घर से बाहर निकलने से पहले आप सनस्क्रीन लगाना कभी नहीं भूलते, इसके बावजूद आपको स्किन पर यूवी किरणों का प्रभाव नज़र आता है। क्या ऐसा आपके साथ होता है? यदि हां, तो इसका कारण है एसपीएफ वैल्यू का कम होना और बार-बार सनस्क्रीन न लगाना आदि। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ कॉमन सनस्क्रीन मिस्टेक्स। जाने, कहीं आप भी ये गलतियां तो नहीं कर रहे हैं।

 

 

आप पर्याप्त मात्रा में सनस्क्रीन नहीं लगाते हैं

आप पर्याप्त मात्रा में सनस्क्रीन नहीं लगाते हैं

 

आप हाई एसपीएफ वाला सनस्क्रीन यूज़ करते होंगे, लेकिन कम मात्रा में सनस्क्रीन लगाने की गलती बहुत लोग करते हैं। कई महिलाएं ज़रूरत से कम मात्रा में सनस्क्रीन लगाती हैं, जिससे स्किन को पर्याप्त प्रोटेक्शन नहीं मिल पाता। एक मुट्ठी जितना सनस्क्रीन अपनी बॉडी के लिए इस्तेमाल करें और एक बड़े सिक्के के आकार जितनी मात्रा चेहरे के लिए। इसे स्किन में अच्छी तरह एब्ज़ोर्ब होने दें और फिर मेकअप करें।

 

 

आप बार-बार लगाना भूल जाती हैं

आप बार-बार लगाना भूल जाती हैं

 

बार-बार सनस्क्रीन लगाना बहुत जरूरी है और यह बात आपको बिल्कुल नही भूलनी चाहिए। एसपीएफ वैल्यू चाहे कितनी भी ज़्यादा हो, इसके बावजूद हर दो घंटे बाद सनस्क्रीन लगाना चाहिए। यदि आपका सनस्क्रीन वॉटर-रेजिस्टेंट है, तो भी यह बात लागू होती है। यूवी किरणें कांच की खिड़की से भी अंदर आप तक पहुँच सकती हैं, इसलिए हैट और स्कार्वज़ लगाना बहुत जरूरी है।

 

 

आप घर से निकले से ठीक पहले सनस्क्रीन लगाते हैं

आप घर से निकले से ठीक पहले सनस्क्रीन लगाते हैं

 
 

सनस्क्रीन लगाकर तुरंत घर से बाहर निकालने से कोई फायदा नहीं है। हर सनस्क्रीन को एक्टिवेट होने और यूवी रेज़ से सुरक्षा देने में कम-से-कम आधा घंटे का समय लगता है। यह स्किन में आहिस्ता एब्ज़ोर्ब होता है और फिर सूर्य की किरणों से स्किन को सुरक्षा प्रदान करता है।

 

 

आप खास एरिया में नहीं लगाते

आप खास एरिया में नहीं लगाते

 

माना कि आप सनस्क्रीन को अपने चेहरे और बॉडी पर लगाती हैं, लेकिन हो सकता है कि कुछ हिस्से ऐसे भी हैं, जिन्हें आप शायद नज़रअंदाज़ कर देती हैं। ध्यान रहे कि होंठ, कान और गर्दन के पीछे का हिस्सा भी सूर्य की रोशनी के संपर्क में आता है और आपको स्किन संबंधी प्रॉब्लम्स हो सकती है।

 

 

आप सनस्क्रीन में सिर्फ एसपीएफ देखते हैं

आप सनस्क्रीन में सिर्फ एसपीएफ देखते हैं

 

यदि आप सनस्क्रीन खरीदते समय सिर्फ एसपीएफ देखती हैं, तो आप रूकें और ब्रॉड स्पेक्ट्रम से वाकिफ हों। एक ब्रॉड स्पेक्ट्रम सनस्क्रीन, जैसे Lakmé Sun Expert Ultra Matte SPF 50 PA+++ Lotion आपको यूवीए और यूवीबी किरणों, दोनों से प्रोटेक्शन देती है। इसलिए सनस्क्रीन खरीदें तो ब्रॉड स्पेक्ट्रम की ही खरीदें।