थकान, मूड स्विंग्स और क्रैम्प्स ये सारी समस्याएं तो पीरियड्स के दौरान आपको भी होती ही होंगी, लेकिन क्या आपको पता है कि आप पीरियड्स के दौरान जो खाती हैं, दरअस्ल वही ये तय करता है कि इस दौरान आपको कैसा महसूस होगा. ये पता चला है कि सही न्यूट्रिएंट्स लेने से, वो भी ख़ासतौर पर इन पांच दिनों में, मांसपेशियों का दर्द, पेट फूलना और सिरदर्द कम हो सकता है. यही नहीं पीरियड्स के दौरान बिगड़ जाने वाले पाचन तंत्र को भी सुधारा जा सकता है. हालांकि पीरियड्स के दौरान खाने पर टूट पड़ना आपको अपना हक़ लगता होगा, लेकिन आपको कठिन रास्ता चुनते हुए यह तय करना होगा कि आप खाने के लिए सही चीज़ों का ही चुनाव करें. इस बारे में आपको और अच्छी तरह गाइड करने के लिए कि आप पीरियड्स के दौरान क्या खाएं और क्या न खाएं, ही तो हमने ये आलेख लिखा है. तो देर किस बात की? इसे पूरा पढ़ जाइए और पीरियड्स के दौरान होने वाली शारीरिक असहजताओं को आसानी से दूर कर डालिए.

 

1. ये न खाएं: प्रोसेस्ड फ़ूड

ये न खाएं: प्रोसेस्ड फ़ूड

अचार, पापड़, फ्रोज़न फ़ूड, फ़ास्ट फ़ूड, कैन्ड सूप वगैरह के इन्ग्रीडिएंट्स भी हमें पता नहीं होते और इनमें मौजूद प्रिज़र्वेटिव्स पीरियड्स के दौरान आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकते हैं. वे हॉर्मोन्स पर असर डाल सकते हैं और पीएमएस की असहजता को बढ़ा सकते हैं.

  • हमारी सलाह: पीरियड्स के दौरान घर पर बना खाना, जिसमें सलाद और सब्ज़ियां शामिल हों, खाएं. खिचड़ी और दलिया जैसा पेट के लिए हल्के व्यंजन और भी अच्छे रहेंगे.
 

2. ये न खाएं: ज़्यादा फ़ैट वाली चीज़ें

ये न खाएं: ज़्यादा फ़ैट वाली चीज़ें

ज़्यादा फ़ैट वाले खाद्यपदार्थ हॉर्मोन्स पर असर डालते हैं और इससे क्रैम्प्स के साथ साथ गैस की समस्या भी हो सकती है. चूंकि पीरियड्स के दौरान आपकी त्वचा भी संवेदनशील होती है अत: ग़लत तरह की चीज़ें खाने से आपकी त्वचा डीहाइड्रेटेड और ड्राइ महसूस हो सकती है. अत: पीरियड्स के दौरान वसायुक्त बर्गर और क्रीम वाले डिज़र्ट्स न खाएं.

  • हमारी सलाह: पीरियड्स के समय गेहूं से बनी यानी होल वीट ब्रेड, दाल-चावल, दलिया, सामन मछली और कम वसा वाला मीट खाया जा सकता है.
 

3. ये न खाएं: डेयरी प्रोडक्ट्स

ये न खाएं: डेयरी प्रोडक्ट्स

हमें पता है कि आप ये पढ़कर अचरज में हैं, लेकिन डेयरी प्रोडक्ट्स, जैसे- दूध, क्रीम और चीज़ को पीरियड्स के दौरान नहीं खाना चाहिए. इनमें ऐरैकिडॉनिक ऐसिड होता है, जो मेन्स्ट्रुअल क्रैम्प्स को बढ़ा सकता है.

  • हमारी सलाह: आप छाछ यानी मठा या टोन्ड मिल्क ले सकती हैं. ये दोनों ही पीरियड्स के दौरान सेवन किए जा सकने वाले पेय पदार्थ हैं.
 

4. ये न खाएं: तली हुई चीज़ें

ये न खाएं: तली हुई चीज़ें

ये तो ख़ुद ब ख़ुद समझ में आने वाली बात है कि तली हुई चीज़ें, जैसे- चिप्स, स्नैक्स, बिस्किट्स आदि में ट्रांस फ़ैट्स या हाइड्रोजनेटेड वेजेटेबल ऑइल होता है. पीरियड्स के दौरान इन्हें खाने से आपके शरीर में इस्ट्रोजेन का स्तर बढ़ जाता है और इससे मूड स्विंग्स भी बढ़ जाते हैं.

  • हमारी सलाह: तो आप सोच रही हैं कि फिर पीरियड्स के समय आपको क्या खाना चाहिए? भुने हुए स्नैक्स और कुरकुरी सब्ज़ियां, जैसे- गाजर, खीरा वगैरह.
 

5. ये न खाएं: रिफ़ाइन्ड अनाज

ये न खाएं: रिफ़ाइन्ड अनाज

ब्रेड, पिज़्ज़ा, सीरियल्स और टॉर्टिला जैसी चीज़ें न खाएं. ये चीज़ें पीरियड्स के दौरान होने वाली ब्लोटिंग और कब्ज़ को बढ़ाती हैं.

हमारी सलाह: इसकी बजाय होल ग्रेन्स की चीज़ें चुनें, जिनका जीआई इन्डेक्स कम हो और जो आपके पाचन तंत्र को सही रखने के साथ-साथ ज़्यादा भूख को भी नियंत्रित कर सकें.

 

6. ये न खाएं: ऐसी चीज़ें जिनमें नमक की मात्रा ज़्यादा हो

ये न खाएं: ऐसी चीज़ें जिनमें नमक की मात्रा ज़्यादा हो

कैन्ड सूप, चिप्स और अन्य पैकेज्ड फ़ूड्स में नमक की मात्रा ज़्यादा होती है और पीरियड्स के दौरान ज़्यादा नमक खाना सेहत की दृष्टि से ठीक नहीं है. मेन्स्ट्रुएशन के लिए ज़िम्मेदार हॉर्मोन्स पहले ही शरीर में वॉटर रिटेन्शन करते हैं और ज़्यादा नमक वाले खाद्यपदार्थों के सेवन से गैस व पेट फूलने की समस्या भी हो जाएगी.

  • हमारी सलाह: पीरियड्स के दौरान दाल-चावल खाएं. दही और सलाद भी  ले सकती हैं. आप जो भी खा रही हों, उस पर ध्यान दें और इस दौरान अपनी भूख से थोड़ा कम खाएं.
 

7. ये न पिएं: ऐल्कहॉल

ये न पिएं: ऐल्कहॉल

भले ही आपकी कितनी भी इच्छा क्यों न हो पीरियड्स के दौरान ड्रिंक ना लें. इससे आपको अस्थाई तौर पर भले ही राहत मिले, लेकिन बहुत सारी नकारात्मक चीज़ें भी होंगी, जो आपको ज़्यादा परेशान कर सकती हैं. इससे आपके पीरियड्स अनियमित हो सकते हैं और इस्ट्रोजेन का स्तर बढ़ सकता है, जिससे पीरियड्स के लक्षण और ख़राब रूप ले सकते हैं. यदि ये बातें आपको रोक नहीं पा रही हैं तो हम बता दें कि ऐल्कहॉल डाइयूरेटिक नेचर का होता है, जो शरीर में वॉटर रिटेंशन बढ़ा देता है और आप बहुत फूली हुई नज़र आ सकती हैं.

  • हमारी सलाह: लस्सी या नारियल पानी पिएं. ये पेय आपको हाइड्रेटेड भी रखेंगे और पीरियड्स में कोई परेशानी भी पैदा नहीं करेंगे.
 

8. ये न पिएं: कैफ़ीन वाले पेय

ये न पिएं: कैफ़ीन वाले पेय

यदि आप कॉफ़ी पीती हैं तो पीरियड्स के दौरान इसकी मात्रा कम कर दें या पीना बंद कर दें. कॉफ़ी ब्लड प्रेशर बढ़ाती है, जिससे तनाव और एंग्ज़ाइटी अटैक्स होने की संभावना होती है यानी पीएमएस बहुत ही ख़राब हो सकता है.

  • हमारी सलाह: ग्रीन टी पिएं, टमाटर और गाजर का जूस या घर पर बनाया गया सूप पिएं. इससे क्रैम्प्स में राहत मिलेगी.
 

9. ये खाएं: हरी पत्तेदार सब्ज़ियां

ये खाएं: हरी पत्तेदार सब्ज़ियां

हमें पता है कि पीरियड्स के क्रैम्प्स झेलने के बावजूद हरी पत्तेदार सब्ज़ियां वो सबसे आख़िरी चीज़ हैं, जिसे आप खाना चाहेंगी, लेकिन पीरियड्स के बीच पालक, मेथी जैसी हरी सब्ज़ियां खाना बहुत ज़रूरी है, क्योंकि इनमें बहुत सारा आयरन होता है, जिसकी पीरियड्स के दौरान आपको बहुत ज़रूरत होती है. अत: जब भूख लगे इन सब्ज़ियों को सलाद में मिला लें, सूप बना लें या वेज लज़ान्या भी चलेगा.

 

10. ये खाएं: चॉकलेट

ये खाएं: चॉकलेट

हमें पता है यह पढ़ते ही आप ख़ुश हो गईं और पीरियड्स का दर्द कुछ पलों के लिए तो आपके ज़हन से निकल ही गया, है ना? पीरियड्स के दौरान आप बिना किसी ग्लानि के डार्क चॉकलेट्स खा सकती हैं. डार्क चॉकलेट्स में शक्कर की मात्रा कम होती है और मैग्नीशियम काफ़ी मात्रा में पाया जाता है, जो आपके सेरोटोनिन के स्तर को नियिमत करता है, जिससे अपके मूड स्विंग्स नियंत्रण में रहेंगे.

 

11. ये खाएं: केला

ये खाएं: केला

यदि आप पीरियड्स के समय कुछ सेहतमंद खाना चाहती हैं तो आप केला तो बिंदास खा सकती हैं. केले में पोटैशियम और विटामिन B6 बहुतायात में पाया जाता है. ये न सिर्फ़ आपको मानसिक आराम देगा, अच्छी नींद लाएगा, बल्कि आपका पेट भी साफ़ रखेगा और पेट फूलने से राहत देगा. यदि आपको केला खाना अच्छा नहीं लगता हो तो इससे बनी स्मूदी ट्राइ करें.

 

12. ये खाएं: सामन मछली

ये खाएं: सामन मछली

यदि आप मछली खाती हैं तो पीरियड्स के दौरान सामन मछली खाएं. इसमें ओमेगा 3 फ़ैटी ऐसिड्स काफ़ी मात्रा में पाए जाते हैं, जो आपकी मांसपेशियों और शरीर को आराम पहुंचाते हैं और क्रैम्प्स में कमी लाते हैं. यदि आप शाकाहारी हैं तो ओमेगा 3 फ़ैटी ऐसिड्स के लिए अलसी यानी फ़्लैक्सीड्स और सोयाबीन्स खा सकती हैं.

 

13. ये खाएं: दही

ये खाएं: दही

ऊपर हमने कहा था कि पीरियड्स के दौरान डेयरी प्रोडक्ट्स न खाएं, लेकिन दही इसका एक्सेप्शन है. यह कहा जाता है कि यदि कैल्शियम का स्तर अच्छा रखा जाए तो पीएमएस के लक्षण, जैसे-ब्लोटिंग और मूड स्विंग्स को नियंत्रण में रखा जा सकता है. यदि आप फिर भी दही नहीं खाना चाहतीं तो बादाम या दाल खाई जा सकती है.

 

14. ये खाएं: होल ग्रेन्स

ये खाएं: होल ग्रेन्स

यदि आप उन लोगों में से हैं जो पीरियड्स के दौरान खाने पर टूट पड़ते हैं तो होल ग्रेन आपके लिए बढ़िया स्नैक्स हैं. इन्हें खाने पर आपका पेट लंबे समय तक भरा हुआ रहेगा. इनमें विटामिन B और E होते हैं, जो उस थकान और डिप्रेशन से निजात दिलाते हैं, जो पीरियड्स के दौरान अमूमन हर महिला को महसूस होती है. तो अब पीरियड्स के दौरान आपको जब भी भूख सताए एक बोल ओटमील या पास्ता खा लें.

  • ये खाएं: तरबूज़

जैसे ही आपको भूख लगे और आपका मन ब्राउनीज़, आइसक्रीम वगैरह खाने का करे इन शक्कर से भरी चीज़ों को खाने की बजाय तरबूज़ जैसा फल खाने को तरजीह दें. हालांकि आपके लिए ऐसा करना मुश्क़िल होगा, लेकिन हम आपको बता दें कि तरबूज़ में बहुत सारे पोषक तत्व और विटामिन्स होते हैं, जो आपको पीरियड्स के दौरान महसूस हो रही थकान और कमज़ोरी को दूर करने में सक्षम हैं.