हम जो शॉवर में हेयर केयर रूटीन फॉलो करते हैं, वह काफी सीधा होता है, अपने बालों को आप सुलझाते हैं, उसमें शैम्पू लगाते हैं और फिर उस पर थोड़ा कंडीशनर लगा देते हैं। बस, हो जाता है। लेकिन क्या इतना ही काफी है। नहीं, तो चलिए एक गेम खेलते हैं। आप नहाने जाइये, अपने बालों को पानी में अच्छे से गीला कर लें, फिर अपनी उँगलियों में कंडीशनर लेकर बालों में अच्छे से मसाज करें और उसके बाद स्कैल्प को शैम्पू से क्लींज करें। क्या आपको कोई अंतर नजर आया। जी हाँ, हमें रूटीन में को थोड़ा रिवर्स क्या है। यह बालों को साफ़ करने का एक नया तरीका है। इसे रिवर्स वॉशिंग कहते हैं। यह बालों में शैम्पू करने के पारम्परिक तरीकों से अलग है। लेकिन इसे करने की क्या जरूरत है, आइये जानें इसके बारे में विस्तार से

 

क्या आप वाकई अपने रूटीन को रिवर्स करना चाहती है ? लेकिन क्यों

क्या आप वाकई अपने रूटीन को रिवर्स करना चाहती है ? लेकिन क्यों

जब आप अपने बालों को कंडीशनिंग से पहले शैम्पू करती है, तो आप सिर्फ अपने बालों को ही क्लींज करती है और अपने स्कैल्प में से पसीने व गंदगी को निकालती हैं। लेकिन इस क्रम में कई बार आपके बालों से नेचुरल ऑयल चले जाते हैं, जिससे आपके बालों में मॉइस्चर की कमी हो जाती है और बाल ड्राई हो जाते हैं। ऐसे में बालों में जो मॉइस्चर की कमी होती है, उसे आप कंडीशनर से ठीक करने की कोशिश करती हैं और उन्हें रिहाइड्रेट करते। लेकिन आप ज़रा सोच कर देखिये कि अगर बालों को वॉश करने के क्रम में बाल ड्राई, बेजान और उलझे रहें, तो फिर वॉश का फायदा क्या हुआ ? इसलिए आप जब शैम्पू से पहले बालों को कंडीशन करती हैं, तो आप अपने बालों के लिए प्राइमिंग करती हैं और अपने बालों या हेयर क्यूटिकल्स को अच्छे ऐसे नरिश करती हैं। आप कंडीशनर को एक प्रोटेक्टिव लेयर बनाने के लिए मजबूर करती हैं, ताकि आपका शैम्पू आपके बालों से नेचुरल ऑयल्स न ले ले। जब आप कंडीशनर पहले लगाती हैं तो आपके क्यूटिकल्स भी मॉइस्चराइजर को एब्ज़ोर्ब करते हैं। दूसरे शब्दों में कहें, तो आप अपने बालों को गहराई से हाइड्रेट कर रही है। उस लॉजिक से देखें तो आपके बाल चमकदार, मुलायम और हेल्दी हो जाते हैं। और फिर जब शैम्पू बाद में करती हैं, तो आप कंडीशनर करने से बालों में जो कुछ भी रह गया है, उसे भी साफ़ कर देती है। क्योंकि कंडीशनर से जो भी बची चीजें रह जाती हैं, वह बालों के टेक्सचर को कमजोर कर देती है, इसलिए जब आप अपने बालों को शैम्पू करने के बाद कंडीशनर का इस्तेमाल करती हैं, तो आप इससे न सिर्फ बालों को अच्छे से रिंस कर पाती हैं, बल्कि बालों को पूरी तरह से क्लीन भी कर पाती हैं और बालों को चिपचिपा होने से बचा पाती हैं।

 

आपको यह प्रोसेस कैसे करना है

आपको यह प्रोसेस कैसे करना है

यह बहुत आसान है, बस आपको अपने बालों में कंडीशनर अच्छी मात्रा में लगाना है। आपको ऑर्गन ऑयल युक्त कंडीशनर जैसे TRESemmé Keratin Smooth Conditioner को अपने बालों की मिड लेंथ से लेकर टिप्स तक लगाना है। इसे 20 मिनट तक लगाकर छोड़ दें। फिर से एक बार अपने बालों को गीला करें। इसमें फिर TRESemmé Keratin Smooth Shampoo लगा लें और फिर यह सब करने के बाद, बालों को अच्छे से धो लें। यह क्रम आप हमेशा अपने बालों को धोते समय दोहराएं। इससे आपके बालों में थोड़ा टेक्सचर भी आएगा।

 

किसे रिवर्स वॉशिंग आजमाना चाहिए

किसे रिवर्स वॉशिंग आजमाना चाहिए

अगर आपके बाल रूखे, पतले, ऑयली और चपटे हो जाते हैं, तो आपको यह आजमाना चाहिए। लेकिन अगर आपके बाल घने या फ्रिजी हैं, तो इस टेक्निक से दूर रहें, क्योंकि आपके लिए यह जानना बेहद जरूरी है कि आपको ऐसे शैम्पू, जिसका पीएच ज्यादा है उससे आपके क्यूटिकल्स फूल सकते हैं। इससे आपके बाल बहुत ज्यादा घने लगते हैं, जो कि पतले बालों के लिए जरूरी है।