आप में से बहुत से लोग जिनकी स्किन सेंसिटिव यानी संवेदनशील है वो महसूस कर चुके होंगे कि संवेदनशील त्वचा में जल्दी से कई तरह की समस्याएं होने लगती हैं. आपने यह भी पाया होगा कि कुछ प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से आपकी त्वचा लाल हो जाती है, मुहांसे हो जाते हैं या फिर त्वचा में खुजली होती है. कई बार कुछ चिकित्सकीय कारणों से भी त्वचा संवेदनशील हो जाती है.

 इस समस्या को समझने और इससे उबरने का सबसे अच्छा तरीक़ा यही है कि आप अपने डर्मैटोलॉजिस्ट से सलाह लें. यदि आपकी त्वचा संवेदनशील है तो आपको जल्द से जल्द इसका इलाज शुरू कर देना चाहिए. नीचे दिए हुए संकेतों के बारे में जानें और समझें कि कहीं आपकी त्वचा को अतिरिक्त देखभाल की ज़रूरत तो नहीं है?
 
 

चेहरे पर रैशेज़ और गांठें बन जाती हैं?

चेहरे पर रैशेज़ और गांठें बन जाती हैं?

यदि आपके चेहरे पर अक्सर लाल रंग के रैशेज़ (चकत्ते), सूजन या गांठें आ जाती हैं तो इस बात में कोई शक़ नहीं कि आपकी स्किन सेंसिटिव है. यह ख़ासतौर पर तब ज़रूर होता होगा, जब आपके चेहरे पर कोई प्रोडक्ट लगा रह गया हो, जिसे आप रिमूव करना भूल गई हों. ये रैशेज़ आपके असहज बना सकते हैं, दिखने में भयावह लग सकते हैं और बहुत लंबे समय तक चेहरे पर डेरा डाले रहने वाले भी हो सकते हैं. और यदि आपको किसी तरह की एलर्जी है तो आपको अपना और ज़्यादा ध्यान रखना होगा. कोई भी मल्हम लगाने से पहले 24 घंटे तक इंतज़ार करें. यदि आपको ऐसा पहली बार हुआ है तो बेहतर होगा कि डॉक्टर की सलाह पर ही अगला क़दम उठाएं. हां, रैशेज़ में थोड़ी राहत पाने के लिए नारियल का तेल लगाना बहुत लाभदायक होगा.

 

चुभन या जलन होती है?

चुभन या जलन होती है?

जब आप मॉइस्चराइज़र, फ़ाउंडेशन या सनस्क्रीन का इस्तेमाल करती हैं तो आपकी त्वचा प्रतिक्रया कर सकती है और हो सकता है कि यह प्रतिक्रिया आपको अच्छा महसूस न करा रही हो. जिन लोगों की त्वचा सेंसिटिव होती है उनकी त्वचा के अवरोध बहुत पतले होते हैं और अप्लाइ किए गए प्रोडक्ट की सामग्री त्वचा पर जलन या सनसनाहट पैदा करती है. यह सामान्यत: जेल, एल्कोहल युक्त प्रोडक्ट्स, बहुत से मुहांसे का इलाज करने वाले प्रोडक्ट्स और ऐंटी-एजिंग प्रोडक्ट्स के साथ होता है. यह जलन भले ही कुछ समय के लिए महसूस होती है, पर धीरे-धीरे थोड़े ही समय में बहुत असहज और दर्द भरी हो जाती है. जैसे ही आपको ऐसा शुरू होता महसूस हो, तुरंत अपना चेहरा धोएं. अपने चेहरे को तब तक धोएं, जब तक कि चेहरे पर लगा प्रोडक्ट पूरी तरह निकल न जाए. और फिर चेहरे को ठंडे पानी से अच्छी तरह धोएं.

 

त्वचा में खुजली होती है?

त्वचा में खुजली होती है?

खुजली और तनी हुई त्वचा दोनों ही ऐसी संवेदनशील त्वचा का लक्षण हैं, जो अमूमन ज़्यादा गर्म पानी के इस्तेमाल के कारण होती है. यह विशेष रूप से तब भी होता है, जब आपके क्लेंज़िंग प्रोडक्ट्स में कठोर सामग्रियां मौजूद हो. आप पाएंगी कि खुजली तब भी नहीं रुकती है, जबकि हवा ठंडी और सूखी हो. खुजलाने की वजह से खरोंच, जलन और फिर इन्फ़ेक्शन भी हो सकता है. खुजली को रोकने के लिए डॉक्टर की सलाह लें. यदि आप रोज़ाना बहुत गर्म पानी का इस्तेमाल करती हों तो इसकी बजाय गुनगुने पानी का इस्तेमाल करना शुरू कर दें. साथ ही, यह भी सुनिश्चित करें कि आपका क्लेज़र आपकी त्वचा के लिए उपयुक्त हो.

 

त्वचा में लालिमा आती है?

त्वचा में लालिमा आती है?

सेंसिटिव स्किन का सबसे सामान्य संकेत है, चेहरे पर लालिमा का आना. जिनकी त्वचा संवेदनशील है उन्होंने अक्सर त्वचा के लाल होने को महसूस किया होगा. फिर यह लाल रंग का चकत्ता हो सकता है, गांठ हो सकती है, ब्लशिंग, फ़्लशिंग या फिर लाल रंग की रक्त नलिकाओं का जाल भी हो सकता है. यह लालिमा थोड़े-से उपचार के बाद ग़ायब भी हो जाती है. इस समस्या का समाधान पाने के लिए जितना जल्दी हो सके अपने डॉक्टर से परामर्श लें. यदि यह लालिमा मल्हम आदि से नहीं जाती है तो इसे हटाने के लिए आपको लेज़र ट्रीटमेंट भी कराना पड़ सकता है.

 

मुहांसे होते हैं?

मुहांसे होते हैं?

मॉइस्चर की कमी को पूरा करने के लिए सेंसिटिव और ड्राइ स्किन अतिरिक्त ऑयल का उत्पादन करती है. जिसकी वजह से रोमछिद्र बंद हो जाते हैं, जिससे मुहांसे होते हैं. फिर चाहे आप इस समस्या से निजात पाने के लिए ऐक्ने वॉश या क्रीम का भी प्रयोग क्यों न करें, स्थिति पहले से बदतर ही हो जाती है. ऐसे में केवल एक डर्मैटोलॉजिस्ट ही आपकी मदद करते हुए यह बता सकते हैं कि अपनी त्वचा को साफ़ रखने के लिए आपको कौन-सा प्रोडक्ट इस्तेमाल करना चाहिए. आपको अपना चेहरा एक दिन में दो बार से अधिक नहीं धोना चाहिए. चेहरा धोने के लिए किसी सौम्य क्लेंज़र का ही इस्तेमाल करें. साथ ही, बहुत ज़रूरी है कि आप एल्कोहल युक्त प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से बचें.