हर लड़की चाहती है कि उसकी त्वचा नर्म-मुलायम, कोमल, बेदाग और दमकती हुई हो. बाज़ार में कई ऐसे मेकअप प्रोडक्ट्स (इसे हाइलाइटर पढ़ें) उपलब्ध हैं, जो त्वचा को ऐसा ग्लो देते हैं कि जिससे आभास हो कि ये भीतरी ग्लो है, लेकिन हमारा मानना है कि इससे कहीं बेहतर है कि आपकी त्वचा नैचुरली सेहतमंद और आभावान हो.

हम आगे बढ़ें, उससे पहले आपको बता दें कि सेहतमंद त्वचा पाने का कोई शॉर्टकट नहीं होता और इसे पाने के लिए सही तरीक़े के प्रोडक्ट्स के साथ साथ ढेर सारे कमिटमेंट की भी ज़रूरत होती है. कमिटमेंट के मामले में तो हम आपकी कोई मदद नहीं कर सकते, लेकिन हम आपके लिए एक स्किनकेयर रूटीन ज़रूर बना सकते हैं, जो बेजान और फीकी त्वचा को अलविदा कहते हुए आपकी त्वचा को नैचुरल ग्लो दे सके. तो चलिए, हम अपना काम शुरू कर रहे हैं..

 

पहला स्टेप: क्लेंज़िंग है ज़रूरी

पहला स्टेप: क्लेंज़िंग है ज़रूरी

त्वचा को उजला व चमकदार बनाए रखने के लिए आपको रोज़ाना दो बार त्वचा को अच्छी तरह साफ़ करना होगा. यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपके चेहरे से मेकअप, ऑइल और धूल-मिट्टी वगैरह का आख़िरी कण भी हट जाए, केवल फ़ेस वॉश का इस्तेमाल ही पर्याप्त नहीं है; आपको डबल क्लेंज़ करना होगा. इस प्रक्रिया में पहले आप ऑइल-बेस्ड क्लेंज़र का इस्तेमाल करते हैं, जिससे मेकअप, धूल-मिट्टी और सभी अशुद्धियां आपकी त्वचा को रूखा बनाए बिना चेहरे से हट जाती हैं. इसके बाद फ़ोम क्लेंज़र का इस्तेमाल करें, ताकि बची हुई गंदगी हट जाए. इससे आपकी त्वचा अच्छी तरह साफ़ हो जाएगी.

 

दूसरा स्टेप: टोनर को स्किप न करें

दूसरा स्टेप: टोनर को स्किप न करें

टोनर का इस्तेमाल स्किनकेयर रूटीन का ज़रूरी हिस्सा है. यदि आप हेल्दी, ग्लोइंग त्वचा पाना चाहती हैं तो इसे आपको कभी भी स्किप नहीं करना चाहिए. एक अच्छा टोनर त्वचा के पीएच के स्तर को संतुलित करता है, पोर्स में कसाव लाता है और स्किन केयर प्रोडक्ट्स को त्वचा में अच्छी तरह समाहित होने में मदद करता है. त्वचा की चमक बढ़ाने में यह अहम् भूमिका निभाता है.

 

तीसरा स्टेप: स्किन ब्राइटनिंग सीरम का इस्तेमाल करें

तीसरा स्टेप: स्किन ब्राइटनिंग सीरम का इस्तेमाल करें

स्किन ब्राइटनिंग सीरम, ख़ासतौर पर वो जिसमें विटामिन C मौजूद हो, आपकी त्वचा में सकारात्मक बदलाव लाएगा. सीरम्स में कई तरह के ऐक्टिव इन्ग्रीडिएंट्स होते हैं, जो आपकी त्वचा की गहराई में पहुंच कर सौम्य एक्स्फ़ॉलिएशन को अंजाम देते हैं. इससे डेड स्किन सेल्स की पर्तें हट जाती हैं आर आपकी त्वचा चिकनी व चमकदार दिखाई देती है.

 

चौथा स्टेप: एसपीएफ़ वाली डे क्रीम लगाएं

चौथा स्टेप: एसपीएफ़ वाली डे क्रीम लगाएं

डे क्रीम्स, स्किनकेयर के ऐसे हीरोज़ हैं, जिनके बारे में ज़्यादा बात नहीं की जाती. डे क्रीम्स त्वचा को मॉइस्चराइज़ करने से लेकर त्वचा के फीकेपन को कम करने, त्वचा की रंगत को एक समान बनाने और सूरज की किरणों की वजह से त्वचा को होने वाले नुकसान से बचाने तक कई महत्वपूर्ण काम करती हैं. यदि आप पसोपेश में है कि कौन सी डे क्रीम चुनें तो हम आपको लैक्मे ऐब्सलूट आइडियल टोन रिफ़िनिशिंग डे क्रीम एसपीएफ़ 50 पीए +++/ Lakme Absolute Ideal Tone Refinishing Day Creme SPF 50 PA +++ के इस्तेमाल की सलाह देंगे. इस क्रीम में पाइनैप्पल का सौम्य अर्क है जो बेजान और असमान रंगत वाली त्वचा को ख़ूबसूरत त्वचा में बदल देता है. त्वचा की यूवीए और यूवीबी से सुरक्षा करने के साथ ही साथ ये डे क्रीम पर्यावरण के कारकों से होने वाले नुकसान से बचाते हुए आपको बेदाग और दमकती हुई त्वचा देती है.

 

पांचवां स्टेप: सप्ताह में तीन-चार बार स्क्रब का इस्तेमाल करें

पांचवां स्टेप: सप्ताह में तीन-चार बार स्क्रब का इस्तेमाल करें

चाहे आपका स्किन टाइप जो भी हो, आपके स्किनकेयर रूटीन में स्क्रब तो शामिल होना ही चाहिए. इसका कुछ ही बार इस्तेमाल करने पर आपको ग्लोइंग स्किन मिलेगी. इसकी वजह यह है कि डेड स्किन सेल्स आपकी त्वचा पर एक पर्त बना देती हैं, जिससे आपकी त्वचा बेजान और फीकी नज़र आने लगती है. स्क्रब, इन डेड स्किन सेल्स को हटा देता है, जिससे त्वचा की सतह पर नई और चमकदार सेल्स नज़र आने लगती हैं. हम आपको इसके लिए सेंट ईव्स लेमन ऐंड मैंडरिन ऑरेंज स्क्रब/ St Ives Lemon & Mandarin Orange Scrub के इस्तेमाल की सलाह देंगे. इसमें पिंक लेमन और मैंडरिन हैं, जो न सिर्फ़ आपकी त्वचा को एक्स्फ़ॉलिएट करेंगे, बल्कि उसे उजला और चमकदार भी बना देंगे.

 

छठवां स्टेप: सप्ताह में एक बार स्किन रिपेयरिंग फ़ेस मास्क का इस्तेमाल करें

छठवां स्टेप: सप्ताह में एक बार स्किन रिपेयरिंग फ़ेस मास्क का इस्तेमाल करें

क्या आपको पता है कि जैसे जैसे आपकी उम्र बढ़ती जाती है आपकी त्वचा ड्राइ होने लगती है, कोलैजन के उत्पादन और सेल बनने की संख्या में कमी आने लगती है? ये सभी बातें त्वचा पर असर डालती हैं और त्वचा बहुत बेजान व फीकी नज़र आने लगती है. अत: ऐंटी-एजिंग स्किनकेयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करना ज़रूरी हो जाता है, ताकि उम्र के बढ़ते निशानों को रोका जा सके. और यह काम ऐंटी एजिंग फ़ेस मास्क को सौंप देना सबसे अच्छा होता है. आप डमैर्लॉजिका मल्टीविट पावर रिकवरी मास्क/ Dermalogica MultiVit Power Recovery Masque का सप्ताह में एक दिन इस्तेमाल करने से शुरुआत कर सकती हैं. इस मास्क में विटामिन A, C और E के अलावा लिनोलेइक ऐसिड भी है, जो त्वचा पर एक अवरोध बना कर सुनिश्चित करता है कि आपकी त्वचा कोमल, जवां और चमकदार बनी रहे.