कोरियन ब्यूटी ने हमें कई तरह के स्किन केयर प्रोडक्ट्स से परिचित करवाया है, जिनमें से सबसे आसान है - शीट मास्क। चेहरे, हाथ व पैरों की देखभाल के बाद अब खयाल रखने की बारी है उसकी, जिसे हम सबसे ज्यादा नजरंदाज करते हैं- बट्ट यानी कूल्हे। जी हां, शीट मास्क है न इसके लिए, बस यही तो चाहिए। हमारे कूल्हों की स्किन कपड़ों की कई परतों के भीतर छिपी हुई रहती है। शायद इसीलिए हम इसे नजरअंदाज़ कर देते हैं और इसकी देखभाल नहीं करते।

सीधी-सादी बात करें तो हम यह भी कह सकते हैं कि हमारी स्किन होती है, वैसे ही कूल्हों की भी स्किन होती है और स्किन को लगातार मॉइश्चराइज़ करने की जरूरत होती है। यदि आप जानना चाहते हैं कि हम कूल्हों पर शीट मास्क क्यों चाहते हैं, तो कारण यहां हैं।

 

आपकी बम (कूल्हे) के गड्ढे कम करता है

आपकी बम (कूल्हे) के गड्ढे कम करता है

जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है, हमारे कूल्हे पर डिम्पल बढ़ने लगते हैं, जो कि वाजिब है। लेकिन इसका मतलब यह तो नहीं कि हम इसका कुछ न करें और ऐसे ही रहने दें। हमारी कोशिश होगी कि कूल्हों की स्किन अच्छी बनी रहे। है न? सामान्यत: शीट मास्क हायलूरॉनिक एसिड से बने होते हैं, जो हमारी स्किन को स्मूद बनाए रखते हैं और गड्ढों को कम करते हैं।

 

इसमें कसाव लाती है

इसमें कसाव लाती है

जब हम जवां होते हैं, तो तब स्किन में कॉलेजन प्रोडक्शन बहुत तेजी से होता है, जिससे स्किन जवां लगती है। उम्र बढ़ने के साथ कॉलेजन का प्रोडक्शन भी धीमा हो जाता है और स्किन में ढीलापन आने लगता है व झुर्रियां पड़ने लगती हैं। शीट मास्क स्किन में कॉलेजन प्रोडक्शन को बढ़ाते हैं और महीन रेखाओं को हल्का करते हैं, जिससे आपकी स्किन लगती है परफेक्ट।

 

स्किन को एक्सफोलिएट और मॉइश्चराइज़ करती है

स्किन को एक्सफोलिएट और मॉइश्चराइज़ करती है

अंत में, हम शीट मास्क के फ़ायदों को भला कैसे भूल सकते हैं? और सबसे बड़ा फायदा जो शीट मास्क देता है वो है मॉइश्चराइज़िंग। नरिश्ड स्किन ज्यादा समय तक जवां रहती है, जिससे बम्प्स और ड्रायनेस की संभावना कम हो जाती है। इस शीट मास्क में कुछ इनग्रेडिएंट्स ऐसे होते हैं, जैसे कैफीन जो स्किन को एक्सफोलिएट भी करती है और डेड स्किन सेल्स को हटाकर आपको परफेक्ट व स्मूद स्किन देती है।