आमतौर पर हम जब ब्यूटी प्रोडक्ट्स लेने जाते हैं, हम इस बात की परवाह बिल्कुल नहीं करते हैं कि हमारी स्किन टाइप क्या है और उसके अनुसार हमें अपनी स्किन का ख़याल रखना होता है। स्किन टाइप आखिर क्या होता है और किस तरह हमें स्किन टाइप को जान कर ही अपनी स्किन का ख़याल रखना चाहिए, आइये इसके बारे में विस्तार से जानें। तो स्किन टाइप कुल पांच तरह की होती है।

 

नॉर्मल स्किन

नॉर्मल स्किन - चेहरे की देखभाल

वे लोग बेहद लकी होते हैं, जिनकी स्किन बिल्कुल सामान्य होती है, ऐसे लोगों की स्किन पर कील मुंहासे, एक्ने जैसी समस्या नहीं होती है। इस तरह की स्किन न तो बहुत ऑयली (तैलीय) होती है और न ही ड्राय (रूखी)।  यह सीबम का उत्पादन भी सही तरीके से करती है। इन लोगों को स्किन में ब्लड सर्कुलेशन भी अच्छा होता है।

नॉर्मल स्किन कैसे करें मेंटेन

  1. स्किन केयर रूटीन फॉलो करें।
  2. क्लींजिंग, टोनिंग, मोइश्चराइज़िंग और सनस्क्रीन ज़रूर लगाएं।
  3. स्किन केयर प्रोडक्ट्स पर लेबल चेक करके ही खरीदें।
  4. वही चुनें, जो नॉर्मल स्किन के लिए बने हों।
  5. साथ ही सोने से पहले अगर वे क्लींजिंग भी कर लें, तो उनके लिए काफी होता है।

 

ऑयली स्किन

ऑयली स्किन - चेहरे की देखभाल

ऑयली स्किन वालों को चेहरे से जुड़ी कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। ऐसे लोगों के चेहरे पर, ख़ासतौर पर गालों और नाक पर काफी तेल नज़र आता रहता है। ऑयली स्किन की केयर करना काफी मुश्किल काम है, क्योंकि ऑयली स्किन वालों को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। यदि कोई गलत प्रोडक्ट लग जाये तो स्किन के पोर्स क्लोग हो जाते हैं और नतीजा- पिम्प्ल्स व एक्ने। सीबम का उत्पादन ज्यादा होने के कारण ही स्किन ऑयली हो जाती है। ऐसे लोगों को खूब पानी पीना चाहिए और स्किन को मॉइस्चराइज़ करते रहना चाहिए। हो सके तो दिन में दो बार चेहरा धोना चाहिए।

ऑयली स्किन के लिए क्या करें उपाय

  1. किसी भी स्किन केयर रूटीन का सबसे पहला स्टेप है क्लींज़िंग। इसके लिए जेंटल फ़ेस वॉश इस्तेमाल करें, जिससे आपके चेहरे का एक्सेस ऑयल निकल जाये और पिंपल्स व एक्ने से भी बचाव हो।
  2. स्किन को बैलेंस करने के लिए वॉटर बेस्ड अल्कोहल फ्री टोनर लगाएं।  एल्कोहल बेस्ड टोनर आपकी स्किन को ड्राय रखेगा और सीबम के उत्पादन को बढ़ाएगा और ओयलको कंट्रोल करेगा।
  3. एक लाइटवेट जेल बेस्ड मोइश्चराइज़र आपकी स्किन को हाइड्रेट करेगा और आपको दिनभर के चिपचिपेपन से भी आज़ादी मिलेगी। ऐसा मोइश्चराइजर चुनें, जो विटामिन ई युक्त हो और जिसमें हयालूरोनिक एसिड भी हो।
  4. मौसम चाहे जो भी हो सनस्क्रीन लगाना न भूलें। घर से बाहर निकलने से पहले सनस्क्रीन लगाएं और फिर हर 2-3 घंटे बाद फिर से अप्लाई करें।

 

ड्राय स्किन

ड्राई स्किन - चेहरे की देखभाल

ड्राय स्किन, स्किन का ही एक टाइप है, जिसे नॉर्मल, ऑयली और कॉम्बिनेशन स्किन की तुलना में ज्यादा पोषण की ज़रूरत होती है. इससे आपकी स्किन खिंची-खिंची लगती है. इससे स्किन का ग्लो चला जाता है और वह बेजान लगने लगती है. फेस की स्किन पर पपड़ी सी जमती है, जिससे मेकअप करना मुश्किल हो जाता है, क्योंकि यह पैची लगने लगती है. ऐसी स्किन वालों को गर्मी, सर्दी और बरसात हर समय अपनी स्किन का अत्यधिक ध्यान रखना पड़ता है।  ड्राई स्किन की पहचान यह है कि यह खुरदुरी होती है और इसमें काफी लेयर्स नज़र आते हैं। आपकी स्किन पर हाथ से अगर लाइन खींची जाए तो वहां स्किन एकदम सफ़ेद दिखने लगती है। स्किन फ़टी-फ़टी नज़र आती है।

ड्राय स्किन के लिए क्या करें उपाय

  1. हार्श क्लीन्ज़र्स और एक्स्फ़ोलिएटर्स की जगह जेंटल स्किन केयर प्रोडक्ट्स यूज़ करें।
  2. खूब पानी पिएं
  3. हर थोड़ी देर में स्किन को मोइश्चराइज़्ड करें.
  4. यदि फिर भी ड्राईनेस बढ़ रही है तो डर्मेटोलोजिस्ट से मिलें.

यदि आप अपनी स्किन के लिए नेचुरल इंग्रेडिएंट्स ढूंढ रहे हैं, तो आपको केला, ककड़ी और ऐसे नरीशिंग फेस ऑयल्स यूज़ करने चाहिए, जो मोइश्चराइज़िंग इंग्रेडिएंट्स से निकाले गए हों, जैसे- नारियल, जैतून, एवाकाडो, ताकि ड्राय स्किन से निपटा जा सके। जब आप स्किनकेयर प्रोडक्ट्स खरीद रहे हों, तो ग्लाइकोलिक एसिड, ह्यालूरोनिक एसिड, पैराफिन, बीज़वैक्स, पेट्रोलियम और नेचुरल इंग्रेडिएंट्स, जैसे- शिया बटर, एलोवेरा और कोको बटर लेबल पर ज़रूर चेक करें, ताकि आपको मिले नर्म व मुलायम त्वचा।

 

कॉम्बिनेशन स्किन

कॉम्बिनेशन स्किन - चेहरे की देखभाल

मिश्रित यानी कॉम्बिनेशन स्किन टाइप में आपकी स्किन कहीं ड्राई तो कहीं ऑयली नजर आने लगती है।  खासतौर से सिर, नाक और चीक बोन्स के पास सबसे ज्यादा ड्राई या तेल नजर आता है।  गाल कभी ड्राई तो कभी ऑयली नज़र आते हैं। ऐसे लोगों को क्लींज़र, टोनर, मॉइश्चराइजर, सनस्क्रीन का ज़रूर इस्तेमाल करना चाहिए। स्क्रबिंग से बचना चाहिए। सनस्क्रीन तो जरूर लगाना चाहिए।

कॉम्बिनेशन स्किन के लिए क्या करें उपाय

  1. जिन लोगों की कॉम्बिनेशन स्किन है, उन्हें ऐसे इंग्रेडिएंट्स चाहिए, जो ऑयली टी-ज़ोन और ड्राय यू-ज़ोन, दोनों से निपट सके।
  2. नेचुरल इंग्रेडिएंट्स, जैसे- शहद, दही और एलोवेरा को अपने स्किन केयर रूटीन में शामिल करें।
  3. ये स्किन को क्लीन्ज़ करने के साथ आपके टी-ज़ोन के बैक्टीरिया को भी मार देते हैं और आपकी स्किन को मोइश्चराइज्ड रखते हैं।
  4. ऐसे प्रोडक्ट्स खरीदें, जिसमें एक्सफोलिएटिंग और हायड्रेटिंग एसिड्स, जैसे- कॉफी, एलोवेरा, स्ट्रॉबेरी और जोजोबा हो।

 

सेंसिटिव स्किन

सेंसिटिव स्किन - चेहरे की देखभाल

सेंसिटिव स्किन बहुत नाजुक होती है, इसमें आप किसी भी प्रोडक्ट का इस्तेमाल ऐसे ही बिना जानकारी के  नहीं कर सकते। इस तरह की स्किन पर हमेशा खुजली होती है।  जल्दी कोई भी प्रोडक्ट सूट नहीं करता है।  कई बार एलर्जी हो जाती है। आपको एक अच्छे क्लींजर, मॉइस्चराइजर और सनस्क्रीन का इस्तेमाल करना चाहिए।  मेकअप भी ऐसी स्किन वालों को सोच समझ कर करना चाहिए। अच्छे ब्रांडेड प्रोडक्ट्स ही इस्तेमाल करने चाहिए।

सेंसिटिव स्किन के लिए क्या करें उपाय

  1. यदि आपकी सेंसिटिव स्किन है, तो आप ऐसा फ़ेस वॉश यूज़ करें, जिसमें हार्श केमिकल्स न हों और जो सेंसिटिव स्किन के लिए ही बना हो।
  2. फेस को धोने के बाद स्किन पर कूलिंग फ़ेस मॉइश्चराइजर लगाएं, जैसी- ऐसा मॉइश्चराइजर, जिसमें एलोवेरा के गुण हो, जो सेंसिटिव और ड्राय स्किन पर कमाल का काम करता है।
  3. आईक्रीम लगाएं, क्योंकि सेंसिटिव स्किन पर डार्क सर्कल्स जल्दी हो जाते हैं। इसके लिए आप एक बढ़िया आई क्रीम  यूज़ करें, जिसमें पैराबेन्स, आर्टिफ़िशियल खुशबू और कलर्स न हों।