हमने आज तक कोई ऐसी लड़की नहीं देखी, जो अपने नए मैनिक्योर को ले कर उत्साहित न हो. नेल पॉलिश का रंग चुनने से ले कर ताज़ा-ताज़ा नेल पेन्ट लगे अपने नाख़ूनों को निहारने तक मैनिक्योर की पूरी प्रक्रिया में कुछ बात तो है, जो बहुत संतुष्टि देती है.

लेकिन आपका दिल तब टूट जाता होगा, जब आप देखती हैं कि आपका नेल पेन्ट उतना अच्छा नहीं दिखाई दे रहा है या फिर समय से पहले ही कहीं कहीं से उखड़ रहा है, है ना? यदि आपका जवाब ‘हां’ है तो चिंता न करें, क्योंकि हम आपकी मदद के लिए ही तो हैं.

नीचे हम जो सूची दे रहे हैं वो नेल पॉलिश से जुड़ी उन गलतियों की हैं, जिनसे आपको बचना चाहिए...

 

एक स्ट्रोक में नेल पॉलिश लगाना

एक स्ट्रोक में नेल पॉलिश लगाना

नेल पॉलिश लगाते समय जो सबसे बड़ी गलती होती है, वो है इसे एक स्ट्रोक में लगाना. इससे नेल पॉलिश नाख़ून पर असमान ढंग से तो लगती ही है, साथ ही कुछ जगह पर अच्छी तरह न लग पाने से ख़ाली जगह छूट जाती है. ख़ासतौर पर किनारों की तरफ़. इससे बचने के लिए नेल पॉलिश को हमेशा तीन स्ट्रोक्स में लगाएं, इससे यह एक समान रूप से लगेगी.

 

नेल पॉलिश लगाने के तुरंत बाद गर्म पानी से स्नान करना

नेल पॉलिश लगाने के तुरंत बाद गर्म पानी से स्नान करना

मुझे पता है कि आप क्या सोच रही हैं- अब भला स्नान का आपकी नेल पॉलिश से क्या लेना देना है? लेकिन सच तो ये है कि गर्म पानी और आपकी नेल पॉलिश के बीच सीधा रिश्ता है. गर्म पानी की भाप और हीट से नेल पॉलिश मोटी हो जाती है और इसमें बुलबुले आ सकते हैं या ये स्मज हो सकती है. अत: नेल पॉलिश लगाने के कम से कम एक घंटे बाद ही स्नान करें, इससे आपका नेल पेंट सही बना रहेगा.

 

नाख़ूनों को अच्छी तरह साफ़ न करना

नाख़ूनों को अच्छी तरह साफ़ न करना

चाहे आपके नाख़ूनों पर नेल पॉलिश लगी हो या न लगी हो, पर ये जो नेल आर्टिस्ट्स हर बार आपको अपने नाख़ूनों को नेल पॉलिश रिमूवर से साफ़ करने की सलाह देती हैं, उसके पीछे भी एक कारण होता है. इसकी वजह ये है कि आपके नाख़ूनों पर धूल, गंदगी या तेल लगा हो सकता है, जो आपने नेल पॉलिश की आपके नाख़ून से चिपकने की शक्ति को कम कर सकता है. तो जब भी नेल पेन्ट लगाने की सोच रही हों, पहले अपने नाख़ूनों को नेल पॉलिश रिमूवर से अच्छी तरह साफ़ करें.

 

एक्स्पायरी डेट निकल जाने के बाद भी प्रोडक्ट का इस्तेमाल करना

एक्स्पायरी डेट निकल जाने के बाद भी प्रोडक्ट का इस्तेमाल करना

क्या आपने इस बात पर ध्यान दिया है कि जो नेल पॉलिश आप हाई स्कूल से आज तक अपने नाख़ूनों पर लगाती आ रही हैं, वो समय के साथ चिपचिपी और गाढ़ी हो गई है? ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि समय के साथ नेल पॉलिश के सॉल्वेंट्स वाष्पित हो जाते हैं यानी उड़ जाते हैं और जो पदार्थ बचा रहता है वो गाढ़ा, चिपचिपा हो जाता है. यह वो समय है, जब आपको एहसास हो जाना चाहिए कि अब इस नेल पॉलिश को फेंकने का और नई पॉलिश के लिए जगह बनाने का समय आ गया है. आपकी सहूलियत के लिए बता दें कि नेल पॉलिश को हर 12-18 महीनों में बदल लेना चाहिए.

 

नेल पॉलिश लगाने के तुरंत बाद सो जाना

नेल पॉलिश लगाने के तुरंत बाद सो जाना

बहुत सी महिलाओं की आदत होती है कि वे दिन ख़त्म होने के बाद यानी रात को सोने जाने से ठीक पहले नेल पॉलिश लगाती हैं. यही वजह है कि नेल पॉलिश स्मज हो जाती है और सुबह उठने पर उन्हें नाख़ूनों पर नया टेक्स्चर दिखाई देता है. हालांकि पॉलिश तो आधे घंटे में ही सूख जाता है, लेकिन इसे आपके नाख़ूनों पर पूरी तरह सेटल होने में एक पूरा दिन लग जाता है. इससे बचने के लिए या तो आप सुबह के समय नेल पॉलिश लगाएं या फिर सोने जाने से कम से कम तीन घंटे पहले.