अक्सर कहा जाता है कि मुस्कान से चेहरा खिल उठता है. और हमारा कहना है कि मुस्कान का प्रभाव तब और भी सकारात्मक पड़ता है, जब आपके दांत मोतियों की तरह चमकते हुए हों. यहां हम आपको कुछ आसान से ख़ुद ही आज़माए जा सकने वाले घरेलू नुस्ख़े बता रहे हैं, जो आपकी मुस्कान को आपके व्यक्तित्व की तरह निखार देंगे.
केले के छिलके
 

केले के छिलके

केले के छिलकों को फेंकने की बजाय इनका इस्तेमाल अपने दांतों की चमक बढ़ाने के लिए कीजिए. केले में मैंगनीज, पोटैशियम और मैग्नीशियम की काफ़ी मात्रा पाई जाती है, जो दांतों पर आए दाग़ या रंग के बदलाव को हटाने में मददगार है. केले के छिलके को अपने दांतों पर रगड़ने से आप दांतों को एक्स्फ़ॉलिएट करेंगी और छिलके में मौजूद मिनरल्स आपके दांतों को चमकाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे.

स्ट्रॉबेरीज़
 

स्ट्रॉबेरीज़

अब जब भी कभी आप स्ट्रॉबेरी खा रही हों तो आप लोगों को बिंदास बता सकती हैं कि आप केवल इसके रसीले स्वाद के मज़े ही नहीं ले रहीं, बल्कि साथ में अपने दांतों की मदद भी कर रही हैं. स्ट्रॉबेरीज़ में विटामिन सी और मैलिक ऐसिड होता है. ये दोनों ही दांतों को सफ़ेद बनाने वाले यानी टूथ-वाइटनिंग एजेंट्स हैं. दांतों में चमक लाने के लिए पकी हुई स्ट्रॉबेरीज़ बेहतरीन होती हैं, क्योंकि उनमें मैलिक ऐसिड की मात्रा कम पकी हुई स्ट्रॉबेरीज़ की तुलना में कहीं ज़्यादा होती है. आपको करना बस यह है कि पकी हुई स्ट्राबेरीज़ को क्रश करें और इस मिश्रण को टूथब्रश पर रखकर अपने दांतों पर हल्के हाथों से रगड़ें और मोतियों जैसे चमकते हुए दांत पाएं.

बेकिंग सोडा और हाइड्रोजन परॉक्साइड
 

बेकिंग सोडा और हाइड्रोजन परॉक्साइड

बेकिंग सोडा और हाइड्रोजन परॉक्साइड दांतों को चमकाने की जानी-मानी जोड़ी है. अलग-अलग तो ये दोनों ही दांतों को बहुत अच्छी तरह चमका देते हैं, पर हमारा यक़ीन मानिए कि जब ये साथ मिल जाएंगे तो आपकी मुस्कान बिल्कुल किसी टूथपेस्ट के विज्ञापन जैसी नज़र आने लगेगी. जहां हाइड्रोजन परॉक्साइड ब्लीचिंग एजेंट होने के कारण तुरंत ही दांतों को चमकाने का काम करता है, वहीं बेकिंग सोडा दांतों में दाग़ लगाने वाले फ्री रेडिकल्स को नष्ट कर देता है. ज़ाइलिटॉल युक्त चूइंग गम का इस्तेमाल शक्कर के लिए कहा जाता है कि यह दांतों के लिए किसी कैंसर से कम नहीं, पर ज़ाइलिटॉल (Xylitol) एक नैसर्गिक स्वीटनर है, जो शक्कर के उलट दांतों को सफ़ेद बनाने में कारगर होता है. यह हमारे दांतों पर बैक्टीरिया के चिपकने की क्षमता के साथ-साथ प्लाक को भी कम करता है और दांतों को सड़न से भी बचाता है.

ऐक्टिवेटेड चारकोल
 

ऐक्टिवेटेड चारकोल

सक्रिय यानी ऐक्टिवेटेड चारकोल में उस ‘टैनिन’ को बांध लेने के गुण होते हैं, जो चाय, कॉफ़ी और अल्कोहल में पाया जाता है और दांतों के रंग के पीला पड़ने के लिए ज़िम्मेदार होता है. जब आप चारकोल को अपने मुंह में चारों और घुमाकर थूकते हैं तो इसके साथ वे सभी पदार्थ मुंह से बाहर निकल जाते हैं, जो आपके दांतों को दाग़दार बना रहे थे.