समय के साथ-साथ जो समस्या हमारे बालों की स्थिति को बद से बदतर बनाती जाती है है, वो है डैंड्रफ़. ये एक ऐसी समस्या है, जो अपने आप ठीक नहीं होती, बल्कि और ज़्यादा बढ़ती जाती है. यह इस बात का स्पष्ट संकेत है कि आपके स्कैल्प को पर्याप्त मात्रा में पोषण नहीं मिल रहा है. हो सकता है कि आप पर्याप्त मात्रा में अच्छा हेयर ऑयल लगा रही हों, पर डैंड्रफ़ इस बात का संकेत है कि ये ऑयल भी आपके स्कैल्प का पूरी तरह ध्यान नहीं रख पा रहा है. क्या आपको पता है कि डैड्रफ़ बहुत ज़्यादा बाल धोने से या फिर बहुत कम बाल धोने की वजह से भी हो सकता है. और तो और यह आपके द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे शैम्पू की वजह से भी हो सकता है. यदि बहुत सारे कॉस्मेटिक ब्यूटी प्रोडक्ट्स भी इसे हटाने में आपकी मदद नहीं कर पा रहे हैं तो समय आ गया है कि आप डैंड्रफ़ के ख़ात्मे के लिए अपने घर में रखे दही का इस्तेमाल करें. यह तो हम जानते ही हैं कि दूध के बैक्टरियल फ़र्मन्टेशन के कारण दही बनता है. हर किचन में मौजूद रहने वाला दही, सौंदर्य बढ़ाने में कई तरह से कारगर है. इसके फ़ायदों की सूची बहुत लंबी है और अब समय आ गया है कि आप दही का सही इस्तेमाल करते हुए सौंदर्य से जुड़े इसके सभी लाभ उठाएं.
 

केवल और केवल दही

केवल और केवल दही

डैड्रफ़ पैदा करने वाले बैक्टीरिया को हटाने के लिए शैम्पू का इस्तेमाल ही मुख्य समाधान समझ में आता है. पर आप एक बार डैंड्रफ़ से प्रभावित हिस्सों सहित पूरे स्कैल्प पर दही लगाकर देखें. जब पूरे स्कैल्प पर दही लगा लें तो 30 मिनट तक इंतज़ार करें. दही को स्कैल्प पर सूख जाने दें. फिर गर्म पानी से धो लें. ऐसा करने से न सिर्फ़ डैंड्रफ़ में कमी आएगी, बल्कि दही में मौजूद पोषक तत्वों के चलते आपके बालों को टेक्स्चर चमकीला भी हो जाएगा.

 

दही और नींबू

दही और नींबू

नींबू में मुख्य तत्व सिट्रिक ऐसिड होता है, जबकि दही में लैक्टिक ऐसिड. जब दही और नींबू का मिश्रण स्कैल्प पर लगाया जाता है तो इनके ऐसिडिक गुण मिलकर डैंड्रफ़ को काफ़ी हद तक कम करने में मदद करते हैं. तो दही-नींबू के रस का मिश्रण बनाएं और स्कैल्प पर अप्लाइ करें. इसे तब तक लगा रहने दें, जब तक कि मिश्रण सूख न जाए (तक़रीबन 30 मिनट). फिर गुनगुने पानी से सिर धो लें.

 

दही और अंडे

दही और अंडे

दही और अंडे दोनों में ही पोषण देने वाले तत्व होते हैं, जिससे स्कैल्प को मॉइस्चर पाने और उसे बरक़रार रखने में मदद मिलती है और धीरे-धीरे डैंड्रफ़ ख़त्म होने लगता है. यह मिश्रण स्कैल्प के साथ-साथ बालों की लंबाई और सिरों पर भी लगाना चाहिए, क्योंकि यह बालों के पतले होने और स्प्लिट एंड्स को भी ठीक करता है.

 

दही और बेसन

दही और बेसन

दही और बेसन का मिश्रण स्कैल्प पर मौजूद डेड सेल्स की पपड़ी और डैंड्रफ़ दोनों को ही कम करता है. यह मिश्रण, दही की मात्रा को घटा या बढ़ा कर थोड़ा गाढ़ा या पतला किया जा सकता है. यदि आप इसमें थोड़ा-सा नारियल तेल मिला दें तो इसके नतीजे और अच्छे आएंगे.

 

दही और विनेगर

दही और विनेगर

दही और विनेगर दोनों ही ऐसिडिक हैं, जिनमें क्रमश: लैक्टिक और ऐसिटिक ऐसिड होता है. इनका मिश्रण डैंड्रफ़ की समस्या से निजात दिलाने में बहुत कारगर होता है, क्योंकि इसमें ऐसिड की सांद्रता बहुत अधिक होती है. चूंकि यह मिश्रण तरल होता है आप इसे थोड़ा-थोड़ा कर के स्कैल्प पर अप्लाइ करें और 30 मिनट तक लगा रहने दें. फिर सिर धो लें.