सुबह उठने के बाद मुंह धोते समय यदि आईने में अपने चेहरे पर एक नया पिम्पल दिखाई दे तो आपको कितना बुरा लगता है, ये हम जानते हैं. और जब कभी पिम्पल किसी ख़ास इवेंट से पहले हो तब तो चिढ़ मच जाती है. ऐसे में लड़कियां सबसे पहले इंटरनेट पर जो सर्च करती हैं, वो है- रातभर में पिंपल्स से छुटकारा पाने के तरीके. और इन तरीकों में सबसे सामान्य समाधान जो गूगल सुझाता है, वो है: अपने पिम्पल पर टूथपेस्ट लगाएं.

मुहांसे से जल्दी से जल्दी छुटकारा पाने की चाहत में महिलाएं इस समाधान को ख़ूब अपनाती भी हैं. लेकिन इसका नतीजा कभी भी अच्छा नहीं मिलता. हां, इसे लगाने पर पिंपल सिकुड़ जाता है और सूजन भी कुछ कम हो जाती है, लेकिन इससे आपकी त्वचा को बहुत ज़्यादा नुकसान पहुंच सकता है.

यहां हम उन कारणों के बारे में बता रहे हैं, जिनके चलते आपको मुहांसों पर टूथपेस्ट नहीं लगाना चाहिए

 

रूखापन

रूखापन

टूथपेस्ट में कठोर इन्ग्रीडिएंट्स होते हैं, जैसे- एसएलएस और सोडियम बाइकार्बोनेट, जो दांतों के स्वास्थ्य के लिए तो फ़ायदेमंद होते हैं, लेकिन ये त्वचा पर बहुत कठोर साबित हो सकते हैं. यदि आपने कभी अपने मुहांसे पर टूथपेस्ट लगाया होगा तो आप जानती ही होंगी कि यह आपकी त्वचा को सुखा देता है. और जिनकी त्वचा ड्राइ या सेंसिटिव है, उन लोगों को इससे और भी ज़्यादा रूखापन महसूस होता है. इस रूखेपन से लड़ने के लिए आपकी त्वचा और अधिक तेल का उत्पादन करने लगेगी और इससे और ज़्यादा पिम्पल्स होंगे.

 

त्वचा पर जलन होना

त्वचा पर जलन होना

ये घरेलू नुस्खा लड़कियों के बीच लोकप्रिय इसलिए है, क्योंकि यह सूजन को कम कर देता है. टूथपेस्ट में ट्राइक्लोसैन नामक इन्ग्रीडिएंट होता है, जो मुहांसे पैदा करने वाले बैक्टीरिया को ख़त्म कर देता है. इससे आपको तुरंत राहत तो मिलती है, लेकिन इसकी क़ीमत आपकी त्वचा को चुकानी पड़ती है: त्वचा पर जलन होती है. टूथपेस्ट में कठोर इन्ग्रीडिएंट्स की अधिकता की वजह से चाहे आप इसकी कितनी भी कम मात्रा का ही क्यों न इस्तेमाल करें, लेकिन इसके इस्तेमाल से आपको जलन और खुजली की समस्या तो होगी ही.

 

दाग धब्बे और निशान

दाग धब्बे और निशान

टूथपेस्ट के इस्तेमाल से आप मुहांसों को राहत पहुंचाने की जगह उन्हें उकसाने का काम कर सकती हैं. टूथपेस्ट लगाने से बहुत ज़्यादा रूखेपन और त्वचा पर होने वाली जलन के अलावा आपके चेहरे पर ऐसे दग धब्बे भी आ सकते हैं, जिन्हें ठीक होने में महीनों का समय लग सकता है. कई बार चेहरे को पहुंचा ये नुकसान इतना ज़्यादा हो सकता है कि इसे ठीक कराने के लिए आपको किसी डर्मैटोलॉजिस्ट की मदद लेनी पड़ सकती है. अत: हमारी सलाह तो यही है कि आप टूथपेस्ट का इस्तेमाल वहीं करें, जहां के लिए इसे बनाया गया है- यानी दांत साफ़ करने के लिए.

पिम्पल्स को ठीक करने का सही तरीका है किसी डर्मैटोलॉजिस्ट की सलाह से स्पॉट ट्रीटमेंट करना. इस मामले में घरेलू नुस्खों से दूर रहना ही अच्छा है. क्योंकि हम सभी की त्वचा का प्रकार यानी स्किन टाइप अलग अलग होता है. जो चीज़ किसी एक के लिए काम करती है, ज़रूरी नहीं है कि वह किसी दूसरे के लिए भी काम करे. दूसरा डीआईवाई इन्ग्रीडिएंट जिसे मुहांसों को ठीक करने में मामले में इस्तेमाल करने से बचना चाहिए, वह है नींबू का रस. यह भी मुहांसे और उसके आसपास के त्वचा में जलन पैदा कर सकता है.