हमें पता है कि हर महिला को सुंदर त्वचा पाने के लिए त्वचा की देखभाल के महत्व के बारे में मालूम है, पर हम इस बात को लेकर आश्वस्त नहीं हैं कि वे यह देखभाल सही तरीक़े से करती हैं या नहीं. हो सकता है कि आप अपनी उम्र के अनुसार ग़लत इन्ग्रीडिएंट का इस्तेमाल कर रही हों या फिर आपने उस इन्ग्रीडिएंट को शामिल ही न किया हो जिसे शामिल करना ज़रूरी है. उम्र बढ़ने के साथ-साथ आपको अपनी त्वचा के देखभाल के तरीक़े में थोड़ा बदलाव और कुछ जोड़-घटाव करना ही पड़ता है, ताकि आपकी त्वचा को वो पोषण मिले, जिसकी उसे ज़रूरत है.

आगे पढ़िए और जानिए कि आपकी उम्र के हिसाब से आपके लिए त्वचा की देखभाल का सही तरीक़ा क्या है...

उम्र के दूसरे दशक में
 

उम्र के दूसरे दशक में

यह आपकी त्वचा का सबसे सुंदर समय है. हालांकि इस उम्र में त्वचा संवेदनशील यानी सेंसिटिव हो सकती है और ब्रेकआउट्स होने की संभावना भी बनी रहती है. इस दौरान आपको अडल्ट ऐक्ने, समय से पहले उम्रदराज़ होने और मुहांसों आदि से बचने के लिए त्वचा की सही देखभाल करनी होगी. किसी भी क़ीमत पर आप एसपीएफ़ से किनारा नहीं कर सकतीं. अपने दिन की शुरुआत और अंत दोनों ही समय पर चेहरे की डबल क्लीनिंग करें, रोज़ाना पूरे दिन सनस्क्रीन लगा कर रखें, रूखेपन यानी ड्राइनेस को दूर रखने के लिए मॉइस्चराइज़र लगाएं. अपने रूटीन में लैक्मे ऐब्सलूट पोर फ़िक्स टोनर/Lakmé Absolute Pore Fix Toner, लैक्मे पीच मिल्क मॉइस्चराइज़र एसपीएफ़ 24पीए+++/Lakmé Peach Milk Moisturizer SPF 24 PA++और सैलिसिलक ऐसिड युक्त प्रोडक्ट्स को शामिल करें.               

तीसरे दशक में आने पर
 

तीसरे दशक में आने पर

जब आप उम्र के तीसवें पड़ाव पर आती हैं आपकी त्वचा में बदलाव होने लगता है. त्वचा ड्राइ, पिग्मेंटेड होने लगती है और बारीक़ रेखाएं व झुर्रियां दिखाई देने लगते हैं. यह सही समय है, जबकि आपको ऐंटी-एजिंग प्रोडक्ट्स में निवेश करना चाहिए. सोने जाने से पहले आइ क्रीम और नाइट क्रीम लगाने को अपने स्किन केयर रूटीन में शामिल कर लें. हम आपको पॉन्ड्स एज मिरैकल आइ क्रीम और पॉन्ड्स गोल्ड रैडिअंस यूथफ़ुल नाइट क्रीम लगाने की सलाह देंगे. त्वचा के फीकेपन और रूखेपन को दूर करने के लिए सेंट ईव्स जेंटल स्मूदिंग ओटमील स्क्रब ऐंड मास्क/St. Ives Gentle Smoothing Oatmeal Scrub & Mask का इस्तेमाल करें.

चौथे दशक के जश्न के दौरान
 

चौथे दशक के जश्न के दौरान

जब आप उम्र के चौथे दशक में आती हैं तो आपकी त्वचा की कोशिकाओं यानी स्किन सेल्स का टर्नओवर कम हो जाता है, जिससे कोलैजन का बनना भी धीमा हो जाता है. अपनी त्वचा के लचीलेपन यानी इलैस्टिसिटी को बढ़ाने और सुधारने के लिए ऐसे फ़ेस ऑइल्स का इस्तेमाल करें, जिनमें ऐंटीऑक्सिडेंट्स की मात्रा अधिक हो, विटामिन C और रेटिनॉल की मात्रा भी ज़्यादा हो. ये इन्ग्रीडिएंट्स त्वचा की मरम्मत करते हैं और इसे मांसल दिखाते हैं. हम आपको डर्मैलॉजिका ओवरनाइट रिपेयर सीरम और पॉन्ड्स एज मिरैकल रिंकल करेक्टर डे + नाइट क्रीम/ Ponds Age Miracle Wrinkle Corrector Day + Night Cream लगाने की सलाह देंगे, ताकि आपकी त्वचा जवां और कोमल नज़र आए.  

जब पांचवे दशक में रखें क़दम
 

जब पांचवे दशक में रखें क़दम

उम्र का पांचवा दशक वो समय है, जब आपकी त्वचा में काफ़ी बदलाव आएंगे.  मेनोपॉज़ के कारण आपकी त्वचा के कोलैजन और इलैस्टिन दोनों का ही स्तर कम होगा और त्वचा लटकने लगेगी, पतली हो जाएगी. स्माइल लाइन्स, झुर्रियां आंखों के आसपास क्रोज़ फ़ुट पहले से कहीं ज़्यादा नज़र आने लगेंगे. इस समय सनस्क्रीन और मॉइस्चराइज़र लगाना बिल्कुल न भूलें. डर्मैलॉजिका सुपर रिच रिपेयर और लैक्मे यूथ इन्फ़िनिटी स्किन स्कल्प्टिंग नाइट क्रीम/Lakmé Youth Infinity Skin Sculpting Night Crème आपकी त्वचा में नमी बरक़रार रखने के साथ-साथ त्वचा को सुदृढ़ भी बनाए रखेंगी.