स्किन का कॉम्प्लेक्शन बदलना स्किन की एक आम समस्या है। कुछ पैचेज़ शरीर ढंके होने के कारण स्लीव्ज़ या जांघों में छिपे रह जाते हैं, लेकिन जो एरिया एक्स्पोज़ रहता है, जैसे- हाथ और गर्दन, वो धीरे-धीरे डार्क होने लगता है। इस तरह स्किन पर अनइवन यानी असमान रंग नज़र आने लगता है।

सूर्य की रोशनी के संपर्क में आने के अतिरिक्त अनइवन स्किन होने के और भी कई कारण हैं, जैसे- मेलानिन, चोट के निशान, स्किन डैमेज या फिर हाइपरपिगमेंटेशन। अपनी स्किन को फिर से वास्तविक तों में लाना आसान नहीं है। बहुत सारी सावधानियों के अलावा आपको कुछ स्किनकेयर रूटीन भी अपनाने की ज़रूरत है। हम आपको बता रहे है एक ऐसा स्किन केयर रूटीन, जिसे फॉलो करके आप अनइवन स्किन से छुटकारा पा सकती हैं।

 

स्टेप #01: नियमित रूप से एक्सफोलिएट करें

स्टेप #01: नियमित रूप से एक्सफोलिएट करें

इस स्टेप को हम अक्सर अंदरअंदाज़ कर देते हैं। हालांकि आपको रोज़ाना एक्सफोलिएट करने की ज़रूरत नहीं है, लेकिन हफ्ते में एक से दो बार स्किन को एक्सफोलिएट करना ज़रूरी है। अब यदि आप ये सोच रहे हैं कि एक्सफोलिएशन का अनइवन स्किन टोन से क्या लेना-देना, तो हम आपको समझाते हैं। यदि आपकी स्किन का टेक्सचर फाइन लाइंस, बड़े रोमछिद्र या किसी अन्य कारण से सॉफ्ट और स्मूद नहीं है, तो जब आप प्रोडक्ट्स लगाते हैं तो वह इन भाग पर ठीक से नहीं लग पाता, जिससे स्किन टोन अनइवन हो जाता है। यही कारण है कि एक्सफोलिएशन आपको समान स्किन टोन लाने में मदद करता है।

 

स्टेप #02: ड्राय ब्रशिंग

स्टेप #02: ड्राय ब्रशिंग

अपने स्किन केयर रूटीन में ड्राय ब्रशिंग को शामिल करें, क्योंकि यह बहुत फायदेमंद है। आपके फोर्स को क्लियर करने से लेकर डलनेस हटाने तक ड्राय ब्रशिंग उपयोगी है। शुरुआत करें अपने पैरों की ब्रशिंग से और इसके बाद धीरे-धीरे ऊपर की ओर बढ़ें और 5-10 मिनट तक ब्रशिंग करे, फिर नहा लें। नहाते समय पानी को कभी गरम रखें तो कभी ठंडा, ताकि ब्लड सर्क्युलेशन सही हो। ड्राय ब्रशिंग को अपनी आदत बना लें, ताकि स्किन का टोन एक समान हो।

 

स्टेप #03: अपनी स्किन का मोइश्चर लेवल बढ़ाएं

स्टेप #03: अपनी स्किन का मोइश्चर लेवल बढ़ाएं

स्किन के लिए नियमित रूप से मोइश्चराइज़र लगाना उतना ही ज़रूरी है, जैसे नहाना। सेहतमंद स्किन का राज़ है हाइड्रेशन। कोई भी मोइश्चराइज़र या बॉडी लोशन यूज़ खरीदते समय ध्यान रखें कि वही मोइश्चराइज़र खरीदें, जिसमें एएचए और ग्लाइकोलिक एसिड हो, क्योंकि यह ड्राय और फ्लेकी यानी पपड़ीदार पैचेज़ को ट्रीट करता है और स्किन की पूरी देखभाल करता है। आप चाहें तो Vaseline Healthy White Complete 10 Body Lotion ट्राय करें। यह इवन टोन देता है और स्किन को मोइश्चराइज्ड रखता है। दिन में दो बार स्किन पर मॉइश्चराइजर लगाने से स्किन ब्राइट, यंग और हेल्दी रहती है।

 

स्टेप #04: सन प्रोटेक्शन है ज़रूरी

स्टेप #04: सन प्रोटेक्शन है ज़रूरी

अनइवन स्किन टोन का एक बहुत बड़ा कारण सूर्य के संपर्क में आना भी है। चाहे मौसम कोई भी हो, सनस्क्रीन लगाने से आपकी स्किन को लंबे समय तक फायदा पहुंचेगा। घर से बाहर निकलते समय सनस्क्रीन लगाने से आपकी स्किन न सिर्फ यूवी रेज़ से नुकसान होने से बचेगी, बल्कि उम्र बढ़ने के संकेत से भी बचेंगे। हम आपको सलाह देंगे Ponds Sun Protect Non-Oily Sunscreen SPF 50 लगाने की, जो कि हर तरह की स्किन के लिए उपयुक्त है।