सर्दियों का मौसम भला किसे पसंद नहीं, लेकिन यह अपने साथ में कई मुसीबतें भी लाता है और उनमें से एक है होठों का फटना। ठंडी हवा और लो ह्यूमिडीटी से होंठ ड्राय होकर फटने लगते हैं और कभी-कभी तो उसमें से खून भी निकल आता है। सिम्पल-सा लिप बाम इस मौसम का असर खत्म नहीं कर पाता है, क्योंकि इस मौसम में आपके होठों को चाहिए कुछ ख़ास केयर। हम लेकर आए हैं कुछ उपाय, जिससे आप इस समस्या से निजात पा सकते हैं।

 

लिप्स को एक्सफोलिएट करें

लिप्स को एक्सफोलिएट करें

यदि आपके होंठ फटे हुए हैं और उन पर डेड स्किन जमी हुई है, तो कोई भी लिप बाम या मास्क आपके होठों को मोइश्चराइज़ नहीं कर सकता। आपका लिप बाम अपना काम सही तरह से कर सके इसके लिए ज़रूरी है कि आप अपने होठों को एक्सफोलिएट करें। इसके लिए लिप स्क्रब खरीदें या फिर घर पर ही ऑलिव ऑयल और ब्राउन शुगर का स्क्रब बनाएं और लिप्स पर हल्के-हल्के लगाएं, ताकि डेड स्किन सेल्स हट जाए।

 

एक अच्छा लिप बाम खरीदें

एक अच्छा लिप बाम खरीदें

जब बात आती है लिप बाम या अन्य स्किन केयर प्रोडक्ट खरीदने की तो ऐसे प्रोडक्ट न खरीदें, जो सिर्फ अच्छी खुशबू देते हैं। इंग्रेडिएंट्स भी पढ़ें और वही ख़रीदें, जो आपकी समस्या से निपट सके। Vaseline Lip Therapy Vitamin E - Original में आर्टिफ़िशियल फ्लेवर नहीं है, जो हर किसी के लिए उपयुक्त है, चाहे फिर आपकी स्किन सेंसिटिव ही क्यों न हो। यह विटामिन ई युक्त है, जो आपके होठों को लम्बे समय तक हाइड्रेट रखती है।

 

सनस्क्रीन लगाएं

सनस्क्रीन लगाएं

होठों पर सनस्क्रीन लगाना बेहद ज़रूरी है, जी हां, चाहे मौसम सर्दियों का ही क्यों न हो। आपके होठों की स्किन पतली होती है और सूर्य की किरणें आसानी से स्किन के अंदर तक जाकर नमी चुरा सकती है, जिससे वो ड्राय, डल और पिगमेंटेड लग सकते हैं। इसके लिए ब्रॉड-स्पेक्ट्रम सनस्क्रीन, जैसे- Ponds Sun Protect Non-Oily Sunscreen SPF 30 को चेहरे के साथ होठों पर भी लगाएं।

 

होठों पर जीभ न फेरें

होठों पर जीभ न फेरें

सर्दियों में होंठों पर ड्रायनेस आ जाती है और आप इसे नमी देने के लिए होठों पर जीभ फेरते हैं या उसे मुंह में लेते हैं। इससे होठों की ड्रायनेस और ही बढ़ जाएगी। अब आप सोच रहे होंगे कि ये कैसे हो सकता है? कारण ये है मुंह में जो लार यानी सलाइवा होता है, उसमें डायजेस्टिव एंजाइम्स होते हैं, जो होठों की नाज़ुक स्किन के लिए थोड़े हार्श होते हैं। ये स्किन को समय के साथ और भी सेंसिटिव बना सकते हैं। लगातार होठों को मुंह में लेने या जीभ फिराते रहने से वो फट सकते हैं, उन पर पपड़ी जम सकती है और ब्लीडिंग भी हो सकती है। इसलिए ऐसा करने से बचें।