हॉलीवुड की मशहूर सेलिब्रिटी कैमरन डायज़ की उम्र 47 हो चुकी है, लेकिन फिर भी वह जवां नज़र आती हैं। उन्होंने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि उन्होंने अपनी स्किन की केयर तब शुरू की थी, जब उनकी उम्र 20 की थी। उनका मानना है कि आप जितनी कम उम्र से अपने स्किन का ख़याल रखना शुरू करेंगे, उतनी ही आपकी स्किन जवां और शानदार नज़र आएगी। जैसा कि सभी जानते हैं, उम्र को बढ़ने से नहीं रोका जा सकता है, लेकिन अपनी स्किन की केयर सही समय पर शुरू तो की जा सकती है, ताकि उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को कुछ आगे बढ़ाया जा सके। वैसे कैमरन कोई लाइसेंस्ड प्रोफेशनल नहीं हैं, लेकिन उनका अपना पर्सनल अनुभव, इस सच को दर्शाता है कि एंटी एजिंग स्किन केयर रूटीन जितनी जल्दी शुरू कर दी जाए, उतना ही स्किन के लिए अच्छा है। इन सब बातों को आप बेहतर तरीके से समझ सकें, इसके लिए इस बारे में हमने बात की स्किन एक्सपर्ट डॉ अनुप्रिया गोयल, MBBS, MD, DPD (UK) Dermatologist and Medical Director Berkowits Hair and Skin Clinics से, जिन्होंने इसके बारे में कई ज़रूरी जानकारी दी हैं। वह बताती हैं कि एंटी एजिंग उन लोगों के लिए बड़ी परेशानी है, जो हमेशा खूबसूरत दिखना चाहते हैं। आजकल हर उम्र के लोग स्किन स्पेशलिस्ट के पास जाने लगे हैं और इन सभी की तरफ से हमेशा एक प्रश्न ज़रूर सामने आता है कि एंटी एजिंग स्किन केयर शुरू करने का सही वक़्त, आखिर क्या है ?

 

एंटी एजिंग स्किन रूटीन शुरू करने का सही वक़्त क्या है ?

एंटी एजिंग स्किन रूटीन शुरू करने का सही वक़्त क्या है ?

इस बारे में डॉ अनुप्रिया गोयल कहती हैं, “25 साल की उम्र से पहले हमारी स्किन काफी कोलेजन और इलास्टिन टिशूज़ बनाती है। इसके बाद कोलेजन और इलास्टिन नीचे जाने लगती है और इसकी वजह से ही लाइन्स और झुर्रियां दिखनी शुरू हो जाती है, इसलिए 25 साल की उम्र से ही एंटी एजिंग स्किन केयर रूटीन की शुरुआत कर देनी चाहिए। क्योंकि 35 साल की उम्र के बाद, कोलेजन और इलास्टिन सिंथेसिस में गिरावट आ जाती है।“ इसलिए अगर आपकी उम्र 25 से ज्यादा है, और आपने अब तक इसकी शुरुआत नहीं की है तो, यही वह समय है कि आपको इसकी शुरुआत कर देनी चाहिए।

 

एक अच्छा एंटी एजिंग स्किनकेयर रूटीन

एक अच्छा एंटी एजिंग स्किनकेयर रूटीन

अपनी स्किन या चेहरे पर समय से पहले झाइयां, डार्क स्पॉट्स, ड्राइनेस और झुर्रियों को नज़र आने से रोकने के लिए बेहद ज़रूरी है कि सुबह-शाम दोनों वक़्त स्किन केयर रूटीन को फॉलो किया जाए. डॉ गोयल ये सलाह देती हैं नीचे लिखे स्टेप्स फॉलो करने की.

स्टेप 1 : सुबह सबसे पहले अपने चेहरे को साफ़ करें। चेहरे को साफ़ करने के लिए माइल्ड क्लींज़र फेस वॉश का इस्तेमाल करें, ऐसे फेश वॉश जो कि आपकी स्किन से मोइश्चर एब्ज़ोर्ब न करें।

स्टेप 2 : क्लींज़र के बाद आपको विटामिन सी युक्त सीरम लगाना चाहिए, यह आपको रेडिकल इंजरी से लड़ने में मदद करेगा।

स्टेप 3 : अगला स्टेप है मोइश्चर और सनस्क्रीन लगाना। मोइश्चर लगाने के बाद यह बेहद ज़रूरी है कि सनस्क्रीन लगाया जाये। अगर आप घर पर हैं, तब भी सनस्क्रीन लगाना एक भी दिन न भूलें। हो सके तो SPF 30 का इस्तेमाल करें। फिंगर टिप पर थोड़ा-सा सनस्क्रीन लें और डोट्स के रूप में अपने फेस और गर्दन पर लगायें।

नाइट रूटीन

डॉ गोयल सलाह देती हैं, “अगर आपको अपनी स्किन जवां देखनी है तो सोने से पहले स्किन केयर रोटटेन बनाएं। इसके लिए सबसे पहले अपने चेहरे को अच्छी तरह धो लें। इसके बाद रेटिनॉल युक्त सीरम लगाएं, इसके बाद सेरामाइड्स, ग्लिसरीन और हाइलूरोनिक एसिड युक्त मोईश्चराइज्ड क्रीम लगाएं, जो कि चेहरे की नमी को बरकरार रखे।"

 

एंटी -एजिंग स्किन केयर रूटीन शुरू करने के कुछ बढ़िया और आसान टिप्स

एंटी -एजिंग स्किन केयर रूटीन शुरू करने के कुछ बढ़िया और आसान टिप्स

स्किन केयर रूटीन की शुरुआत आखिर कैसे की जाये ? हमें डॉ गोयल से इस बारे में बातचीत की है और फिर उन्होंने कई सलाह दिया है। वह कहती हैं, “एंटी एजिंग स्किन केयर के लिए पहला स्टेप यही है कि आप अपनी स्किन को जितना मोईश्चराइज़ हो सकता है, उतना करें।“ इसके बाद कुछ ज़रूरी बातें हैं, जिनका ख़याल एंटी एजिंग रूटीन में फॉलो किया जाना चाहिए।

  • एक अच्छे एंटी एजिंग रूटीन में कोलेजन-बूस्टिंग प्रोडक्ट्स, जिसमें रेटिनॉइड, AHAs, हाइलूरोनिक एसिड, एंटीऑक्सिडेंट, जैसे- विटामिन सी, ग्लूटाथियोन, पेप्टाइड्स और स्टेम सेल एक्सट्रैक्ट्स हों, उन्हें ज़रूर शामिल करना चाहिए। ये एडिटिव्स एक्सफोलिएशन और ह्यूमिडिकेशन में भी मदद करते हैं और सेल को नया करने में भी सहायक साबित होते हैं। साथ ही स्किन को मॉइस्चराइज़ भी करते हैं।
  • धूप या सूर्य की किरणें, एजिंग का मुख्य कारण हैं, इसलिए कोशिश होनी चाहिए कि तेज़ धूप में बाहर न निकलें। या फिर बाहर जाना ही हो तो सनस्क्रीन लगाए बगैर न जाएं। SPF 30 सनस्क्रीन लगाएं।
  • समय-समय पर आप, कोलेजन बूस्टिंग ट्रीटमेंट जैसे फोटो फेशियल्स, माइक्रोडर्माब्रेशन, कोलेजन इंडक्शन थेरेपी और पीआरपी ट्रीटमेंट आदि के लिए क्लीनिक भी जा सकते हैं। तो उम्र चाहे बढ़ती रहे, लेकिन हमारी ख़ूबसूरती बरक़रार रहनी चाहिए।