यह नया साल है, एक नयी शुरुआत है और यह वह वक़्त है जब हमें 2021 के ट्रेंड के बारे में पता होना ही चाहिए। इसके लिए हम आपको सीधे अपनी स्किन एक्सपर्ट डॉक्टर श्रावया सी टिपिरनेनी, एमडी, डीवी एल द्वारा बताये गए ट्रेंड्स की जानकारी दे रहे हैं। आइये, इन ट्रेंड्स के बारे में डिटेल में जानते हैं :

 

01. मास्कने

01. मास्कने

मास्कने फ्रिक्शनल एक्ने का नया नाम है। लगातार मास्क लगाने की वजह से, मुंह के आस-पास जो पसीना बहता है, उससे गंदगी होती और इसके कारण एक्ने होते हैं। ये एक्ने हमारी चीक्स, चिन, जौ लाइन, अपर लिप्स पर ब्रेक आउट्स पर दिखने लगते हैं। ऐसे में कुछ डर्मेट्स ने इससे डील करने के तरीके सुझाये हैं : जैसे ऑयल और हेवी बेस्ड फॉर्मूलेशन वाले चिकने प्रोडक्ट्स, बहुत अधिक सीरम्स और मेकअप प्रोडक्ट्स- ये सब मास्क वाली जगह पर न लगाए जाएं तो बेहतर है।

  • अपनी स्किन को सांस लेने का मौका दें, ताकि पोर्स खुल सके। मास्क लगा रहे हैं तो, हल्के नॉन कॉमेडोजेनिक और जेल बेस्ड मॉइस्चर का इस्तेमाल करें।
  • ऑयली स्किन के लिए सैलिसिलिक एसिड फेस वॉश का इस्तेमाल करें, ताकि पोर्स डी-क्लोग हों और सीबम प्रोडक्शन को रेग्युलेट किया जा सके।
 

02. स्किन इम्युनिटी

02. स्किन इम्युनिटी

स्किन इम्युनिटी का मतलब स्किन के लिए सुरक्षा कवच से है। यह स्किन की सबसे बाहरी परत वाली स्किन होती है, जिसे एपिडर्मल बैरियर कहते हैं। हाइड्रेशन, वाटर कंटेंट, बाहरी जीवों ( बैक्टेरिया और वायरस )से बचाना और फिर बाहरी गंदगी जैसे स्मोक और प्रदूषण से बचाने में, स्किन इम्युनिटी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और स्किन को हेल्दी रखते हैं। यह आपकी स्किन को यूवी एक्सपोज़र से और फ्री रेडिकल डैमेज से भी बचाते हैं। अगर यह बैरियर न रहे तो डिहाइड्रेशन, लचीलापन, फाइन लाइंस और स्ट्रेस सब कुछ कम हो जाता है।

  • स्किन इम्युनिटी को बूस्ट करने के लिए आपको उन स्किन
  • डैमेजिंग फैक्टर्स से छुटकारा पाना होगा,जो आपकी स्किन को नुकसान पहुंचाते हैं।
  • ऐसे हेयर और ब्यूटी प्रोडक्ट्स, जिसमें सल्फर हो स्किन को ज़्यादा एक्सफोलिएट करने से,
  • जैसे- सैलिसिलिक एसिड और ग्लाईकोलिक एसिड जैसे केमिकल का इस्तेमाल।
  • ट्रिक्लोसन और दूसरे एंटी बैक्टेरिकल चीजों के कारण थैलेट, पैराबेन्स और फॉर्मलडिहाइड इन्फ्यूज्ड प्रोडक्ट्स।
 

03. ब्लू लाइट प्रोटेक्शन

03. ब्लू लाइट प्रोटेक्शन

ब्लू लाइट प्रोटेक्शन आज के दौर में स्किन केयर के लिए काफी प्रासंगिक है। आजकल माहमारी की वजह से हम गैजेट्स के पास अधिक समय बिताने लगे हैं। ऐसे में ब्लू लाइट, जिसमें अधिक वेवलेंथ होती है, वह स्किन को यूवी किरणों से भी अधिक तेज़ी से पेनिट्रेट करती है, जिससे आपकी स्किन पर तेज़ी से उम्र बढ़ने लगती है। इससे बचने का एक सामान्य सा तरीका है कि स्क्रीन टाइम को घटाया जाये, हालांकि यह मुमकिन नहीं है। डॉ श्रावया कहती हैं, "एक अच्छा फिजिकल सनस्क्रीन अप्लाई करना अच्छा होगा। साथ ही ऐसे इंग्रेडिएंट्स देखें, जिनमें टाटेनियम डाइऑक्सइड, आयरन डाइऑक्साइड और सिलिकन डाई ऑक्साइड, मिनिरल सनस्क्रीन्स हों। ऐसे प्रोडक्ट्स जो खासतौर पर ब्लू लाइट प्रोटेक्शन के लिए बनाए गए हैं और जिनमें ये इंग्रेडिएंट्स हों, जैसे- एंटीऑक्सीडेंट्स, मरीन एक्सट्रैक्ट्स और दूसरे प्लांट बेस्ड एक्सट्रैक्ट्स को हाइड्रेटिंग चीजों के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है".

 

04. स्किन के माइक्रोबायोम पर फोकस

04. स्किन के माइक्रोबायोम पर फोकस

स्किन में मौजूद बैक्टेरिया, फंगस, वाइरस आदि को स्किन माइक्रोबायोम कहा जाता है। हालाँकि अच्छे बैक्टेरिया भी स्किन के लिए ज़रूरी है। इसमें बैलेंस जरूरी है, वरना अगर इसमें कोई गड़बड़ हो तो इसकी वजह से सोरायसिस, एक्ने, ड्राई स्किन, इन्फ्लेमेशन, रैशेस, इन्फेक्शन्स और दूसरी कई समस्याएं हो जाती है। बसीली (बैक्टेरिया ) डैमेज्ड स्किन को रिपेयर और प्रोटेक्ट करने में मदद करती है। कुछ तो एजिंग के निशान को भी रोकती है। अपनी स्किन के साथ सख्ती न बरतें और ज़्यादा एक्सफोलिएशन न करें, ताकि स्किन की माइक्रोबायोम मेंटेन्ड रहे।

 

05 . पॉपुलर चीजों के ट्रेंडी विकल्प

05 . पॉपुलर चीजों के ट्रेंडी विकल्प

2021 में हमारे पास रेनटिनॉइड्स, एंटी ऑक्सीडेंट्स, एंटी एजिंग और ब्राइटनिंग के कई विकल्प मौजूद हैं। ऐसे में कुछ प्रोडक्ट्स जो काफी ट्रेंड में हैं, वो हैं-

1. सेंटेला एशियाटिक: यह एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जो, चीनी और कोरियाई स्किनकेयर में बहुत लोकप्रिय है। यह एंटीऑक्सिडेंट, फैटी एसिड, अमीनो एसिड व फाइटोकेमिकल्स से भरपूर है। इसमें विटामिन सी, ए, बी 1 और बी 2, बीटा-कैरोटीन होता है, जो इसे एक बेहरीन एंटीऑक्सीडेंट बनाता है, जो सूरज की किरणों से सुरक्षा, सूजन को कम करने और स्किन की टोन को हल्का करने में मददगार साबित होता है।

02. गुलाब का तेल: एंटी-एजिंग गुणों के साथ एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर, गुलाब के तेल ने सौंदर्य प्रेमियों के बीच काफी लोकप्रियता हासिल की है। विटामिन ई, ए और सी, ओमेगा एसिड और लिनोलेनिक एसिड से भरपूर इस प्रोडक्ट में कोलेजन को फिर से री स्टियूमेलेट करने के गुण हैं।

03. रेसवेराट्रोल: अंगूर, जामुन और मूंगफली में पाया जाने वाला यह एक प्लांट बेस्ड कंपाउंड है, जो कि एक शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट भी है। यह एंटी एजिंग, प्रीमैच्योर जैसी परेशानी पर काम करता है और नए सेल्स के विकास, सेल कायाकल्प में मदद करता है। यह सुस्त स्किन को चमकदार बनाने में मदद कर सकता है और स्किन की रेडनेस और स्किन की जलन को कम कर सकता है। यह रोज़ेशिया जैसी बीमारी से ग्रसित लोगों के लिए बेहद अच्छा होता है।

04 . मैट्रिक्सिल 3000: एक और ट्रेंडी एंटी-एजिंग घटक मैट्रिक्सिल 3000, कोलेजन और इलास्टिन को बढ़ावा देने के लिए जाना जाता है। यह लाइनों और झुर्रियों को टारगेट करता है और साथ ही हाइड्रेशन को बूस्ट करता है। यह रेटिनॉल की तुलना में कहीं अधिक कोमल माना जाता है और आपकी स्किन को कोमल और स्वस्थ रहने में मदद करता है।

 

06. पीआरपी ट्रीटमेंट्स

06. पीआरपी ट्रीटमेंट्स

किम कार्दशियन की वजह से वैम्पायर फेशियल्स बेहद लोकप्रिय हुए हैं। PRP (प्लेटलेट-रिच प्लाज़्मा), अपने बेहतरीन परिणामों की वजह से 2021 में काफी लोकप्रिय हो रहा है। पीआरपी ट्रीटमेंट्स में टेस्ट ट्यूब में ब्लड को कलेक्ट किया जाता है और फिर इसे एजेंट्स के साथ सेंट्रीफ्यूज में ग्रो किया जाता है। फिर इसे आपकी स्किन में इंजेक्ट किया जाता है। ये कंसन्ट्रेटेड प्लाज्मा निर्धारित एरिया में सुपरफिशियल तरीके से लोकल एनेस्थीसिया देकर, इंजेक्ट किया जाता है। यह स्किन के टेक्सचर को इम्प्रूव करता है, पोर्स को कम करता है, एंटी एजिंग, कोलेजन बिल्डिंग, स्किन ब्राइटनिंग और हाइड्रेशन में मदद करता है। यह ट्रीटमेंट काफी मशहूर है, क्योंकि इसमें आपको सिर्फ कुछ सेशंस की जरूरत होती है और आपकी स्किन की हेल्थ इम्प्रूव हो जाती है।