इस लॉकडाउन ने न केवल हमारे भीतर के रचनाकार को जगा दिया है, बल्कि हमें बहुत आत्मनिर्भर भी बना दिया है. अब हम चेहरे पर लगाने के लिए फ़ेस मास्क से लेकर अपनी त्वचा की देखभाल के लिए घर पर ही फ़ेस स्क्रब तक तैयार करने लगे हैं. आलम ये है कि अब तो शायद हम अधिकतर चीज़ें घर पर ही बना सकते हैं. लेकिन जब बात त्वचा की देखभाल के लिए घर पर स्क्रब बनाने की हो तो इसके लिए इन्ग्रीडिएंट्स का चुनाव बहुत ध्यान से किया जाना चाहिए, ख़ासतौर पर फ़ेशियल स्क्रब बनाते समय. कोई भी इन्ग्रीडिएंट कठोर हुआ तो आपकी त्वचा को नुकसान पहुंच सकता है. यही वजह है कि हम आपको बता रहे हैं कि वो कौन से चार इन्ग्रीडिएंट्स हैं, जिन्हें घर पर फेस स्क्रब बनाते समय आपको इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.

 

शक्कर

शक्कर

शक्कर के क्रिस्टल, फिर चाहे वो ब्राउन शुगर के हों या सफ़ेद शक्कर के, उनके किनारे बहुत पैने होते हैं. इन्हें फे़शियल स्क्रब में इस्तेमाल करना आपके चेहरे की त्वचा के लिए कठोर और नुकसानदेह हो सकता है. यदि इसे बार बार इस्तेमाल किया जाए तो आपकी त्वचा को क्षति पहुंच सकती है. शक्कर को डीआईवाई फ़ेस स्क्रब में इस्तेमाल करने के कुछ साइड इफ़ेक्ट्स हैं: आपकी त्वचा पर रूखापन, जलन, लालिमा, घाव और दाग धब्बे.

 

नींबू

नींबू

नींबू बहुत ऐसिडिक होता है और शक्कर व नींबू को मिलाकर स्क्रब की तरह इस्तेमाल करना तो त्वचा के लिए ख़ुद ही मुसीबत मोल लेना है. नींबू एक ऐसा कठोर इन्ग्रीडिएंट है, जिसे त्वचा पर कभी भी सीधे नहीं लगाया जाना चाहिए. यह त्वचा के नैचुरल ऑइल को चुरा लेता है और उसे बहुत संवेदनशील बना देता है, जिससे त्वचा को सूर्य की किरणों से भी बहुत जल्दी क्षति पहुंच सकती है. आप ऐसा तो बिल्कुल नहीं चाहेंगी कि आपकी त्वचा पर केमिकल बर्न हो जाए और आप इस लॉकडाउन वाले समय में डर्मैटोलॉजिस्ट तक भी न पहुंच सकें. अत: अच्छा होगा कि आप नींबू वाले डीआईवाई फेस मास्क या स्क्रब का इस्तेमाल ना ही करें.

 

अखरोट का पिसा हुआ छिलका

अखरोट का पिसा हुआ छिलका

हमें पता है कि आप क्या सोच रही हैं- बाज़ार में उपलब्ध अधिकतर फेस स्क्रब्स में अखरोट का पिसा हुआ छिलका मौजूद होता है तो यह इन्ग्रीडिएंट बुरा कैसे हो सकता है, है ना? तो सच्चाई ये है कि ऐसे स्क्रब जिनमें अखरोट का पिसा हुआ छिलका मौजूद होता है, सभी की त्वचा के लिए कठोर नहीं होते, लेकिन संवेदनशील त्वचा के लिए बहुत कठोर हो सकते हैं. इनकी वजह से ड्राइनेस हो सकती है और त्वचा अनचाही तरह से घिस सकती है. यही वजह है कि हम आपके कह रहे हैं कि घर पर बनाए जाने वाले यानी डीआईवाई स्क्रब्स में इसका इस्तेमाल करने से बचें.

 

पिसी हुई कॉफ़ी

पिसी हुई कॉफ़ी

अक्सर डीआईवाई स्क्रब्स के लिए पिसी हुई कॉफ़ी का इस्तेमाल करने को कहा जाता है. तो हम आपको बता दें कि आपके शरीर पर इसका इस्तेमाल सही हो सकता है, पर चेहरे पर नहीं. इसकी वजह ये है कि इसके छोटे, बड़े, विषम आकार के दाने आपकी त्वचा की ऊपरी पर्त को नुक़सान पहुंचा सकते हैं और इनकी वजह से हाइपरपिग्मेंटेशन भी हो सकता है.