अच्छा एक बात बताइये, जब आपको लगता है कि आपके होंठ फंटे हुए होते हैं और आपको मोइश्चर की ज़रूरत महसूस हो रही है, लेकिन आपके पास लिप बाम नहीं है, तो ऐसे में आप क्या करते हैं? आप होंठ चाटते हैं यानी होठों पर जीभ फेरते हैं। सही कहा न? वैसे यह बहुत आम बात है। लेकिन यदि आपके होंठ अक्सर रूखे और फटे हुए रहते हैं, तो हो सकता है यह आपके होंठ चाटने के कारण हो। हम आपको बताते हैं कि क्या होता है, जब आप होंठ चाटते हैं? आइये, जानते हैं कि इस आदत को कैसे रोकें।

 

क्या होता है, जब आप होंठ चाटते हैं?

क्या होता है, जब आप होंठ चाटते हैं?

आपको लगता होगा कि होंठ को चाटने से वो नम रहते हैं, लेकिन वास्तव में देखा जाय तो इससे होंठों का रूखापन और भी बढ़ जाता है। जी हाँ, यह सही है। आपके होंठ चाटने की आदत और लगातार होंठों के रूखेपन को क्रोनिक कंडीशन लिप लिकर डर्मेटाइटिस कहा जाता है। आपका सलाइवा यानी लार होंठों को मोइश्चराइज़ करता है लेकिन तुरंत ही उड़ जाता है और आपके होंठ पहले की तरह फिर से ड्राय हो जाते हैं। इसका कारण है कि सलाइवा में डायजेस्टिव एंज़ाइम्स होते हैं, जो आपके होंठों की त्वचा को खराब कर देते हैं और उन्हें रूखा बना देते हैं।

 

क्या करें?

क्या करें?

होठों को चाटने से वो और ज़्यादा ड्राय और खराब हो होते हैं। इसके लिए आपको अपने होठों को हमेशा हाइड्रेट करते रहना चाहिए। एक लिप बाम हमेशा अपने साथ रखें और जब भी आपको होंठ रूखे लगें, उन पर बाम लगा लें। इसके अलावा खूब सारा पानी पिएं। हाइड्रेट स्किन के लिए बॉडी का हाइड्रेट होना बहुत ज़रूरी है। चूंकि आपके होठों की स्किन ज़्यादा सेंसिटिव होती है, ये जल्दी ड्राय हो जाती है, इसलिए भरपूर पानी पिएं, जिससे आपके होंठ भी नम व हेल्दी रहे। जब आपके होंठ नम यानी हाइड्रेट रहेंगे तो आपको होठों को चाटने की ज़रूरत नहीं होगी।