यदि आप अपनी त्वचा की देखभाल को लेकर जुनूनी हैं तो आप हमेशा नए-नए स्किनकेयर प्रोडक्ट्स की तलाश में रहती होंगी, ताकि आप उसे अपनी मेकअप किटी में शामिल कर सकें. पर जब आप किसी प्रोडक्ट का इस्तेमाल करती हैं तो क्या आपको यह मालूम होता है कि यह आपकी त्वचा पर कैसे काम करता है? ये प्रोडक्ट्स कितने ही आम क्यों न हों पर उनके इस्तेमाल का उद्देश्य कभी कभी असमंजस में डाल देता है.

ऐसे ही असमंजस में डाल देने वाले प्रोडक्ट्स हैं-माइसेलर वॉटर और टोनर. ये ऐसे प्रोडक्ट्स हैं जो स्किनकेयर के शौक़ीनों को कन्फ़्यूज़ कर देते हैं. यदि आप भी माइसेलर वॉटर और टोनर के बीच अंतर जानना चाहती हैं तो इस आलेख को पढ़िए, क्योंकि यहां न सिर्फ़ हम इनके बीच अंतर के बारे में बता रहे हैं, बल्कि यह भी बता रहे हैं कि इन दोनों का ही आपके ब्यूटी किट में होना कितना ज़रूरी है.

in

माइसेलर वॉटर

माइसेलर वॉटर दरअस्ल, तेल और पानी का ऐसा मिश्रण है, जो आपके चेहरे से मेकअप और अशुद्धियों को दूर करता है. तेल की छोटी बूंदें, जिन्हें माइसेल्ज़ कहा जाता है, उन्हें सॉफ़्ट वॉटर में डाला जाता है, इससे चेहरे से धूल-गंदगी और तेल साफ़ हो जाता है और आपकी त्वचा साफ़-सुथरी व हाइड्रेटेड हो जाती है. यह एक ऐसा क्लेंज़िंग प्रोडक्ट है, जो एक साथ मेकअप हटाता है, चेहरा साफ़ करता है और चेहरे को मॉइस्चराइज़ करता है. लेकिन इसका मुख्य उद्देश्य चेहरे से तेल, ज़िद्दी मेकअप और गंदगी को हटाना होता है. यह मेकअप के हर कण को (यहां तक कि वॉटरप्रूफ़ मेकअप के भी) चेहरे से हटा देता है और यही इस स्किनकेयर प्रोडक्ट का प्रमुख काम है, जिसके लिए इसे इस्तेमाल किया जाता है.

real difference between micellar water and toner

टोनर

टोनर का इस्तेमाल तब किया जाता है, जब आप मेकअप हटाने के बाद अपना चेहरा फ़ेस वॉश से अच्छी तरह साफ़ कर चुकी हों. टोनर में पानी और त्वचा से प्यार करने वाले इन्ग्रीडिएंट्स होते हैं, जैसे- ग्लिसरीन, ऐसिड्स और ऐंटीऑक्सिडेंट्स वाला फ़ॉर्मूला. यह त्वचा के पीएच स्तर को सही बनाए रखने, त्वचा के रोमछिद्रों को सिकोड़ने, त्वचा से मृत कोशिकाओं यानी डेड स्किन सेल्स को हटाने और त्वचा को हाइड्रेटेड बनाए रखने का काम करता है. यह चेहरे के उन हिस्सों को भी साफ़ करता है, जिन्हें क्लेंज़र साफ़ नहीं कर पाता. साथ ही, यह आपकी त्वचा से अतरिक्त ऑइल को हटाते हुए आपकी त्वचा को भरा-भरा बना देता है.

real difference between micellar water and toner

क्या इस्तेमाल करें माइसेलर वॉटर या टोनर?      

कोई भी चीज़ इस्तेमाल करने से पहले माइसेलर वॉटर का इस्तेमाल करें. यह आपके स्किनकेयर रूटीन का पहला क़दम होना चाहिए. रुई के एक फाहे यानी कॉटन बॉल पर थोड़ा सा माइसेलर वॉटर डालें और इसे अपने चेहरे पर फिराते हुए चेहरे को साफ़ करें. अब अपने चेहरे को फ़ेस वॉश की सहायता से साफ़ करें और थपथपाते हुए पोछें. इसके बाद टोनर का इस्तेमाल करें. टोनर आपकी त्वचा के रोमछिद्रों में कसाव लाता है और मॉइस्चर को त्वचा के भीतर सील करने का काम करता है. यह त्वचा को गहराई से साफ़ भी करता है और उसे स्वस्थ चमक भी देता है. इसके बाद मॉइस्चराइज़र लगाएं.