जैसे ही आपके स्कैल्प पर खुजली चलती है आप रूसी यानी डैंड्रफ़ का इलाज करने निकल पड़ती हैं, लेकिन इस खुजली की वजह केवल डैंड्रफ ही नहीं है, बल्कि इसकी वजह रूखी और पपड़ीदार यानी फ़्लेकी स्कैल्प भी हो सकती है. यदि आपकी स्कैल्प रूखी और फ़्लेकी है तो यह बहुत ज़रूरी है कि आप इसकी सही वजह जानें. इससे आप बिना समय और ऊर्जा नष्ट किए इस समस्या का सही इलाज कर सकेंगी.

यहां हम वो चार कारण बता रहे हैं, जिनकी वजह से स्कैल्प ड्राइ और फ़्लेकी हो जाती है. साथ ही हम इनसे निपटने का तरीका भी बता रहे हैं.

 

01. सेबोरीक डर्मैटाइटिस यानी डैंड्रफ

01. सेबोरीक डर्मैटाइटिस यानी डैंड्रफ

सेबोरीक डर्मैटाइटिस, डैंड्रफ का ही दूसरा नाम है यह ऐसे शरीर पर होता है, जहां बहुत ज़्यादा तेल उत्पादन करने वाली (सेबैशियस) ग्रंथियां होती हैं. यह अक्सर स्कैल्प पर दिखाई देता है और इसकी वजह से रूखापन होता है व पपड़ी जमती है. इसका सटीक कारण तो पता नहीं है, लेकिन कहा जाता है कि इसके लिए जीन्स और हॉर्मोन्स ही ज़िम्मेदार होते हैं.

आपको बता दें: डैंड्रफ़ का कोई इलाज नहीं है, लेकिन इसे नियंत्रण में रखने के, पपड़ी को कम करने के कई तरीके हैं. इनमें से सबसे आसान है किसी ऐंटी-डैंड्रफ़ शैम्पू का इस्तेमाल करना. लेकिन शैम्पू के लेबल को ज़रूर पढ़ लें और अच्छे नतीजे पाने के लिए ऐसा शैम्पू चुनें, जिसमें ज़िंक पाइरिथिऑन या सेलेनियम सल्फ़ाइड मौजूद हों. इस शैम्पू को केवल अपने स्कैल्प पर लगाएं और कुछ मिनटों तक लगा रहने दें, ताकि यह अपना काम कर सके. लेकिन यदि डैंड्रफ की समस्या बढ़ती जा रही है तो अपने डर्मैटोलॉजिस्ट से बात करें. आप केमिस्ट की शॉप से ओवर-द-काउंयर हाइड्रोकॉर्टिसॉन क्रीम (1%) खरीद कर एक सप्ताह तक दिन में दो बार इस्तेमाल कर सकती हैं.

बीब्यूटिफ़ुल सलाह: डव डैंड्रफ़ क्लीन ऐंड फ्रेश शैम्पू/ Dove Dandruff Clean & Fresh Shampoo

 

02. खानपान

02. खानपान

ये बात पूरी तरह सही है कि जो आप खाती हैं, वो आपके चेहरे की त्वचा और बालों की सेहत से पता चल जाता है. ज़्यादा कार्बोहाइड्रेट्स वाली डायट, जैसे- ब्रेड, आलू और डेयरी प्रोडक्ट्स से आपके स्कैल्प पर यीस्ट बढ़ जाता है. इससे स्कैल्प रूखी, फ़्लेकी और खुजलीभरी हो सकती है.

हम ये नहीं कह रहे हैं कि आप कार्बोहाइड्रेटस लेना बिल्कुल बंद कर दें, लेकिन यदि आप लंबे समय से डैंड्रफ की समस्या से जूझ रही हैं तो कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम कर दें. अपने बालों के लिए ओमेगा 3 फ़ैटी ऐसिड से भरपूर चीज़ें खाएं, सप्लिमेंट के तौर पर फ़िश ऑइल लें, जिंक और विटामिन A, B व C से भरपूर फल व सब्ज़ियां खाएं. साथ ही ढेर सारा पानी पी कर अपने रूखे स्कैल्प को हाइड्रेटेड रखें.

 

03. हेयरस्टाइलिंग व हेयर केयर रूटीन

03. हेयरस्टाइलिंग व हेयर केयर रूटीन

हेयर प्रोडक्ट्स, जैसे- जेल्स, क्रीम्स, बाम्स, पॉमेड्स और स्प्रेज़ का स्कैल्प पर छूट जाने/जम जाने यानी प्रोडक्ट बिल्ड-अप की वजह से भी स्कैल्प पर पपड़ी जम सकती है और खुजली की समस्या हो सकती है. इन प्रोडक्ट्स में मौजूद कई कठोर इन्ग्रीडिएंट्स आपकी स्कैल्प पर ऐलर्जीज़ पैदा कर सकते हैं. जब भी कोई नया प्रोडक्ट इस्तेमाल करने जा रही हों तो उसका पैच टेस्ट करना न भूलें. या फिर आप इसके बारे में अपने डर्मैटोलॉजिस्ट से अपॉइंटमेंट ले कर ये जान सकती हैं कि आपकी त्वचा पर कौन से इन्ग्रीडिएंट्स सूट करेंगे. और इस जानकारी का इस्तेमाल हर बार कोई नया प्रोडक्ट ख़रीदते समय कर सकती हैं.

आपके बालों का रूखापन आपकी हेयर केयर की आदतों पर भी निर्भर करता है. आप कितनी बार बाल धोती हैं इस बात पर भी यह निर्भर करता है कि आपकी त्वचा में कितनी खुजली होती है या वो कितनी पपड़ीदार है. ज़रूरत से ज़्यादा बाल धोने से आपका स्कैल्प रूखा हो जाता है, जबकि आवश्यकता से कम धोने पर आपके स्कैल्प पर ऑइल बिल्ड-अप तैयार हो जाता है. अपने बाल धोने की आदतों में सुधार लाते हुए ड्राइ शैम्पू को भी इसका हिस्सा बना लीजिए. यदि आप अपने बाल धोने की फ्रीक्वेंसी को कम नहीं कर सकती हैं तो किसी सौम्य शैम्पू का ही इस्तेमाल करें.

बीब्यूटिफ़ुल सलाह: लव ब्यूटी ऐंड प्लैनेट टी ट्री ऐंड वेटिवरअरोमा रैडिकल रिफ्रेशर शैम्पू/Love Beauty & Planet Tea Tree and Vetiver Aroma Radical Refresher Shampoo

 

04. सोराइसिस

04. सोराइसिस

सोराइसिस त्वचा से जुड़ी एक आम समस्या है, जिसमें लाल और पपड़ीदार पैचेस बन जाते हैं, जिनमें खुजली होती है. यदि आपके शरीर पर सोराइसिस है तो इस बात की संभावना है कि यह आपके स्कैल्प पर भी हो जाए. इससे निजात पाने के लिए आपको किसी प्रोफ़ेशनल की मदद लेनी होगी, क्योंकि बिना मदद के इसका इलाज नहीं हो सकता. सोराइसिस की वजह स्कैल्प पर जमी पपड़ी और होने वाली खुजली के लिए आपको ऐसा हेयर वॉश चुनना होगा, जिसमें सैलिसिलिक ऐसिड या मिनरल ऑइल हो. यही वजह है कि इस मामले में किसी प्रोफ़ेशनल की सलाह लेना ज़रूरी है, ताकि वह आपको ऐसे प्रोडक्ट के इस्तेमाल के बारे में बता सके, जिससे आपके बाल चपटे न नज़र आएं.