जब कोइ ऐंटी-एजिंग स्किनकेयर की बात करता है तो हम तुरंत अपने चेहरे के बारे में सोचने लगते हैं. हम सभी अपने चेहरे पर बेहतरीन ब्यूटी प्रोडक्ट्स नियमित रूप से लगाते हैं, ताकि उसे उम्र के निशां छू भी न जाएं. लेकिन आपके शरीर के उन दूसरे हिस्सों का क्या, जो बढ़ती उम्र से प्रभावित होते हैं? उनका भी तो इसी मात्रा में ख़्याल रखे जाने की ज़रूरत है, क्योंकि वे आपकी उम्र के बढ़ने के निशान उजागर करने में बिल्कुल पीछे नहीं रहते.

आगे हम शरीर के उन हिस्सों की सूची दे रहे हैं, जिन्हें अक्सर ऐंटी-एजिंग स्किनकेयर रूटीन में हम शामिल ही नहीं करते, लेकिन उन्हें शामिल किया जाना बहुत ही ज़रूरी है, ताकि बढ़ती उम्र के निशानों की रफ़्तार धीमी की जा सके...

 

डीकोल्टाज

डीकोल्टाज

उम्र बढ़ने के साथ साथ आपके चेहरे की त्वचा का लचीलापन कम होता जाता है और यही बात आपकी गर्दन, छाती और कंधों की त्वचा के लिए भी बिल्कुल सही है. कैसे? क्योंकि शरीर के ये हिस्से भी सूर्य की किरणों और फ्री रैडिकल्स से होने वाले नुक़सान से उतने ही प्रभावित होते हैं, जितना कि आपका चेहरा. अत: इससे बचने के लिए आपको इन जगहों पर भी सनस्कीन (जिसका एसपीएफ़ 15 या उससे ज़्यादा हो) लगाना चाहिए, ताकि डीकोल्टाज भी कसा हुआ और जवां नज़र आए.

बीब्यूटीफ़ुल की सलाह: पॉन्ड्स एसपीएफ़ 50 सन प्रोटेक्ट नॉन-ऑइली सनस्क्रीन/Pond’s SPF 50 Sun Protect Non-Oily Sunscreen

 

हाथों का ऊपरी हिस्सा

हाथों का ऊपरी हिस्सा

आपके हाथ भी आपके शरीर का वो हिस्सा हैं, जो सूरज की किरणों और पर्यावरण में मौजूद प्रदूषण के संपर्क में हमेशा ही आते हैं, जिसकी वजह से यहां की त्वचा ढीली पड़ने लगती है, दाग़-धब्बे और झुर्रियां आने लगती हैं. अत: हाथों पर भी उम्र के निशानों की रफ़्तार कम करने के लिए आपको अच्छी तरह ध्यान देना होगा. हाथों पर ख़ूब सारा मॉइस्चराइज़र लगाना न भूलें, ताकि ये लंबे समय तक नर्म-मुलायम और जवां बने रहें.

बीब्यूटिफ़ुल की सलाह: वैसलीन इन्टेन्सिव केयर हेल्दी हैंड स्ट्रॉन्गर नेल्स हैंड क्रीम/Vaseline Intensive Care Healthy Hand Stronger Nails Hand Cream

 

पैरों का ऊपरी हिस्सा

पैरों का ऊपरी हिस्सा

ऐंटी-एजिंग स्किनकेयर रूटीन की बात चले तो अक्सर या यूं कहा जाए तो भी गलत न होगा कि हमेशा ही हम अपने पैरों के बारे में सोचते भी नहीं. लेकिन हमारे पैर भी तो खुले रहते हैं और सूरज की किरणों व पर्यावरण के अन्य कारकों के संपर्क में आने से उन्हें भी बहुत नुकसान पहुंचता है. यदि इनका ख़्याल न रखा जाए तो आपके चिकने और मुलायम पैरों को रूखे, फटे हुए, झुर्रियों से भरे और खुरदुरे बनने में ज़्यादा समय नहीं लगेगा. अपने पैरों को सुरक्षित रखने के लिए आपको इन पर मॉइस्चराइज़र और ऐसे ऐंटी एजिंग प्रोडक्ट्स लगाने होंगे, जिनमें विटामिन B3 या नाइअसिनमाइड मौजूद हो. ये शक्तिशाली ऐंटी एजिंग इन्ग्रीडिएंट्स झुर्रियों का आना रोकते हैं, त्वचा का लचीलापन बढ़ाते हैं और उसे चिकना बनाते हैं.

बीब्यूटिफ़ुल की सलाह: डव इसेंशियल नरिशमेंट बॉडी लोशन/Dove Essential Nourishment Body Lotion