त्वचा से जुड़ी आम समस्याओं में से एक है-त्वचा का कालापन यानी स्किन डार्कनिंग. हमारी व्यस्त जीवनशैली और नम वातावरण इस समस्या को और भी जटिल बना देते हैं.

हमारी त्वचा के कई हिस्से, जैसे- अंडरार्म्स (कांखें) और इनर थाइज़ (जांघों का अंदरूनी हिस्सा) हमेशा ही घर्षण और पसीना झेलते रहते हैं. इसी वजह से यहां की त्वचा काली पड़ जाती है.

इसीलिए हम यहां कुछ ऐसे नैसर्गिक घरेलू नुस्ख़ों के बारे में बता रहे हैं, जो आपकी त्वचा को काला पड़ने से रोकने में काम के साबित होंगे...
गर्दन का कालापन
 

गर्दन का कालापन

हालांकि गर्दन पर कालापन किसी बीमारी के चलते नहीं आता, पर यह शर्मिंदगी का सबब बन सकता है. गर्दन पर मौजूद कालेपन को हटाने का आमन्ड (बादाम) स्क्रब का इस्तेमाल करें. बादाम में प्रचुर मात्रा मे विटामिन E होता है, जो त्वचा को सेहतमंद बनाता है और त्वचा की रंगत को हल्का करता है.

आपको करना बस यह है कि पांच से आठ बादामों को पीसें. इसमें एक टेबलस्पून मिल्क पाउडर और एक टीस्पून शहद मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बनाएं. अच्छी तरह मिलाएं और गर्दन पर अप्लाइ करें.

इसे 30 मिनट तक लगा रहने दें. फिर रगड़ कर साफ़ करें और धो लें. इसे सप्ताह में तीन से चार बार दोहराएं और कुछ ही दिनों में आपको फ़र्क़ साफ़ नज़र आने लगेगा.

अंडरार्म्स का कालापन
 

अंडरार्म्स का कालापन

अंडरार्म्स का कालापन स्लीवलेस या ऑफ़-शोल्डर ड्रेस या टॉप पहनने के दौरान असहज बना सकता है. यहां पेश है काले अंडरार्म्स की रंगत को हल्का करने का आसान सा उपाय. इसके लिए चावल का आटा/ राइस पाउडर और विनेगर का पैक ट्राइ करें. चावल के आटे में ऑयल को नियंत्रित करने वाले गुण होते हैं और विनेगर त्वचा की रंगत को हल्का करने में सहायक होता है. यही नहीं, विनेगर उन बैक्टीरिया और रोगाणुओं को भी मार देता है, जिनकी वजह से दुर्गंध पैदा होती है.

चार टेबलस्पून चावल के आटे में दो टेबलस्पून विनेगर मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बना लीजिए. अपने अंडरार्म्स को साफ़ करने के बाद यह पेस्ट यहां लगाइए. इसे 20 मिनट या इसके सूखने तक लगा रहने दीजिए और फिर पानी से धो लीजिए. इसे सप्ताह में तीन से चार बार लगाइए. आपको अंडरार्म्स की रंगत में अंतर ख़ुद ही महसूस होगा.

इनर थाइज़ में कालापन
 

इनर थाइज़ में कालापन

हां, बिल्कुल! जांघों के अंदरूनी हिस्से का कालापन महिलाओं और पुरुषों दोनों के लिए ही असहजता का कारण बन जाता है. हालांकि इनर थाइज़ के कालेपन का कारण साफ़-सफ़ाई पर ध्यान न देना नहीं है. इसके कालेपन के कई कारण हैं, जैसे-मोटापा, घर्षण, हार्मोन्स का असंतुलन, डायबिटीज़ और भी अन्य कारण. इससे निजात पाने के लिए आप शहद, शक्कर और नींबू के स्क्रब का इस्तेमाल करें.

जहां शहद ड्राइ त्वचा के लिए सदियों से अच्छा माना जाता है, वहीं शक्कर इस हिस्से पर जमी डेड स्किन को हटाने का काम करेगी. यह पैक बनाने के लिए एक टेबलस्पून शहद, एक टेबलस्पून नींबू का रस और दो टेबलस्पून शक्कर मिलाएं.

इस मिश्रण को इनर थाइज़ पर लगाएं और हल्के हाथों से सर्कुलर मोशन में स्क्रब करें. इसे 15 मिनट तक लगा रहने दें और फिर गुनगुने पानी से धो लें. इसे सप्ताह में 2-3 बार दोहराएं. दो सप्ताह में आपको इसके नतीजे दिखाई देने लगेंगे.