ऐक्ने, ब्लैकहेड्स, ड्रायनेस आदि ऐसी समस्याएं हैं, जो ज़रूरी नहीं कि हर लड़की को हो। इसका होना आपके स्किन टाइप और बाहरी कंडीशन पर निर्भर करता है। लेकिन उम्र का बढ़ना, चेहरे पर झुर्रियां आना- इन्हें भला कौन रोक पाया है और हम सभी को वक़्त के साथ इसका सामना करना पड़ता है। हमारी लाइफस्टाइल और प्रदूषण आदि के चलते लोगों में उम्र बढ़ने के लक्षण समय से पहले नज़र आने लगे हैं। इसीलिए डर्मेटोलोजिस्ट सलाह देते हैं 25 के बाद एंटी एजिंग प्रोडक्ट्स लगाने की।

स्किन की केयर का सही तरीका क्या है और उम्र बढ़ने के संकेतों से कैसे निपटा जाय- इन सबके बारे में समझने के लिए हमने बात की फ़िजिशियन डॉक्टर पल्लवी सुले से। उन्होने हमें एंटी एजिंग टिप्स के बारे में बताया और ये भी कि अपने 20वें, 30वें और 40वें साल में स्किन के लिए कौन से इंग्रेटीएंट्स यूज़ करने चाहिए, ताकि आप दिखें यंग।

 

20 वें में कैसे करें एंटी एजिंग स्किन केयर

20 वें में कैसे करें एंटी एजिंग स्किन केयर

“यदि आपने अब तक सनस्क्रीन का इस्तेमाल नहीं किया है, तो इसकी शुरुआत कर दीजिये। यह पहला प्रोडक्ट है, जो स्किन को धूप से होने वाली एजिंग से बचाता है। झुर्रियों और फाइन लाइंस को सनस्क्रीन से थोड़ा आगे बढ़ाया जा सकता है,” सलाह देती हैं डॉक्टर सुले। आपको अपने 20वें साल में सनस्क्रीन लगाने के अलावा इंग्रेडिएंट बेस्ड प्रोडक्ट्स लगाने पर भी ध्यान देना चाहिए, ताकि कोलेजन और इलास्टिन की कमी न हो। इसके लिए आपको ऐसे प्रोडक्ट्स देखने चाहिए, जिसमें विटामिन सी हो, क्योंकि ये कोलेजन को बढ़ाते हैं, स्किन में कसाव लाते हैं और आपको हेल्दी ग्लो देते हैं।

 

30 वें में कैसे करें एंटी एजिंग स्किन केयर

30 वें में कैसे करें एंटी एजिंग स्किन केयर

जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, आपकी बॉडी कोलेजन और इलास्टिन प्रोड्यूस करना बंद कर देती है। और ऐसे समय आपको ज़रूरत होती है अपने स्किन केयर रूटीन में एक ऐक्टिव इंग्रेडिएंट शामिल करने की, ताकि रिंकल्स और फाइन लाइंस से बचा जा सके। इस बारे में डॉक्टर सुले कहती हैं, “अपने उम्र के 20वें साल में विटामिन सी के इस्तेमाल के बाद जब आप 30वें में कदम रखती हैं, तब आपको स्किन केयर के लिए रेटिनोल बेस्ड प्रोडक्ट शामिल करना चाहिए। डीपिग्मेंटेशन एजेंट्स, जैसे- नियासिनामाइड, कोजिक एसिड आदि को यूज़ करें, ये स्किन की रिकवरी मे मदद करते हैं, क्योंकि इस उम्र में स्किन पर ब्राउन स्पॉट्स होना आम बात है।“ इसके अलावा स्किन को दिन में बार मोइश्चराइज्ड करें और हर कुछ घंटे में सनस्क्रीन लगाना न भूलें।

 

40 वें में कैसे करें एंटी एजिंग स्किन केयर

40 वें में कैसे करें एंटी एजिंग स्किन केयर

40वें वर्ष के बाद स्किन ड्राय होने लगती है और बढ़ती उम्र के संकेत स्पष्ट तौर से नज़र आने लगते हैं। हैवी क्रीम और सीरम की जगह लाइट वेट प्रोडक्ट्स यूज़ करें, क्योंकि हैवी क्रीम्स स्किन में अंदर तक नहीं जाती। डॉक्टर सुले कहती हैं, “ रेटिनोल जो कि एजिंग के साइन को दूर करती है, को शामिल करने के साथ-साथ आपको ह्यालूरोनिक एसिड बेस्ड मोइश्चराइज़र भी यूज़ करना चाहिए, ताकि यह आपकी स्किन को ड्राय होने से रोके। 40वें वर्ष में आपके लिए क्लीनिकल ट्रीटमेंट, जैसे- स्किन लाइटनिंग फेशियल्स इस्तेमाल करना ज़रूरी हो जाता है। “

मुख्य फ़ोटो: @ saraalikhan95