल्ट ऐक्ने वाकई में जिद्दी होते हैं, इन्हें हटाना या जड़ से मिटाना आसान नहीं होता है, इसलिए ज़रूरी है कि इससे बचा जाये साथ ही आपको ये भी ध्यान रखना है कि स्किन पर ऐक्ने से होने वाले निशान न रहें। इसके लिए नियमित रूप से एक्सफोलिएट करें। इससे ऐक्ने के निशान को कम करने में मदद मिलेगी। हर रोज़ सनस्क्रीन लगाने की आदत डालें, वरना हाइपरपिग्मेंटेशन और पोस्ट-इंफ्लेमेटरी स्कारिंग की समस्या भी शुरू हो जाती है। इसे साथ ही यह भी जरूरी है कि सैलिसिलिक एसिड, निआसिनामाइड और थीमल जैसे इंग्रेडिएंट्स को अपने प्रोडक्ट्स में शामिल करना। ये डेड स्किन सेल्स को फिर से जवां करने में मदद करते हैं और उन बैक्टीरिया का भी काम तमाम करते हैं, जिनकी वजह से ऐक्ने होते हैं। अब अगर आप यह सोच रही हैं कि ये सारी चीज़ें हमें एक जगह पर कहां मिलेंगी, तो इसके लिए Dermalogica Active Clearing Range ! से अच्छा कुछ हो ही नहीं सकता।

इस रेंज में आपको Age Bright Clearing Serum, जिसमें एंटी-एक्ने के तत्व मौजूद हैं, साथ ही इसमें Dermalogica’s unique AGE Bright™ Complex भी होता है, जिससे ऐक्ने को घटाने में मदद मिलती है, इसमें Age Bright Spot Fader भी उपलब्ध है, जिससे स्पॉट ट्रीटमेंट भी किया जा सकता है, साथ ही यह पोस्ट इम्फ्लेटरी डिस्कलरेशन की परेशानी से भी छुटकारा दिलाता है, वहीं Sebum Clearing Masque , अधिक सीबम प्रोडक्शन को बढ़ने से रोकता है और आपके पोर्स को क्लियर करता है, जिससे आपके स्किन में ब्रेक आउट होने की संभावना कम हो जाती है। इसके अलावा इसमें अल्ट्रा लाइट, शीयर और कोमेडोजेनिक ऑयल फ्री Oil Free Matte SPF 30 भी मौजूद है, जो सूर्य से होने वाले नुकसान से बचाता है, जिसकी वजह से ऐक्ने की समस्या होती है। ये सारे प्रोडक्ट्स एडल्ट्स में होने वाले ऐक्ने पर, किसी जादू की तरह काम करते हैं, साथ ही आपकी स्किन की केयर भी करते हैं और उन्हें ड्राई होने से भी बचाते हैं। Dermalogica Active Clearing Range में बेहतरीन एंटी एजिंग बेनिफिट्स होते हैं और साथ ही यह आपके सेल्स को इम्प्रूव करता है और आपकी स्किन की चमक को बरकरार रखता है और साफ़ भी रखता है।