अपनी त्वचा का अच्छी तरह ख़्याल रखना उसे मेकअप से ढंकने से कहीं ज़्यादा ज़रूरी है. लेकिन ये बात तो आपको माननी ही होगी कि त्वचा का ख़्याल रखना एक नाज़ुक मुद्दा है. अपनी त्वचा और उसकी आवश्यकताओं को समझने से लेकर त्वचा के प्रकार के अनुसार प्रोडक्ट्स इस्तेमाल करने तक, स्किनकेयर केवल क्लेंज़िंग-टोनिंग और मॉइस्चराइज़िंग तक ही तो सीमित नहीं है.

हर तरह की त्वचा की अपनी अलग समस्याएं होती हैं. ऑइली त्वचा पर मुहांसों की समस्या होती है, ड्राइ त्वचा बेजान नज़र आती है और संवेदनशील यानी सेंसिटिव त्वचा पर कभी भी जलन, सूजन या लालिमा आ जाती है... यानी त्वचा से जुड़ी समस्याओं से स्थाई रूप से छुटकारा नहीं मिलता.

लेकिन यदि आपकी त्वचा रूखी है तो आपको पता होगा कि कभी भी कोई भी चीज़ आपकी त्वचा के संतुलन को बिगाड़ देती है और आपकी त्वचा ज़्यादा रूखी होकर उखड़ना शुरू हो सकती है. पर्यावरण के कारक, जैसे- ठंड, प्रदूषण और जीवनशैली से जुड़े बदलाव, जैसे- नए प्रोडक्ट का इस्तेमाल, त्वचा को ज़रा ज़्यादा साफ़ कर लेना वगैरह आपकी त्वचा की हालत और ख़राब कर देते हैं. तो आप ये जानना चाहेंगी कि आख़िर आप अपनी त्वचा को संतुलित, हाइड्रेटेड और हेल्दी कैसे रखें? हमारा जवाब है लैवेंडर जैसे प्राकृतिक इन्ग्रीडिएंट को अपने स्किनकेयर रूटीन का हिस्सा बना कर!

 

स्किनकेयर रूटीन में लैवेंडर को शामिल करने के फायदे

स्किनकेयर रूटीन में लैवेंडर को शामिल करने के फायदे

लैवेंडर एक जादुई इन्ग्रीडिएंट है, जिसकी आपकी त्वचा को ज़रूरत है. इसके ऐंटी-इन्फ़्लैमटॉरी गुण आपकी त्वचा से सूजन, लालिमा और जलन को दूर करते हैं और त्वचा से डेड सेल्स या क्षतिग्रस्त यानी डैमेज्ड सेल्स को हटा देते हैं. लैवेंडर में मौजूद ऐंटी-फ़ंगल गुण आपकी त्वचा को फंगल और नेल इन्फ़ेक्शन्स से बताते हैं. और इसके ऐंटी-बैक्टीरियल गुण त्वचा को मुहांसे पैदा करने वाले बैक्टीरियाज़ से बचाते हैं.

लैवेंडर को त्वचा के लिए इस्तेमाल करने का एक तरीका है कि आप इसे ऑइल के रूप में लगाएं. इसेंशियल ऑइल्स पसंद करने वालों के बीच लैवेंडर ऑइल अपनी राहत और शांति देने वाली ख़ुशबू के लिए लोकप्रिय है. सनबर्न को ठीक करने से लेकर थकी हुई मांसपेशियों को राहत देने तक और रूखेपन को दूर करने तक लैवेंडर ऑइल आपकी त्वचा के लिए जैसे जादुई औषधि है.

लैवेंडर ऑइल का सबसे अच्छा विकल्प है वैसलीन कामिंग लैवेंडर बॉडी लोशन. सौ फ़ीसदी शुद्ध लैवेंडर के सत्व और वैसलीन जेली की अतिरिक्त अच्छाइयों से भरपूर यह लोशन रूखी त्वचा को नर्म-मुलायम तो बनाता ही है, साथ ही उसे भीनी-भीनी ख़ुशबू भी देता है! और सबसे अच्छी बात यह है कि यह बॉडी लोशन आपकी त्वचा को 24 घंटे तक मॉइस्चराइज़्ड रखने का दावा भी करता है.

 

लैवेंडर रूखी त्वचा को कैसे ठीक करता है?

लैवेंडर रूखी त्वचा को कैसे ठीक करता है?

रूखी त्वचा बेजान, खुरदुरी और कसी हुई नज़र आती है और ठंड के दिनों में तो इसकी हालत और ख़राब हो जाती है. सर्दियों की रूखी हवा आपकी त्वचा पर बुरा असर डालती है, जिससे त्वचा पपड़ीदार हो जाती है, झड़ने लगती है और लाल भी दिखाई देती हैं. रूखी त्वचा को पोषित रखने के लिए उसे हर कुछ घंटों में मॉइस्चराइज़्ड करते रहना और कठोर व रूखे साबुनों का इस्तेमाल न करना दोनों ही कारगर तरीके हैं. और आपको यह जानकर अच्छा लगेगा कि इस प्राकृतिक इन्ग्रीडिएंट यानी लैवेंडर से भरपूर बॉडी लोशन भी आपकी रूखी त्वचा के लिए किसी वरदान से कम नहीं होगा. नीचे हम बता रहे हैं कि ठंड के मौसम में लैवेंडर किस तरह त्वचा के रूखेपन से राहत देता है.

* टोनर की तरह काम करता है

स्किनकेयर का रूटीन सीटीएम (क्लेंज़िंग-टोनिंग-मॉइस्चराइज़िंग) प्रक्रिया के बिना तो पूरा ही नहीं होता. हम आपको लैवेंडर वाला टोनर घर पर ही बनाने का तरीका बता रहे हैं. बस आपको 100 मिली लीटर पानी को उबालना है और इसमें लैवेंडर की कलियां इस तरह डालनी हैं कि वे पूरी तरह पानी में डूबी रहें. इसे पानी में कुछ घंटों तक ब्रू होने दें. अब इस मिश्रण को एक स्प्रे बाटल में भरें और इसे फ्रिज में रखें. जब भी अपने चेहरे को क्लेंज़ करें तो उसके बाद इस स्प्रे को कॉटन पैड पर छिड़कें और इससे अपने चेहरे को सौम्यता से पोछ लें.

लैवेंडर रक्त का प्रवाह बढ़ाता है, जिससे त्वचा की सेल्स में ऑक्सिजन और न्यूट्रिशन पहुंचता है. इससे न सिर्फ़ स्किन सेल्स सेहतमंद रहती हैं, बल्कि उनके पुनर्जीवित होने की प्रक्रिया में भी इजाफा होता है.

* त्वचा को डीटॉक्सिफ़ाई करता है

हमारी त्वचा लगातार पर्यावरण में मौजूद अलग-अलग तरह के ज़हरीले पदार्थों और प्रदूषण के कणों के संपर्क में आती रहती है, जिससे त्वचा की सेहत में गिरावट आती है. लेकिन अच्छी बात यह है कि लैवेंडर, जो एक शक्तिशाली ऐंटीऑक्सिडेंट है, आपको इस सब से बचा सकता है! लैवेंडर ऑइल प्रदूषण के कणों के नुकसानदायक प्रभाव से लड़ता है और त्वचा पर बैक्टीरियाज़ को पनपने से रोकता है. स्किन बैक्टीरियाज़ त्वचा के रूखेपन, खुजली और रैशेज़ की बड़ी वजह हैं. अत: अपने स्किन केयर रूटीन में लैवेंडर को शामिल करने से आपको इनसे निजात मिलेगी.

* एक्ज़िमा को ठीक करता है

रूखेपन की वजह से ही खुजली होती है! यदि आप अपनी त्वचा के रूखे पैचेस पर लगातार खुजाती रहती हैं तो समय आ गया है कि आप लैवेंडर ऑइल को अपने स्किनकेयर रूटीन में शामिल कर लें. लैवेंडर ऑइल त्वचा के नमी के अवरोध यानी मॉइस्चर बैरिअर को संतुलित रखता है, जिससे आपकी त्वचा न तो बहुत ऑइली होने पाती है और ना बहुत ही रूखी. त्वचा बिल्कुल संतुलित रूप से मॉइस्चराइज़्ड रहती है. त्वचा के रूखे हिस्सों पर लैवेंडर ऑइल मलें और रैशेज़ व खुजली से मुक्त त्वचा पाएं. आप रूखेपन से बचने के लिए वैसलीन लैवेंडर बॉडी लोशन का इस्तेमाल भी कर सकती हैं.