समीक्षा- डॉक्टर. निकेता सोनावने द्वारा - डर्मेटोलोजिस्ट, ट्राइकोलोजिस्ट, अलटेरनेटिव मेडिसिन में एक्सपर्ट| एमबीबीएस, एमडी

रेटिनोल एक बहुत ही लोकप्रिय इंग्रेडिएंट्स में से एक है। आप किसी भी ब्यूटी वेबसाइट या डर्मेटोलोजिस्ट के इंटरव्यू देखेंगे तो जानेंगे कि कहीं न कहीं रेटिनोल के फ़ायदों के बारे में वो ज़रूर ज़िक्र करते हैं। यह स्किन का टेक्सचर इंप्रूव करता है और फाइन लाइंस व रिंकल्स को भी हटाता है। यह स्किन टोन को भी इंप्रूव करता है। हालांकि स्किन के लिए रेटिनोल यूज़ करना थोड़ा मुश्किल हो सकता है। रेटिनोल के बारे में पूरी जानकारी लेने के लिए हमने बात की एम्ब्रोसिया एथेटिक, मुंबई की कोस्मेटिक डर्मेटोलोजिस्ट डॉक्टर. निकेता सोनावने (@drniketaofficial) से।

 

रेटिनोल क्या है?

रेटिनोल क्या है?

"रेटिनोल विटामिन ए का डेरिवेटिव यानी योगिक है, जो स्किन के पुनर्निर्माण की प्रक्रिया को तेज़ करता है। डेड सेल्स को पोर्स को क्लोग करने से रोकता है। यह सेल को रिपेयर करता है और कोलेजन प्रोडक्शन को बूस्ट करता है। विटामिन ए डेरिवेटिव्ज़ दो तरह के होते हैं- रेटिनोल और रेटिनोइड्स।" कहती हैं, डॉक्टर. निकेता सोनावने

 

2. रेटिनोल स्किन के लिए किस तरह से फायदेमंद है?

2. रेटिनोल स्किन के लिए किस तरह से फायदेमंद है?

डॉक्टर. निकेता सोनावने कहती हैं:

i) स्किन को एक्सफोलिएट करता है फिजिकल एक्सफोलिएशन ज़रूरी है, इसके लिए ऐसा इंग्रेडिएंट होना चाहिए, जो स्किन की सतह को हल्के से एल्स्फ़ोलिएट करे। रेटिनोल स्किन को एक्सफोलिएट करता है और आपको स्मूद व इवन टोन्ड कोम्प्लेक्शन भी देता है।

ii)पिग्मेनटेशन और अनइवन स्किन टोन को कम करना रेटिनोल के नियमित रूप से इस्तेमाल से पिग्मेंटेशन स्पोट्स, फाइन लाइंस, रिंकल्स और बड़े पोर्स कम होते हैं, जिससे इवन टोन्ड और स्मूद स्किन मिलती है।

iii) स्किन को ब्राइट और ग्लोई बनाना: रेटिनोल आपकी स्किन को टाइट, ब्राइट, स्मूद और ग्लोइंग बनाता है। यही कारण है कि डल स्किन वालों को डर्मेटोलोजिस्ट इसे लगाने की सलाह देते हैं।

iv) एंटी एजिंग का काम करता है : रेटिनोल एंटी एजिंग के रूप में काम करता है। यह कोलेजन के प्रोडक्शन को बढ़ाता है और फाइन लाइंस व रिंकल्स को कम करता है। यही कारण है कि कई एंटी एजिंग प्रोडक्ट्स में रेटिनोल होता है।

v) एक्ने को कम करता है: रेटिनोल एंटी एक्ने के रूप में काम करता है। एक्ने-प्रोन स्किन पर यूज़ करने से यह एक्ने स्पोट्स और निशान को हटाने का काम करता है।

 

3. रेटिनोल यूज करने की सही उम्र क्या है?

3. रेटिनोल यूज करने की सही उम्र क्या है?

"रेटिनोल अलग-अलग स्किन प्रोब्लम्स के लिए यूज़ किया जाता है। यदि आप इसे एंटी एक्ने के रूप में यूज़ कर रहे हैं, तो आप किसी भी उम्र में कर सकते हैं। टीनेजर्स, जिनको ब्लैकहेड्स और व्हाइट हेड्स की समस्या है, वो इसे यूज़ कर सकते हैं। रेटिनोल को एंटी एजिंग स्किन केयर रूटीन में अगर शामिल करना चाहती हैं, तो इसकी सही उम्र है 27। इस समय आपकी नेचुरल स्किन सेल्स का पुनर्निर्माण की प्रक्रिया धीमी हो जाती है, जिससे आपकी स्किन डल लगने लगती है। यही वो समय होता है, जब आपको अपने फ़ेस पर पिग्मेंटेशन और ओपन पोर्स नज़र आने लगते हैं।" कहती हैं डॉक्टर सोनावने।

 

4. कैसे यूज़ करें रेटिनोल?

4. कैसे यूज़ करें रेटिनोल?

डॉक्टर सोनावने ने हमें ये भी बताया कि रेटिनोल को किस तरह यूज़ किया जाय, ताकि इसका अच्छा असर स्किन पर देखने को मिले।

 

रेटिनोल को रात को लगाएं

रेटिनोल को रात को लगाएं

"दिन में सूरी की किरणें रेटिनोल के असर को कम कर देगी, इसलिए सुबह इसे लगाने का कोई फायदा नहीं है। इसे रोज़ रात को सोने से पहले लगाएं।" कहती हैं, डॉक्टर सोनावने।

 

आल्टरनेट डे लगाएं

आल्टरनेट डे लगाएं

"जब आप रेटिनोल यूज़ करना शुरू करते हैं, तो शुरुआत में इससे रेडनेस, ड्रायनेस और फ्लैकिनेस हो सकती है, इसे कहते हैं रेटिनाइजेशन। इसके लिए एक दिन रेटिनोल लगाने के बाद दूसरे दिन न लगाएं। फिर अगले दिन लगाएं। ऐसा तब तक करें, जब तक कि आप कम्फ़र्टेबल न हो जाएं। इसके अलावा आप हर थोड़ी देर में मॉइश्चराइजर लगाएं। साथ ही दिन में सनस्क्रीन लगाना न भूलें। " सलाह देती हैं, डॉक्टर सोनावने।

 

5.क्या इसके कोई साइड इफेक्ट हैं?

5.क्या इसके कोई साइड इफेक्ट हैं?

रेटिनोल को ज़्यादा यूज़ करने से स्किन सेंसिटिव हो सकती है। इसलिए डर्मेटोलोजिस्ट जो कहे, उसके अनुसार ही लगाएं.

ये भी रखें ध्यान

  • स्किन को हाइड्रेट रखने के लिए खूब पानी पिएं और स्किन को मोइश्चराइज्ड करें। सनस्क्रीन न लगाने से सनबर्न और पिग्मेंटेशन बढ़ सकते हैं।
  • रेटिनोल प्रेगनेंट और फीड कराने वाली महिलाओं को नहीं लगाना चाहिए। यदि आपकी स्किन सेंसिटिव है, तो इसे हफ्ते में एक या दो बार ही लगाएं।
  • फिर धीरे हफ्ते में तीन से चार बार लगा सकते हैं।