रोज़ाना जॉगिंग करने के फ़ायदों से आप अनजान नहीं होंगी. आपकी मांसपेशियों को टोन करना, शरीर को सही आकार में रखना और आपके मूड को बिल्कुल दुरुस्त रखना ये सब तो जॉगिंग के फ़ायदे हैं ही, लेकिन इसके अलावा फ़िटनेस की इस गतिविधि में रोज़ाना घंटेभर का निवेश करने से आपको कार्डियोवेस्कुलर यानी हृदय संबंधी बीमारियों के होने का ख़तरा भी कम होता है. यही नहीं, जॉगिंग से आपको ढेर सारे सौंदर्य संबंधी और त्वचा से जुड़े कई तरह के फ़ायदे भी होते हैं. लऔर यहां हम आपको ऐसे ही पांच फ़ायदों के बारे में बता रहे हैं...

रक्त संचार बढ़ता है
 

रक्त संचार बढ़ता है

दौड़ने से हमारे पूरे शरीर में रक्त संचार बढ़ जाता है और इसमें हमारी त्वचा की सतह भी शामिल है. इस रक्त संचार से आपकी त्वचा को अच्छी तरह ऑक्स्जिन और पोषक तत्व पहुंचाते हैं, जिससे त्वचा की कोशिकाएं सेहतमंद होती हैं और क्षतिग्रस्त कोशिकाओं की मरम्मत अच्छी तरह होती है. एक घंटे लंबी जॉगिंग के बाद आप ख़ुद को आईने में देखेंगी तो अपनी ही त्वचा ख़ुशनुमा और चमकभरी नज़र आएगी.

सेल्युलाइट कम होता है
 

सेल्युलाइट कम होता है

शरीर में यदि अधिक मात्रा में वसा कोशिकाएं यानी फ़ैट सेल्स हों तो त्वचा पर सेल्युलाइट की अधिकता नज़र आती है. नियमित रूप से दौड़ते रहने से मांसपेशियां टोन होती हैं और त्वचा में कसाव आता है, जिससे सेल्युलाइट में कमी आती है. कई बार तो नियमित रूप से दौड़ते रहने से सेल्युलाइट पूर तरह यूं ग़ायब हो जाता है, जैसे उसका कोई अस्तित्व था ही नहीं.

तनाव घटता है
 

तनाव घटता है

वे लोग जो रोज़ाना जॉगिंग करते हैं, उन्हें अच्छी तरह पता होता है कि अपने मूड को कैसे बेहतर बनाना है और अपने मन को कैसे आराम देना है. और इसीलिए वे जॉगिंग को अपनी नियमित दिनचर्या का हिस्सा बना लेते हैं. जॉगिंग के तुरंत बाद आपके शरीर में सेरोटोनिन का प्रवाह बढ़ जाता है, जिससे तनाव कम होता है और ख़ुशनुमा एहसास होता है. और ये बात तो सभी को पता है कि यदि आपका मन और शरीर स्वस्थ महसूस कर रहे हैं तो त्वचा अपनी दमक से इस ख़ुशी का इज़हार कर ही देती है.

मुहांसे कम होते हैं
 

मुहांसे कम होते हैं

मुहांसों और ब्लैकहेड्स का सबसे बड़ा कारण है त्वचा के रोमछिद्रों यानी पोर्स का बंद हो जाना. जॉगिंग के कारण बढ़े हुए रक्त प्रवाह और पसीने के आने की वजह से आपकी त्वचा के पोर्स खुल जाते हैं और इनमें जमा गंदगी, सीबम और ज़हरीले पदार्थ यानी टॉक्सिन्स बाहर निकल कर त्वचा की सतह पर आ जाते हैं. जब आप दौड़ रही हों तो त्वचा पर आए हुए पसीने को एक नर्म टॉवेल से पोंछ लें और पसीने को सोंखने वाला हेयर बैंड भी लगाए रखें, ताकि स्कैल्प से आने वाला पसीना आपके चेहर पर न आए. जॉगिंग के बाद अपने चेहरे को किसी सौम्य क्लेंज़र की सहायता से अच्छी तरह साफ़ करें.

बालों की जड़ें मज़बूत बनती हैं
 

बालों की जड़ें मज़बूत बनती हैं

हां, आपने बिल्कुल सही पढ़ा! जॉगिंग की वजह से शरीर में बढ़ा हुआ रक्त प्रवाह न केवल आपके शरीर और त्वचा के लिए बेहतरीन होता है, बल्कि आपके बालों के लिए भी बहुत काम का होता है. जब आपके हेयर फ़ॉलिकल्स में ऑक्सिजन और न्यूट्रिएंट्स का वितरण बढ़ता है तो इससे मौजूदा बाल मज़बूत होते हैं और बालों के बढ़ने को गति भी मिलती है. और ये बात भी आपको पता ही होगी कि हेल्दी लाइफ़स्टाइल और सही खानपान आपके बालों को स्वस्थ, सुंदर, मज़बूत और चमकदार बनाए रखने का मूल मंत्र है.