गर्दन के आसपास की काली त्वचा से यूं पाएं निजात

Written by Shilpa SharmaSep 16, 2023
गर्दन के आसपास की काली त्वचा से यूं पाएं निजात

ये केवल सपनों की दुनिया में ही संभव है कि आपकी त्वचा हमेशा हेल्दी रहे और आपके बाल हमेशा सेहतभरी चमक से भरपूर नज़र आएं. और हमें यह तो मानना ही होगा कि हम सपनों की दुनिया में नहीं रहते हैं यानी हमें त्वचा से जुड़ी समस्याएं होती रहेंगी और हमें उनके समाधान भी तलाशते रहने होंगे. मुहांसों और ब्लैकहेड्स से भी ज़्यादा बुरी दिखाई देने वाली त्वचा की समस्या है त्वचा की रंगत का असमान होना. और ख़ासतौर पर ऐसी जगह की त्वचा, जहां सभी का ध्यान जाता हो.

गर्दन के आसपास की काली त्वचा एक ऐसी समस्या है, जो महिलाओं और पुरुषों दोनों को ही परेशान करती है. इस असमान रंगत का कारण ऐलर्जिक रिऐक्शन, टैनिंग या स्वास्थ्य से जुड़ी कोई अन्य समस्या भी हो सकती है. इसका कारण चाहे जो भी हो, हम कुछ ऐसे तरीके जानते हैं, जो गर्दन के आसपास की काली त्वचा को ठीक कर सकते हैं. नीचे हम आपको पांच ऐसे ही प्राकृतिक तरीकों के बारे में बता रहे हैं.

 

बादाम का तेल

ओटमील स्क्रब

बादाम के तेल यानी आमंड ऑइल में भरपूर मात्रा में विटामिन E होता है, जो त्वचा को राहत देता है और त्वचा की गहराई की पर्तों से इसे पुनर्जीवित करता है. इसमें हल्का सा ब्लीचिंग एजेंट भी होता है, जो त्वचा की असमान रंगत को सुधारता है. बादाम के तेल में थोड़ा-सा टी ट्री ऑइल मिलाएं और इससे रोज़ रात को गर्दन की मालिश करें. इससे यहां का रक्त प्रवाह सुधरेगा और त्वचा की रंगत हल्की होगी.

 

आलू का रस

ओटमील स्क्रब

आंखों के नीचे के काले घेरों से निजात पाने के लिए आलू की स्लाइसेज़ आंखों पर रखने का सुझाव देने के पीछे का कारण यह है कि इसमें ब्लीचिंग के गुण होते हैं, जो त्वचा की रंगत को प्राकृतिक रूप से उजला करते हैं. दिन में दो बार आलू का रस अपनी गर्दन पर लगाने से यहां की त्वचा के दाग़-धब्बे हल्के हो जाते हैं. रोज़ाना इस्तेमाल करने पर कुछ ही दिन में आपकी त्वचा साफ़-सुथरी व चमकदार दिखने लगती है.

 

दही

ओटमील स्क्रब

त्वचा को कोमल बनाने और पोषण देने के अलावा दही में प्राकृतिक एन्ज़ाइम्स होते हैं, जो असमान रंगत को और काले धब्बों को हल्का करते हैं. दही में नींबू मिलाकर उसे गर्दन पर लगाएं और लगभ 20 मिनट तक लगा रहने दें. फिर साफ़ कर लें. सप्ताह में दो-तीन बार ऐसा करने पर आपको गर्दन की त्वचा की रंगत में सकारात्मक बदलावा नज़र आएगा. यहां हम सलाह भी देंगे कि चूंकि नींबू ऐसिडिक होता है, कुछ लोगों की त्वचा पर सूट नहीं करता है. यदि आपकी त्वचा भी संवेदनशील है तो इसका इस्तेमाल न करें.

 

ऐप्पल साइडर विनेगर

ओटमील स्क्रब

त्वचा का कालापन और रूखापन त्वचा के पीएच स्तर के असंतुलन की वजह से भी हो सकता है. ऐप्पल साइडर विनेगर में मौजूद मैलिक ऐसिड एक्स्फ़ॉलिएटर की तरह काम करता है. त्वचा की मृत कोशिकाओं यानी डेड सेल्स को हटाता है और त्वचा को सेहतमंद चमक देता है. ऐप्पल साइडर विनेगर में पानी डालकर इसे पतला करें और हर दूसरे दिन इसे गर्दन पर लगाएं. फिर इसे धो कर मॉइस्चराइज़र लगाएं. आपको त्वचा की रंगत में अंतर नज़र आएगा.

 

ओटमील स्क्रब

ओटमील स्क्रब

कई बार गर्दन के आसपास की त्वचा को केवल अच्छी तरह स्क्रब करने से भी काम बन जाता है, क्योंकि इससे यहां जमा हुई धूल-गंदगी और डेड स्किन सेल्स हट जाती है. हम ओट्स से स्क्रबिंग की बात कर रहे हैं, क्योंकि यह त्वचा को साफ़ भी करता है और मॉइस्चराइज़ भी. इसका मतलब ये है कि आपकी गर्दन पर ड्राइ पैचेस नहीं होंगे. ओट्स में टमाटर का रस और ऑलिव ऑइल मिलाएं. इस मिश्रण को अपनी गर्दन पर लगाएं और सौम्यता से स्क्रब करें. इसे 20 मिनट तक लगा रहने दें. फिर धो लें.

Shilpa  Sharma

Written by

इन्हें भीतरी सुंदरता पर अटूट भरोसा है. इनका मानना है कि हर इन्सान अपने आप में बेहद ख़ूबसूरत है. ये मेकअप को सुंदरता का जश्न मनाने का बेहतरीन ज़रिया मानती हैं तो मुस्कान को चेहरे का सबसे सुंदर मेकअप! इन्हें पढ़ने-लिखने, लोगों से मिलने-जुलने और खाने-पीने का ख़ासा शौक़ है और इन चीज़ों को पाने के लिए यात्राएं करना बेहद पसंद है.

15903 views

Shop This Story

Looking for something else