जब आप स्किनकेयर रूटीन से संबंधित स्किनकेयर प्रोडक्ट्स ख़रीदती हैं तो बहुत जांच-परख के सही मॉइस्चराइज़र, सनस्क्रीन, आइ क्रीम और स्पॉट ट्रीटमेंट का चुनाव करती हैं, लेकिन इतनी ही सावधानी फ़ेस वॉश ख़रीदते समय नहीं रखती हैं. इसकी मुख्य वजह शायद यह है कि बाक़ी सभी स्किनकेयर प्रोडक्ट्स तो आपकी त्वचा में अवशोषित होते हैं, लेकिन क्लेंज़र तो एक मिनट बाद ही धुलकर निकल जाता है, है ना?

तो जान लीजिए कि ऐसा करना सही नहीं है, क्योंकि क्लेंज़र भी स्किन केयर रूटीन के लिए उतना ही महत्वपूर्ण है. यह आपकी त्वचा की देखभाल करने के रूटीन का पहला क़दम है और यदि आपका पहला क़दम सही हो तो समझिए आधी बात वहीं बन जाती है. त्वचा से जुड़ी कई समस्याएं वहीं ख़त्म हो जाती हैं.

यदि आपकी त्वचा मुहांसों के लिए संवेदनशील है तो हम बता रहे हैं कि अपनी त्वचा के प्रकार यानी स्किन टाइप के अनुसार क्लेंज़र का चुनाव कैसे करें.

 

हमारी सलाह

हमारी सलाह

* मुहांसों के लिए संवेदनशील यानी ऐक्ने-प्रोन त्वचा अक्सर ऑइली होती है, लेकिन त्वचा को बहुत ज़्यादा रूखा बनाने वाले क्लेंज़र का इस्तेमाल, इससे बचने का सही तरीका नहीं है. त्वचा से प्राकृतिक तेल के हट जाने से सीबम और ज़्यादा तेज़ी से काम करने लगता है. यह और अधिक तेल यानी ऑइल का उत्पादन करने लगता है.

* यदि आप जिस क्लेंज़र का इस्तेमाल कर रही हैं, वो आपकी त्वचा को रूखा, कसा हुआ और असहज बना देता है तो आपको क्लेंज़र बदल लेना चाहिए.

* केवल इसलिए कि कोई क्लेंज़र महंगा है, ज़रूरी नहीं कि वह आपकी त्वचा के लिए बेहतर ही होगा. बहुत से कम महंगे क्लेंज़र भी बहुत अच्छे होते हैं.

 

अच्छे इन्ग्रीडिएंट्स

अच्छे इन्ग्रीडिएंट्स

*बीएचएज़ (BHAs): ये ऑइली त्वचा, ब्लैकहेड्स, वाइटहेड्स, बड़े रोमछिद्रों और दाग़-धब्बों पर लगाम लगाने के लिए बहुत अच्छे होते हैं.

* एएचएज़ (AHAs): अल्फ़ा हाइड्रॉक्सिल ऐसिड त्वचा पर जमी मृत कोशिकाओं को हटाने में, झाइयों को कम करने में और चेहरे पर मौजूद बारीक़ रेखाओं को कम करने में मदद करता है.

* ग्लिसरीन:  ग्लिसरीन हवा में मौजूद नमी को अवशोषित कर के ऑइली स्किन में मॉइस्चर को बनाए रखने का काम करता है. वह भी त्वचा को चिपचिपा बनाए बिना और रोमछिद्रों को बंद किए बिना.

* शहद: त्वचा को नमी देने वाले शहद के ऐंटीबैक्टीरियल और ऐंटीसेप्टिक गुण इसे मुहांसों के लिए संवेदनशी त्वचा के लिए बेहतरीन इन्ग्रीडिएंट बनाते हैं.

 

बुरे इन्ग्रीडिएंट्स

बुरे इन्ग्रीडिएंट्स

* ऐल्कहॉल: यह एक ऐसा इन्ग्रीडिएंट है, जो मुहांसों के लिए संवेदनशील त्वचा के लिए बनाए गए अधिकतर स्किन केयर प्रोडक्ट्स में पाया जाता है. यह त्वचा को बहुत रूखा बना सकता है और यदि आपकी त्वचा ऐक्ने-प्रोन है तो आपको ऐल्कहॉल रहित प्रोडक्ट्स का ही इस्तेमाल करना चाहिए.

* मिनरल ऑइल: मिनरल ऑइल त्वचा के रोमछिद्रों को बंद कर देता है और यही वजह है कि ऐक्ने-प्रोन त्वचा के लिए इसका इस्तेमाल ठीक नहीं होता. यदि रोमछिद्र बंद होंगे तो ब्लैकहेड्स, वाइट हेड्स की समस्या बढ़ेगी और मुहांसों की समस्या और भी ख़राब हो सकती है.

* लैनलिन: इसे त्वचा में जलन, खुजली और एलर्जिक रिऐक्शन्स पैदा करने के लिए जाना जाता है. जहां ये रूखी यानी ड्राइ त्वचा वालों के लिए फ़ायदेमंद हो सकता है, वही ऑइली और मुहांसों के लिए संवेदनशील त्वचा के लिए यह इन्ग्रीडिएंट समस्या पैदा कर सकता है.