चमकदार, ड्यूइ (ओस जैसी तरोताज़ा) स्किन और ऑइली दिखने वाली स्किन के बीच बहुत बारीक़-सा अंतर होता है. हमें पता है कि आप ये बिल्कुल भी नहीं चाहेंगी कि सुबह-सुबह इतनी मेहनत से आपने जो ड्यूइ मेकअप किया है, वो दोपहर आते-आते तेल में डूबा हुआ नज़र आने लगे. हम यहां आपको कुछ आसान-सी ट्रिक्स के बारे में बता रहे हैं, जो आपके चेहरे के ऑइली होने को नियंत्रण में रखेंगी और आपका मेकअप लंबे समय तक टिका रहेगा.

सबसे पहले सेटिंग स्प्रे का इस्तेमाल

प्राइमर लगाना है बेहद ज़रूरी

फ़ाउंडेशन समझदारी से चुनें

फ़ाउंडेशन की पलती पर्त लगाएं

करें सेटिंग पाउडर का इस्तेमाल

दोबारा लगाएं सेटिंग स्प्रे

ब्लॉटिंग पेपर हमेशा साथ रखें

काम आएंगे क्ले मास्क

सबसे पहले सेटिंग स्प्रे का इस्तेमाल
 

सबसे पहले सेटिंग स्प्रे का इस्तेमाल

क्लेंज़िंग-टोनिंग-मॉइस्चराइज़िंग का रूटीन पूरा करने के बाद और मेकअप की शुरुआत करने से पहले चेहरे पर मेकअप सेटिंग स्प्रे लगाएं. इससे आपकी त्वचा पर एक हल्की पर्त बन जाएगी, जो आपकी त्वचा से निकलने वाले अतिरिक्त ऑइल को आपके मेकअप के साथ मिलने नहीं देगी.

प्राइमर लगाना है बेहद ज़रूरी
 

प्राइमर लगाना है बेहद ज़रूरी

प्राइमर लगाना तो आप भूल ही नहीं सकतीं. इससे आपकी त्वचा चिकनी नज़र आती है और ये मेकअप के लिए जैसे किसी गोंद की तरह काम करता है. इसे लगाने के बाद मेकअप बड़ी आसानी से चेहरे पर सेट हो जाता है. क्या आप जानती हैं कि आंखों और होंठों के लिए ख़ासतौर पर प्राइमर्स आते हैं? ये प्राइमर सुनिश्चित करते हैं कि आपका फ़ाउंडेशन, आइशैडो और लिपस्टिक दिनभर आपके चेहरे पर टिके रहें.

फ़ाउंडेशन समझदारी से चुनें
 

फ़ाउंडेशन समझदारी से चुनें

ऐसे फ़ाउंडेशन का इस्तेमाल करें, जिसे ख़ासतौर पर ऑइली स्किन के लिए बनाया गया हो. वैक्सी या पाउडर बेस्ड फ़ाउंडेशन्स में बहुत ही कम मात्रा में ऑइल होता है और ये त्वचा से निकलने वाले ऑइल को नियंत्रित भी करते हैं. फ़ाउंडेशन चुनते समय ‘ऑइल-फ्री’ या ‘लॉन्ग लास्टिंग’ या फिर ‘लॉन्ग वेयरिंग’ जैसे लेबल्स पर ध्यान दें और आपकी स्किन ऑइली है तो इन्हें ही ख़रीदें.

फ़ाउंडेशन की पलती पर्त लगाएं
 

फ़ाउंडेशन की पलती पर्त लगाएं

बहुत गाढ़ा या ज़्यादा मात्रा में फ़ाउंडेशन लगाने से बचें, क्योंकि इससे आपकी त्वचा के रोमछिद्र नज़र आने लगेंगे. फ़ाउंडेशन लगाने के लिए स्टिपलिंग ब्रश का इस्तेमाल करें या फिर स्पॉन्ज की सहायता से इसे थपथपाते हुए लगाएं और हर उस जगह को कवर करें, जिसे आप कवर करना चाहती हैं.

करें सेटिंग पाउडर का इस्तेमाल
 

करें सेटिंग पाउडर का इस्तेमाल

इस स्टेप को भूलना मना है. इसे अपनाने से आपका मेकअप केकी नहीं होगा और यह त्वचा पर मौजूद बारीक़ रेखाओं में भी नहीं फंसेगा. कुल मिलाकर आपका मेकअप एक समान यानी ईवन नज़र आएगा.

दोबारा लगाएं सेटिंग स्प्रे
 

दोबारा लगाएं सेटिंग स्प्रे

सेटिंग पाउडर लगाने के बाद अपना बाक़ी का मेकअप करें और मेकअप के आख़िरी स्टेप के बाद अपने चेहरे पर दोबारा सेटिंग स्प्रे छिड़कें. यह एक बार फिर आपके चेहरे पर पतली पर्त बना देगा, जिससे मेकअप अपनी जगह पर टिका रहेगा.

ब्लॉटिंग पेपर हमेशा साथ रखें
 

ब्लॉटिंग पेपर हमेशा साथ रखें

ब्लॉटिंग पेपर आपका सच्चा साथी है. इसे हमेशा अपने साथ रखें और दिनभर में जब कभी भी चेहरे का कोई हिस्सा तैलीय महसूस होने लगे, ब्लॉटिंग पेपर का इस्तेमाल कर इस अतिरिक्त तेल को सौम्यता से थपथपाते हुए हटा लें.

काम आएगा क्ले मास्क
 

काम आएगा क्ले मास्क

चेहरे पर आने वाले तेल को नियंत्रित करने के लिए सप्ताह में एक बार क्ले मास्क यानी मिट्टी से बने मास्क का इस्तेमाल करें. आप मुल्तानी मिट्‌टी में टी ट्री ऑइल मिला कर घर पर ही मास्क बना सकती हैं. इसमें कुछ बूंदें गुलाब जल की मिला लें. यह चेहरे की टोनिंग में मददगार होगा. यह मास्क आपके चेहरे को ऑइल-फ्री बनाने का काम करेगा.